पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लापरवाही पर कार्रवाई:लॉकडाउन के पहले दिन 40 दुकानदारों और मास्क नहीं लगाने वाले 160 के काटे चालान

रोहतक13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मेडिकल मोड़ पर दवा खरीदने के लिए लगी भीड़। - Dainik Bhaskar
मेडिकल मोड़ पर दवा खरीदने के लिए लगी भीड़।
  • पुलिस ने लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले लोगों के खिलाफ की कार्रवाई

लॉकडाउन का पहला दिन और दिनभर शहर की सड़कों पर आवाजाही देखने को मिली। हालांकि इनमें मरीजों के तीमारदार ज्यादा थे, लेकिन इसी आड़ में काफी लोग सिर्फ लॉकडाउन के हालातों को देखने के लिए ही सड़कों पर निकले और मास्क तक लगाने से परहेज करते दिखे।

सरकार की ओर से लॉकडाउन के दौरान दुकानों को बंद किए जाने का ऐलान किया गया था, लेकिन फिर भी लोग नहीं माने। हालात ये रहे कि लाॅकडाउन के पहले दिन 40 दुकानदारों ने मनाही के बावजूद दुकान खोली। इनके चालान काटकर जुर्माना लगाया गया है। इसी तरह से 160 लोग बिना मास्क के सड़कों पर टहलते हुए भी मिले। इनके भी चालान पुलिस ने काटे हैं।

मेडिकल मोड की दुकानों पर जमकर लगी भीड़

शहर के अशोका चौक से लेकर दिल्ली बाईपास तक दोपहर 1:00 बजे लोगों का आवागमन जारी था। रास्ते में कहीं पर पुलिस की कोई चेकिंग नहीं थी हालांकि मेडिकल मोड पर लोगों की भीड़ और ज्यादा नजर आई। इसका कारण पीजीआईएमएस और प्राइवेट अस्पताल से आने वाले मरीजों के तीमारदारों को दवा लेने के लिए यहां की दुकानें तक आना पड़ता है। ज्यादातर मेडिकल स्टोर के बाहर दवाई लेने के लिए आने वाले लोगों की भीड़ लगी हुई मिली।

नाका लगाकर पुलिस ने पूछा क्यों बाहर आए

दिल्ली बाईपास पर थाना अर्बन एस्टेट प्रभारी प्रह्लाद सिंह और सेक्टर 14 प्रभारी प्रदीप बल्हारा पुलिस बल के साथ नाका लगाए हुए थे। यहां पर वाहन चालकों को रोककर उनसे पूछताछ की जा रही थी कि आखिर किस काम से वे सड़क पर निकले हैं। इस दौरान किसी ने मेडिकल की बात कही तो किसी ने पीजीआई का बहाना बनाया, लेकिन कागज नहीं दिखा पाया। ऐसे लोगों से पुलिस सख्ती से भी पेश आई। इसके अलावा पुलिस का एक जवान लाउडस्पीकर लेकर लोगों को लॉकडाउन के दौरान घरों से बाहर ना निकलने की अपील कर रहा था।'

और अबकी बार यहां से हटा दिया नाका : दोपहर बाद 4:00 बजे मकड़ौली टोल से आगे रोहतक-गोहाना रोड पर पुलिस की ओर से किसी प्रकार की कोई नाकाबंदी नहीं की गई थी। हालांकि पुलिस की ओर से पिछले लॉकडाउन के दौरान जिले को चारों तरफ से सील कर दिया गया था और गांव घिलौड़ के पास नाकाबंदी कर शहर में एंट्री करने वाले वाहन चालकों से पूछताछ की जा रही थी। मगर इस बार वहां पर पुलिस का कोई जवान तैनात नहीं मिला और ना ही किसी प्रकार की कोई बैरिकेडिंग मिली। '

पहले दिन 160 बिना मास्क वालों के चालान : डीएसपी

लाॅकडाउन का उल्लंघन करने पर सोमवार को शहर में 40 दुकानदारों के चालान किए गए हैं। सभी थाना एरिया में फ्लैग मार्च निकाला गया है। इसके अलावा शहर में बिना मास्क घूमने वाले 160 लोगों के चालान किए गए हैं। मंगलवार को शहर में हर चौक-चौराहे पर पुलिस की नाकाबंदी रहेगी। शहर में बेवजह समूह बनाकर घूमने निकलने लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। नियम तोड़ने पर किसी को भी नहीं बख्शा जाएगा। - गोरखपाल राणा, हेड क्वार्टर डीएसपी।

कंटेनमेंट जोन में नहीं होंगे शादी-समारोह

कंटेनमेंट जोन में किसी भी तरह के समारोह की इजाजत नहीं होगी। केवल आवश्यक वस्तुओं की होम डिलिवरी की अनुमति होगी। अंतिम संस्कार में केवल 20 लोग शामिल होंगे। पूर्व में डीसी से अनुमति प्राप्त शादी के कार्यक्रम शर्तों के साथ होंगे। इंडोर स्थल में 30 व्यक्तियों से ज्यादा व्यक्ति भाग नहीं ले सकेंगे।

खुले स्थल में 50 व्यक्तियों के भाग लेने की अनुमति होगी। डीसी ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान सभी जिलावासी अपने घरों में रहेंगे। कोई भी व्यक्ति घरों से बाहर नहीं निकलेगा तथा न ही पैदल या किसी वाहन से यात्रा करेगा। न ही किसी सार्वजनिक स्थान अथवा सड़क पर घूमेगा।

लंबे लॉकडाउन के डर से घर लौट रहे मजदूर

कलानौर, लॉकडाउन लगने पर कलानौर से दिहाड़ी मजदूरों ने पलायन शुरू कर दिया है। ऐसे में मजदूर सैकड़ों किलोमीटर पैदल चलने के लिए मजबूर हैं। पिछले साल भी लॉकडाउन के समय मजदूराें ने इसी तरह पैदल अपने घर जाना शुरू किया था। अब इस लॉकडाउन ने मजदूरों को पिछले साल की याद दिला दी।

उन्होंने बताया कि वो कस्बे में काम करने की इच्छा से जनवरी-फरवरी में आए थे, लेकिन दोबारा लाॅकडाउन लगने से काम बंद हो गए हैं। ऐसे में उन्हें डर सता रहा कि अभी तो साधन चल रहे हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

    और पढ़ें