• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • No Reply On Action Even After Two Months On 7 Demands Including Corruption In Corporation, Still Silent On Complete Investigation Report

पार्षदों को जांच के नाम पर बस आश्वासन मिला:निगम में भ्रष्टाचार समेत 7 मांगों पर दो महीने बाद भी एक्शन पर नो रिप्लाई, पूरी जांच रिपोर्ट पर अब भी चुप

रोहतक2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मंगलवार को भी शिकायतकर्ता पार्षदों को जांच के नाम पर बस आश्वासन ही मिला

नौकरशाही के आगे जनप्रतिनिधियों की फौज घुटने टेकती नजर आ रही है। इसकी मौजूदा बानगी नगर निगम में हुए भ्रष्टाचार के जांच की संपूर्ण रिपोर्ट सहित 7 मांगें हैं। पार्षदों द्वारा इनकी बार बार डिमांड किए जाने पर भी 2 माह बाद इनको बाईपास से गुजारा जा रहा है। जबकि जीरो प्रतिशत टोलरेंस का ढिढोरा शहर से चंडीगढ़ तक पीटा जा रहा है। आखिर अधिकारियों की मंशा क्या है, जो आमजन की समझ से बाहर है। पहले सोमवार फिर मंगलवार को जांच रिपोर्ट मिलने पर बात हुई। लेकिन इन दोनों दिन कुछ भी नहीं हुआ।

मामले को उजागर करने वाले पार्षद सुनील कुमार सोनू ने बताया कि मंगलवार को भी उनकी मेयर मनमोहन गोयल से मुलाकात हुई। लेकिन स्वच्छता कर्मचारियों के आयोजित सम्मान समारोह का हवाला देकर बुधवार के दिन पर टाल दिया गया है। पार्षद ने कहा कि जांच मामले में आनाकानी की जा रही है। लेकिन अधिकारी कब तक घुमाएंगे। आखिर जीत पार्षदाें की ही होगी।

आज पेंडिंग फाइलों का कोटा होगा जीरो

नगर निगम की टैक्स ब्रांच में पेंडिंग फाइलों का आंकड़ा बुधवार की शाम तक जीरो किए जाने की तैयारी है। इस बाबत जेडटीओ अशोक कुमार शर्मा ने बताया कि उनके हिस्से वार्ड 1 से वार्ड 10 के बीच मात्र 85 फाइल और जेडटीओ सेकंड अंकित गुलिया के पास मात्र 80 फाइलें हैं। लेकिन ये वे फाइलें हैं जिनकी फील्ड से रिपोर्ट आनी बाकी है। फिर भी इनकी प्रोसेसिंग शुरू करवा दी गई है। मंगलवार को टीमें फील्ड में थी बुधवार को इन सबकी रिपोर्ट अा जाएगी। इसके बाद शाम या रात तक ही सारी पुरानी पेंडिंग फाइलों को दुरुस्त करने का कार्य पूरा कर लिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...