राम रहीम के लिए इस बार कम आई राखियां:रोहतक जेल सिर्फ 1300 पैकेट पहुंचे, पिछले साल आए थे 35 हजार लिफाफे

रोहतक2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

साध्वी यौन शोषण, छत्रपति रामचंद्र और रणजीत सिंह हत्याकांड में उम्रकैद की सजा काट रहे राम रहीम के लिए इस बार बहुत कम राखियां आई हैं। रोहतक की सुनारिया जेल में बंद राम रहीम के लिए इस बार राखी के तकरीबन 1300 लिफाफे पहुंचे है। इसके मुकाबले पिछले साल राम रहीम के लिए 30 से 40 हजार पैकेट आए थे।

इस बार बुधवार सुबह तक रोहतक में सुनारिया जेल डाकघर में राम रहीम के लिए राखी के 1300 लिफाफे पहुंच गए। इनकी छंटनी का काम चल रहा है। इसके मुकाबले पिछले साल राम रहीम के लिए इतनी अधिक राखियां आई थीं कि डाक विभाग को 10 दिन पहले ही उनकी छंटनी के लिए स्पेशल स्टाफ तैनात करना पड़ा था।

राम रहीम के लिए पहुंची राखियां
राम रहीम के लिए पहुंची राखियां

30 दिन की पैरोल पर 18 जुलाई को ही लौटा जेल

राम रहीम 30 दिन की पैरोल काटकर बीती 18 जुलाई को ही रोहतक जेल वापस पहुंचा है। पैरोल के दौरान वह यूपी के बागपत आश्रम में था और वहां सत्संग करने के अलावा अपने अनुयायियों से मेल-मुलाकात करता रहा। पैरोज पर रहते हुए उसने एक गाना भी लॉन्च किया।

सुनारिया जेल डाकघर के पोस्ट मास्टर विकास ने बताया कि राम रहीम के नाम पर इस बार राखियों के 1300 पैकेट पहुंचे हैं। इनकी छंटनी का काम चल रहा है। 11 अगस्त रक्षाबंधन वाले दिन सभी लैटर संबंधित लोगों तक पहुंचा दिए जाएंगे।

इस बीच डीएसपी सुशील ने बताया कि रक्षाबंधन को देखते हुए जिला जेल में सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। रोजाना के मुकाबले इस दिन दोगुना स्टाफ तैनात रहेगा