पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • Roads Of The City Broken From Place To Place For Laying Water And Sewer Pipelines, The Budget Of The Department Stopped Repairs

असुविधा:पानी व सीवर की पाइप लाइन बिछाने के लिए जगह-जगह से टूटी शहर की सड़कें, विभाग के बजट ने रोकी मरम्मत

रोहतक5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रोहतक में पानी व सीवर की पाइप लाइन बिछाने के लिए तोड़ी गई सड़क से गुजरते वाहन चालक। - Dainik Bhaskar
रोहतक में पानी व सीवर की पाइप लाइन बिछाने के लिए तोड़ी गई सड़क से गुजरते वाहन चालक।
  • पब्लिक हेल्थ व नगर निगम पर सड़कों की मेंटेनेंस के बकाया 17 करोड़ में से मिले 5.79 करोड़
  • पीडब्ल्यूडी अधिकारी बोले-बजट के अभाव में नहीं हो रहा काम

सरकारी विभागों में तालमेल की कमी का खामियाजा आमजन का भुगतना पड़ रहा है। इसकी बानगी 8 जगह पर टूटी पड़ी शहर की मुख्य सड़कें है। जहां नगर निगम और पब्लिक हेल्थ विभाग ने सीवर-पानी की पाइप लाइन बिछाने या पुरानी पाइपों के लीकेज ठीक करने के नाम पर तोड़कर छोड़ दी हैं।

पीडब्ल्यूडी की ओर से इन दोनों विभागों पर मरम्मत के मद में 17 करोड़ रुपए जमा कराने की चिट्ठी भेज दी है। इसमें से मात्र 5.79 करोड़ ही नगर निगम की ओर से जमा कराए गए हैं। पब्लिक हेल्थ विभाग ने कोई धनराशि पीडल्ब्यूडी को स्थानांतरित नहीं की है। जबकि उसको 7 करोड़ रुपए पीडब्ल्यूडी को देने हैं।

इधर सड़कों की मरम्मत नहीं होने से यातायात प्रभावित हो रहा है। दिन-रात 24 घंटे चलने वाले इन मार्गों पर दुपहिया, चारपहिया वाहन दुर्घटनाग्रस्त होते रहते हैं। आगे बरसात के माैसम में हालात और खराब होंगे। दरअसल दिल्ली बाईपास से दिल्ली रोड पर आईएमटी चौक खेड़ी साध गांव तक की सड़क गत वर्ष नगर निगम द्वारा अम्रुत योजना के तहत सीवर लाइन बिछाने के लिए तोड़ दी गई। जबकि कुछ ही महीने पहले पीडब्ल्यूडी की ओर से सड़क की मरम्मत कराते हुए इस पर मिस्टिक लेयर बिछवाई गई थी। फिलहाल यह सड़क ऊबड़खाबड़ हालात में है।

यहां से गुजरने वाले वाहन आए दिन दुर्घटना ग्रस्त होते रहते हैं। भिवानी रोड भी ड्रेन नंबर 8 के पास अम्रुत योजना के तहत सीवर लाइन बिछाने के लिए तोड़ी गई है। पाइप तो बिछा दी गई। लेकिन सड़क को उसी हाल में छोड़ दिया गया है। ऐसे ही सोनीपत रोड भालौठ गांव के पास एक साइड तोड़कर छोड़ी गई है। सर्किट हाउस से झज्जर रोड कन्हेली गांव के सामने टूटा पड़ा है। साथ ही भिवानी रोड शुगर मिल के पास भी टूटा है।

डिमांड की कापी पीडब्ल्यूडी विभाग को नहीं भेजते

पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों का कहना है कि यदि नगर निगम और पब्लिक हेल्थ विभाग अपने मुख्यालय सड़कों की मरम्मत के लिए धनराशि का डिमांड भेजते हैं तो उसकी कॉपी पीडब्ल्यूडी को भी देनी चाहिए। ताकि उस बाबत शीर्ष अधिकारियों से बातचीत कर संबंधित विभाग से सड़क की मरम्मत का पैसा जल्दी पास करवाया जा सके। लेकिन हकीकत में ऐसा नहीं होता है। इधर सरकार की ओर से बनाए गए पोर्टल पर टूटी पड़ी सड़कों की मरम्मत नहीं होने की शिकायतें रोज आती रहती हैं।

नगर निगम और पब्लिक हेल्थ विभाग बिना जानकारी दिए ही पीडब्ल्यूडी की सड़क तोड़ देते हैं। उसके बाद मरम्मत मद की धनराशि का भुगतान भी समय से नहीं करते। इसीलिए सड़कों की मरम्मत कराने में दिक्कत आ रही है। अलग अलग रूट की सड़कें 8 जगह से टूटी पड़ी हैं। इनकी मरम्मत के 17 करोड़ में से लगभग 7 करोड़ रुपए पब्लिक हेल्थ विभाग और करीब करोड़ रुपए नगर निगम पर बकाया हैं। इसमें से मात्र 5.79 करोड़ रुपए वह भी नगर निगम ने दिल्ली बाईपास से आईएमटी चौक तक की सड़क मरम्मत के लिए दिए हैं। यह कार्य जल्दी ही शुरू करवा दिया जाएगा।
-उदयवीर झाझड़िया, एक्सईएन पीडब्ल्यूडी।

अम्रुत योजना में सीवर व पानी की पाइप लाइन बिछाने का कार्य चल रहा है। इसके लिए सड़कें तोड़नी पड़ती है। पीडब्ल्यूडी की टूटी सड़क की मरम्मत के मद की धनराशि के लिए डिमांड मुख्यालय भेजी गई है। जल्दी ही पीडब्ल्यूडी को मरम्मत का पैसा मुहैया करवा दिया जाएगा।
-प्रदीप गोदारा, कमिश्नर नगर निगम।

पानी की पाइप लाइन बिछाने अथवा पाइप लाइन की लीकेज को ठीक करने के लिए जहां भी पीडब्ल्यूडी की सड़क टूटी है। उसकी मरम्मत के लिए बजट की डिमांड मुख्यालय भिजवा दूंगा। कोशिश जल्दी भुगतान कराने की रहेगी।
-भानुप्रकाश शर्मा, एक्सईएन पब्लिक हेल्थ विभाग।

खबरें और भी हैं...