पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

रोहतक:मिथ्या त्यागें कि अंग्रेजी पढ़कर ही विकास होगा : डॉ. शुक्ल

रोहतक6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

हिंदी साहित्य भारती और वैश्य महाविद्यालय की ओर से हिंदी दिवस की पूर्व संध्या पर रविवार को तरंग संगोष्ठी आयोजित हुई। हिंदी साहित्य भारती के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. रवींद्र शुक्ल मुख्यातिथि रहे। उन्होंने हिंदी विद्वानों-मनीषियों से मैकाले की शिक्षा नीति के षड़यंत्र से सावधान होकर राष्ट्र को बचाने का आह्वान किया। कहा कि 14 अगस्त 1947 को स्वतंत्रता प्राप्ति से एक दिन पूर्व माउंटवेटन की गोद में बैठकर 100 वर्ष तक लार्ड मैंकाले की शिक्षा नीति से अंग्रेजी प्रयोग करने के लिए हस्ताक्षर किया गया था।

उस समय लगभग सारा विश्व उनके हाथ में था। रवींद्र शुक्ल ने कहा कि जापान, जर्मनी, चीन और रूस अपनी राष्ट्रभाषा में देश का सारा कार्य कर रहे हैं। फिर भारत क्यों सोया हुआ है। इसे जागना ही होगा। यह मिथ्या विचार त्याग दीजिए कि केवल अंग्रेजी पढ़कर ही विकास होगा। उन्होंने हिंदी प्रयोग के प्रभावी सूत्र बताते हुए संगोष्ठी में शामिल हिंदी प्रेमियों को उत्साहित किया।

हिंदी साहित्य भारती की चर्चा में कहा कि यह संस्था भारत के सभी प्रांतों में स्थापित होकर, प्रत्येक जिले में सक्रिय हो रही है। बाहर के 28 देशों में गतिशील होकर वैश्विक चर्चा का आधार बनी है। हिंदी को भारत देश की राष्ट्रभाषा बनाने का अवसर मिलेगा। हमें अपने आप में राष्ट्रीयता जगाना होगा, सफलता अवश्य मिलेगी।

आत्मविश्वास और स्वाभिमान के लिए हिंदी प्रयोग करने का आह्वान
इसके पूर्व कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती और मातृ वंदना से हुआ। हिंदी साहित्य भारती, रोहतक की अध्यक्ष डॉ. अंजना गर्ग ने तरंग संगोष्ठी में उपस्थित हिंदी प्रेमियों का स्वागत किया। हिंदी साहित्य भारती के उपाध्यक्ष डॉ. सुरेश बूरा, वैश्य महाविद्यालय के हिंदी विभाग की अध्यक्ष डॉ. राजल गुप्ता ने हिंदी को खुले मन से प्रयोग करने पर जोर दिया। भाषाविद व हिंदी साहित्य भारती हरियाणा के अध्यक्ष डॉ. नरेश मिश्र ने सबसे आत्मविश्वास और स्वाभिमान के लिए हिंदी प्रयोग करने का आह्वान किया। उन्होंने हिंदी भाषा के शुद्ध और उसके एकरूपता देनेवाली मानकीकरण की प्रकिया का विस्तार से परिचय कराया। महाविद्यालय की ओर से प्राचार्य डॉ. डीपी गोयल ने संगोष्ठी में उपस्थित सबका धन्यवाद ज्ञापित किया। संगोष्ठी का समापन मंगल मंत्रोचारण से किया गया। संचालन डॉ. राजल गुप्ता और डॉ. उन्मेष मिश्र ने किया।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज उन्नति से संबंधित शुभ समाचार की प्राप्ति होगी। धार्मिक और आध्यात्मिक कार्यों में भी कुछ समय व्यतीत होगा। किसी विशेष समाज सुधारक का सानिध्य आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न करेगा। बच्चे त...

और पढ़ें