पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एक्सपायरी डेट का दूध बांटने का मामला:एसडीएम ने दत्तौड़ आंगनबाड़ी केंद्र की राशन व्यवस्था जांची

राेहतकएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दतौड़ गांव की आंगनबाड़ी केंद्र में जांच करतीं एसडीएम श्वेता सुहाग। - Dainik Bhaskar
दतौड़ गांव की आंगनबाड़ी केंद्र में जांच करतीं एसडीएम श्वेता सुहाग।

दताैड़ के आंगनबाड़ी केंद्र में एक्सपायरी डेट का दूध बांटने और सुरसरी लगा आटा दिए जाने के मामले में शुक्रवार को जांच करने एसडीएम श्वेता सुहाग केंद्र में पहुंची। सांपला की एसडीएम सुहाग ने गांव दत्तौड़ की आंगनबाड़ी केंद्र का निरीक्षण कर राशन वितरण की व्यवस्था जांची। उन्होंने कहा कि सरकार की योजना के अनुरूप राशन वितरण का कार्य होना चाहिए। प्रत्येक पात्र को इसका लाभ मिले।

उन्होंने राशन वितरण के मामले में मिली शिकायत को लेकर जांच पड़ताल भी की। हालांकि, इस मामले में महिला एवं बाल विकास विभाग की जिला कार्यक्रम अधिकारी बिमलेश कुमारी की ओर से सीडीपीओ को पत्र लिखकर सुपरवाइजर व आंगनबाड़ी वर्कर से स्पष्टीकरण मांगा है। मामले की जांच अभी जारी है कि आखिर एक्सपायरी डेट का सूखा दूध बच्चों तक कैसे पहुंचा। क्या दूध की सप्लाई के बाद उसे कई दिन तक स्टॉक कर रखा गया। या फिर मिल्क प्लांट से ही एक्सपायरी डेट का दूध केंद्र पर पहुंचाया गया।

जंगली घास काे लेकर भी उठाई थी आपत्ति इस मामले में जिला कार्यक्रम अधिकारी बिमलेश कुमारी व सीडीपीओ से भी स्पष्टीकरण मांगा गया है। पत्र में जवाब तलब किया कि जंगली घास भी केंद्र के बाहर काफी ऊंचाई तक बढ़ गई है, जिससे बच्चों को त्वचा संबंधी रोग हो सकते हैं। यह संज्ञान जिला कार्यक्रम अधिकारी ने पहले दिन ग्रामीणों की ओर से बनाई गई वीडियो को देखकर लिया था। अब इसकी रिपोर्ट मांगी गई है।

खबरें और भी हैं...