कोरोना का खतरा / बगैर स्क्रीनिंग यात्रियों को सफर करवा रही रोडवेज, चालकों को शिकायत- सीटें भी सेनिटाइज नहीं हो रहीं

रोडवेज बस में यात्रियों के बीच टूटी साेशल डिस्टेंसिंग रोडवेज बस में यात्रियों के बीच टूटी साेशल डिस्टेंसिंग
X
रोडवेज बस में यात्रियों के बीच टूटी साेशल डिस्टेंसिंगरोडवेज बस में यात्रियों के बीच टूटी साेशल डिस्टेंसिंग

  • बस स्टैंड पर यात्रियों की नियमित जांच में चूक रहा रोडवेज, भारी पड़ सकती है यह लापरवाही

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

रोहतक. अनलॉक 1.0 लागू होने का एक माह पूरा हो चुका है। बस स्टैंड परिसर पर यात्रियों की चहलकदमी बढ़ने लगी है। प्रदेश के विभिन्न जिलों की ओर जाने के लिए यात्रियों की ओर से बसों की डिमांड की जा रही है। लेकिन अभी रोडवेज मुख्यालय से गाइडलाइंस स्पष्ट न होने का असर बसों के संचालन पर पड़ रहा है। 

बस स्टैंड पर रोजाना औसतन 11 सौ से ज्यादा महिला व पुरुष यात्री बस परिवहन सुविधा पाने की आस में पहुंच रहे हैं। लेकिन भीड़ बढ़ने के साथ ही राेडवेज प्रबधंन की लापरवाही बढ़ रही है। इस समय बस स्टैंड पर यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग तक में चूक हो रही है। बस स्टैंड पर सफर करने के लिए पहुंचे या सफर करके आई अधिकतर सवारियों की थर्मल स्क्रीनिंग नहीं हो रही है। इसके अलावा बस में सीटों पर यात्रियों के बैठने में भी फिजिकल डिस्टेंसिंग की व्यवस्था फ्लॉप साबित हो रही है।

रोडवेज स्टाफ मेंबर्स का कहना है कि वे कितनी बसों के अंदर जाकर फिजिकल डिस्टेंसिंग बनवाएंगे। ये यात्रियों को ध्यान रखना चाहिए कि जिस सीट पर मार्किंग की गई है उसमें नहीं बैठना है। तीन सीटर वाली लाइन में दो और दो सीटर वाली लाइन में एक यात्री को बैठना अनिवार्य किया गया है। दूसरी ओर रोडवेज प्रबंधन का कहना है कि थर्मल स्क्रीनिंग के लिए बाकायदा स्टाफ को इसकी जिम्मेदारी दी गई है। अगर इसमें चूक रह रही है ताे इसकी जांच कराई जाएगी। 

रोजाना औसतन 35 बसों में 11 सौ यात्री ले रहे परिवहन सुविधा
अनलॉक 1.0 के पहले चरण में ढील मिलने के बाद से पूरे जून माह में प्रदेश के विभिन्न जिलों के लिए औसतन 30 से 35 बसें संचालित किए जाने का दावा किया जा रहा है। एक 52 सीटर बस में 30 यात्री ही बिठाए जा रहे हैं, इसलिए इन बसों में नियमित तौर पर करीब नौ सौ से 11 सौ यात्रियों को बस परिवहन सुविधा मिल पा रही है। ड्यूटी सेक्शन के स्टाफ मेंबर्स बताते हैं कि स्टैंड सुपरिटेंडेंट की ओर से जिस रूट पर 20 यात्री होने पर बस की डिमांड की जाती है, वहां पर फौरन चालक व परिचालक की ड्यूटी लगाकर बस रवाना कर दी जाती है। 

चालक बसों के सेनिटाइजेशन से संतुष्ट नहीं, बोले- सीटें खुद करते हैं सेनिटाइज
रूट पर जाने वाले चालकों ने बताया कि वो वर्कशॉप के अंदर होने वाली बसों के सेनिटाइजेशन प्रक्रिया से संतुष्ट नहीं है। क्याेंकि बस के बाहरी हिस्से को ही सेनिटाइज कर दिया जाता है और अंदर के हिस्से की तरफ झांकना भी मुनासिब नहीं समझा जाता। ऐसे में वो अपने खुद के खर्चे से सेनिटाइजर खरीदते हैं और रूट पर जाने से पहले ड्राइविंग सीट और स्टेयरिंग सहित आसपास के हिस्से को सेनिटाइज करते हैं। ताकि कोरोना संक्रमण की चपेट में आने की संभावना न रह जाए। जीएम बिजेंदर हुड्‌डा ने बताया कि वर्कशॉप से निकलने और वापस लौटने के दौरान दो बार बसों को पूरी तरह से सेनिटाइज किया जाता है। यदि किसी चालक को शिकायत है तो वो उनसे शिकायत कर सकता है। 

इस टाइम टेबल के अनुसार बसें संचालित होने का दावा  
रोडवेज विभाग की ओर से 25 मई को फाइनल किए गए टाइम टेबल भिवानी के लिए सुबह आठ बजे और साढ़े 11 बजे, फतेहाबाद के लिए सुबह साढ़े 11 बजे, गुरुग्राम के लिए दोपहर साढ़े 12 बजे, हिसार के लिए दोपहर साढ़े 12 बजे, झज्जर के लिए सुबह 8 और 11 बजे, जींद के लिए सुबह साढ़े सात बजे और साढ़े 10 बजे, कैथल के लिए दोपहर एक बजे, पलवल के लिए सुबह साढ़े 11 बजे, पंचकूला के लिए सुबह 10 बजे और दोपहर साढ़े 12 बजे, कैथल के लिए दोपहर एक बजे, पानीपत के लिए सुबह साढ़े सात बजे और सुबह साढ़े 10 बजे, सिरसा के लिए 11 बजे, सोनीपत के लिए सुबह आठ बजे और 11 बजे रोहतक डिपो से बसों का संचालन किए जाने का दावा किया जा रहा है। 

बस स्टैंड पर प्रवेश करते ही की जाती है थर्मल स्कैनिंग
बस स्टैंड के गेट पर ड्यूटी पर मौजूद कर्मचारी प्रत्येक व्यक्ति की थर्मल स्कैनिंग करते हैं। यदि कोई संदिग्ध मिलता है तो उसका नाम, मोबाइल नंबर और पता नोट कर लेते हैं। कर्मचारी राउंड लेने के दौरान बुकिंग काउंटर और बस के अंदर बैठे यात्रियों को लगातार फिजिकल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए हिदायत जारी करते रहते हैं। यदि फिर भी किसी स्तर पर कोई कमी रह रही है तो उसमें सुधार करने के लिए कर्मचारियों को जरुरी गाइडलाइंस जारी की जाएगी। -बिजेंद्र हुड्‌डा, महाप्रबंधक, रोडवेज डिपो, रोहतक।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना