जींद में सीएम फ्लाइंग की 2 फैक्ट्रियों में रेड:आश्रम बस्ती में प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और दमकल विभाग की बगैर एनओसी चल रही 2 फैक्ट्रियों में की छापेमारी, मालिकों को नोटिस जारी

रोहतक9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फैक्ट्री में दस्तावेजों की जांच करती सीएम फ्लाइंग टीम। - Dainik Bhaskar
फैक्ट्री में दस्तावेजों की जांच करती सीएम फ्लाइंग टीम।

हरियाणा के जींद जिले की आश्रम बस्ती में आज सीएम फ्लाइंग की टीम ने छापेमारी की। टीम ने आश्रम बस्ती में प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और दमकल विभाग से बगैर एनओसी लिए चल रही साबुन व वाशिंग पाउंडर की दो फैक्ट्रियों में छापेमारी की है। फैक्ट्री में 80 टन साबुन और 25 टन वाशिंग पाउडर पाया गया। छापेमारी में सीएम फ्लाइंग के साथ प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और दमकल विभाग के अधिकारी भी शामिल रहे। दोनों विभागों की तरफ से फैक्ट्री मालिकों को नोटिस जारी किए हैं।

शिकायत पर की गई है कार्रवाई

सीएम फ्लाइंग को किसी ने शिकायत दी थी कि रिहायशी क्षेत्र आश्रम बस्ती में शांति कैमिकल फैक्ट्री में लाडला नाम से साबुन और उसके साथ लगती बाबा बालकनाथ फैक्ट्री में काफी सालों से वाशिंग पाउडर तैयार किया जाता है। दोनों फैक्ट्री संचालकों ने प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और दमकल विभाग से एनओसी नहीं ली है। रिहायशी क्षेत्र होने के बावजूद फैक्ट्रियों में साबुन व वाशिंग पाउडर बनाने में कैमिकल का प्रयोग किया जाता है।

फैक्ट्री में चैकिंग करती सीएम फ्लाइंग टीम
फैक्ट्री में चैकिंग करती सीएम फ्लाइंग टीम

शांति कैमिकल और बाबा बालकनाथ फैक्ट्री में की है कार्रवाई

सीएम फ्लाइंग इंस्पेक्टर राजदीप के नेतृत्व में टीम ने जींद की दोनों फैक्ट्रियों में छापेमारी की। वहीं प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से मनीष यादव और दमकल विभाग से सुनील कुमार टीम में शामिल रहे। सीएम फ्लाइंग की टीम ने दोनों फैक्ट्रियों के दस्तावेज जांचे, तो प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और दमकल विभाग की एनओसी नहीं मिली। शांति कैमिकल फैक्ट्री में 80 टन साबुन तथा बाबा बालकनाथ में 25 टन वाशिंग पाउडर मिला। शांति कैमिकल फैक्ट्री के मालिक गांधी नगर निवासी विजेंद्र हैं और बाबा बालकनाथ वाशिंग पाउडर फैक्ट्री गांधी नगर निवासी अनिता के नाम से चल रही है।

अभी और भी है निशाने पर

सीएम फ्लाइंग डीएसपी रविंद्र ने बताया कि दोनों फैक्ट्रियों के बारे में शिकायत मिली थी। ये फैक्ट्रियां आबादी के बीच में चल रही हैं। जिन्होंने दोनों विभागों से एनओसी भी नहीं ली हुई है। इन दो फैक्ट्रियों की तरह और भी फैक्ट्रियां निशाने पर हैं, जल्द ही उनमें भी कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...