शहर से जुड़े 2 बड़े प्राेजेक्ट काे मंजूरी / कच्चा बेरी रोड रेलवे क्राॅसिंग पर अंडरपास, एलीवेटेड ट्रैक के साथ 5.2 किलोमीटर सड़क बनेगी

बजरंग भवन फाटक पर बनाया जा रहा रेलवे एलीवेटेड ट्रैक। बजरंग भवन फाटक पर बनाया जा रहा रेलवे एलीवेटेड ट्रैक।
X
बजरंग भवन फाटक पर बनाया जा रहा रेलवे एलीवेटेड ट्रैक।बजरंग भवन फाटक पर बनाया जा रहा रेलवे एलीवेटेड ट्रैक।

  • कच्चा बेरी राेड पर रेलवे क्राॅसिंग का झंझट हाेगा खत्म
  • सेक्टर 6 से रेलवे स्टेशन तक सीधी सड़क बनेगी

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 06:12 AM IST

रोहतक. शहरवासियों काे राहत देने वाले 2 प्रोजेक्ट को रेलवे की ओर से मंजूरी मिल गई है। पहला कच्चा बेरी रोड रेलवे क्राॅसिंग पर अंडरपास बनेगा। दूसरा रोहतक-गोहाना रूट पर निर्माणाधीन देश के पहले रेलवे एलीवेटेड ट्रैक के साथ-साथ 5.2 किलोमीटर लंबी सड़क राजीव गांधी स्टेडियम के सामने सेक्टर-6 के ओवरब्रिज से रेलवे स्टेशन तक बनेगी। सड़क बनने के बाद शहर के किसी भी हिस्से से 4 से 5 मिनट में ही रेलवे स्टेशन पहुंचना आसान हो जाएगा।

कच्चा बेरी राेड पर एलीवेटेड बनने के बाद बंद हाेनी है रेलवे क्राॅसिंग
रेलवे ने कच्चा बेरी रोड पर लेवल क्राॅसिंग नंबर 60 पर अंडरपास को मंजूरी दे दी है। यहां पर 60.55 करोड़ रुपए की लागत से अंडरपास बनाया जाएगा। हरियाणा सरकार की ओर से यही रकम रेलवे खाते में जमा कराने के बाद रेलवे अधिकारी इस प्रोजेक्ट की डीएनआईटी की प्रक्रिया शुरू कर देंगे। रेलवे के डीआरएम लेवल से पास हुए इस प्रोजेक्ट पर पूर्व सहकारिता मंत्री मनीष कुमार ग्रोवर और पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों की ओर से लंबे समय से प्रयास चल रहा था। अब जाकर कामयाबी मिली है।

यह इसीलिए भी बड़ी उपलब्धि है क्योंकि एलीवेटेड रोड के सेकंड फेज का काम पूरा होने के साथ ही कच्चा बेरी रोड रेलवे क्राॅसिंग बंद हो जाएगी। फिर रेलवे लाइन के दूसरी तरफ पुल के नीचे से आवागमन ठप हो जाएगा। कच्चा बेरी रोड पर रेलवे अंडरपास बनने के बाद दोनों तरफ की कॉलोनियों, वैश्य शिक्षण संस्थान, वैश्य कॉलेज रोड श्री शिव मंदिर और अनाजमंडी, सब्जी व फल मंडी सहित क्राॅसिंग पार के गांवों से आने जाने वालों के लिए शहर पहुंचना आसान हो जाएगा। सबसे बड़ा फायदा कच्चा बेरी रोड मार्केट के 500 दुकानदारों को होगा क्योंकि उन तक ग्राहकों का पहुंचना आसान हो जाएगा।

60.55 करोड़ जमा करवाने काे सरकार काे लिखा

डीआरएम लेवल से कच्चा बेरी रोड पर लेवल क्राॅसिंग-60 पर अंडरपास को मंजूरी मिल गई है। इस प्रोजेक्ट के बजट 60.55 करोड़ रुपए रेलवे के खाते में जमा करवाने के लिए सरकार को लिखा जा चुका है। पैसा जमा होते ही रेलवे अंडरपास की प्रक्रिया शुरू करेगा। अंडरपास बनने से शहरवासियों को सीधा फायदा है। - हनुमंत सांगवान, एसई, पीडब्ल्यूडी विभाग।

मुख्य सड़काें पर वाहनाें का बाेझ कम हाेगा

रेलवे एलीवेटड ट्रैक के साथ-साथ सड़क का निर्माण होने से दोनों तरफ के मोहल्ला व कॉलोनी वासियों को 20 से अधिक क्राॅसिंग वाले रास्ते मिलेंगे। शहर की मुख्य सड़कों पर ट्रैफिक कम हाे जाएगा। गांधी कैंप वासियों को शहर की ओर आने-जाने में सहूलियत होगी। -प्रदीप रंजन, क्वालिटी कंट्रोल एसई/ काॅर्डिनेटर, एलीवेटेड ट्रैक।

जनहित से जुड़े हर मुद्दे पर सरकार का फोकस

जनहित से जुड़े हर मुद्दे पर भाजपा सरकार का पूरा फोकस है। राज्य सरकार ने 6 साल में रोहतक के हर इलाके में जरूरी सुविधाएं प्रदान करने में कसर नहीं छोड़ी है। कच्चा बेरी रोड रेलवे अंडरपास व एलीवेटेड ट्रैक के साथ सड़क का निर्माण जल्दी शुरू हो जाएगा। - मनीष  ग्रोवर, पूर्व सहकारिता मंत्री।

जनहित से जुड़े हर मुद्दे पर सरकार का फोकस

रोहतक-गोहाना रूट पर रेलवे एलीवेटेड ट्रैक के साथ राजीव गांधी स्टेडियम के सामने सेक्टर-6 के ओवरब्रिज से रेलवे स्टेशन तक 7 मीटर चौड़ी सड़क बनाई जाएगी। सीएम मनोहर लाल ने रेलवे एलीवेटेड ट्रैक के शिलान्यास मौके पर ट्रैक के साथ-साथ सड़क बनाने की घोषणा की थी। 18 मार्च 2020 को दिल्ली में रेलवे के जीएम व चीफ इंजीनियर के साथ पूर्व सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर, इंजीनियर इन चीफ पीडब्ल्यूडी एचआर रहेजा और क्वालिटी कंट्रोल एसई/एलीवेटेड रेलवे ट्रैक काॅर्डिनेटर प्रदीप रंजन की बैठक हुई थी। इसमें सड़क बनाने पर रेलवे ने सहमति दी थी। अब प्रदेश सरकार ने इस प्रोजेक्ट के लिए 15 करोड़ 63 लाख 48 हजार 239 रुपए का एस्टीमेट बनाकर रेलवे को सौंप दिया है। जरूरी कार्रवाई पूरी करते हुए एक महीने में इस सड़क का निर्माण शुरू होने की उम्मीद है। सड़क बनने से बजरंग भवन रेलवे फाटक के दूसरी तरफ शहर के किसी भी हिस्से में रहने वालाें काे रेलवे स्टेशन पहुंचना आसान हाेगा। रेलवे एलीवेटेड ट्रैक के दोनों तरफ की मोहल्लों व कॉलोनियों को जोड़ने वाले 20 से अधिक रास्ते बनेंगे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना