पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राहत भरी खबर:497 दिन बाद टीकाकरण के दम पर कोरोना मुक्त हुआ रोहतक, 254 दिन में 6,61,776 लोगों ने पहना कवच

रोहतक11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पहली-दूसरी लहर में 5,10,058 सैंपल टेस्ट किए, अस्पताल, होम आइसोलेशन में आखिरी सक्रिय मरीज भी हुआ स्वस्थ

कोरोना काल के 497 दिन बाद रविवार जिले के लिए राहत भरी खबर आई। 12 सितंबर को पहली बार जिला कोरोना फ्री घोषित किया गया। पहला कोरोना केस 2020 के अप्रैल में मिला था। इसके बाद से वायरस ने जिले में पहली व दूसरी लहर में 25,892 लोगों को चपेट में लिया। कोरोना ने 566 महिला-पुरुष मरीजों की जान ले ली। स्वास्थ्य अधिकारी जिले को कोरोना मुक्त होने के पीछे 254 दिन में जिले की औसतन 11 लाख की आबादी में 6,61,776 लोगों के कोरोना टीकाकरण को मुख्य वजह मान रहे हैं।

सिविल सर्जन डॉ. अनिल बिरला का कहना है कि जिले की जनता को कोरोना से बचाव के लिए अभी भी सावधानी बरतने और 18+ वर्ग के लोगों को दूसरी डोज लगवाने के लिए आगे आने की जरूरत है। इधर, रविवार को सिविल सर्जन कार्यालय की कोविड टीम ने 310 लोगों के सैंपल एकत्रित कर पीजीआई की लैब में जांच के लिए भेजे। देर शाम तक मिली सैंपल रिपोर्ट में एक भी कोरोना संक्रमित मरीज नहीं मिला और होम आइसोलेशन में उपचाराधीन मरीज के रिकवर होने पर जिले को कोरोना फ्री घोषित कर दिया गया। जिले में अब कोरोना का एक भी सक्रिय मरीज नहीं है।

9 केंद्रों पर 2537 लोगों को लगाए गए कोरोना के टीके
जिले में चल रहे कोरोना टीकाकरण प्रोग्राम के तहत रविवार को सिविल सर्जन कार्यालय की ओर से नौ केंद्र निर्धारित कर पूरे दिन में 2537 लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई। 1580 लोगों ने पहली डोज और 957 लोगों ने दूसरी डोज लगवाई।

खबरें और भी हैं...