पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सुनवाई नहीं:निगम पोर्टल पर सेक्टर-6, 34, 35 व 36 अन अप्रूव्ड एरिया, एनओसी के लिए चक्कर काट रहे प्लाटधारक

रोहतक18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • तर्क- ये सेक्टर निगम के नहीं, प्लाटधारकों की डिटेल पोर्टल पर अपडेट कर कार्रवाई पूरी करते हैं

एक बार फिर नगर निगम के पोर्टल पर सेक्टर-6 और सनसिटी सेक्टर-34, 35 और 36 बतौर अन-अप्रूव्ड एरिया दर्शाया जा रहा है। इसके चलते इन सेक्टरों के निवासियों को मुश्किल झेलनी पड़ रही है। उनका आरोप है कि रजिस्ट्री के लिए अनिवार्य एनओसी के लिए वे अंबेडकर चौक स्थित नगर निगम कार्यालय का चक्कर काटकर थक चुके हैं। कोई सुनवाई नहीं हो रही है।

इधर अधिकारियों का तर्क है कि ये सेक्टर निगम के नहीं है। ऐसे में जो प्लाटधारक अपना अलाटमेंट लेटर लाकर देते हैं, वे उनकी डिटेल पोर्टल पर चढ़ाकर सारी कागजी कार्रवाई पूरी करते हैं। वर्ष 2020 में भी ऐसे ही स्थिति बनी थी। जब यहां के प्लाटधारकों को मेयर मनमोहन गोयल, नगर निगम कमिश्नर प्रदीप गोदारा सहित संबंधित अधिकारियों से गुहार लगानी पड़ी थी।

हालांकि, तब थोड़ी के बाद नगर निगम के पोर्टल की त्रुटियों को दूर करते हुए इन सेक्टरों को अप्रूव्ड दर्ज कर लिया गया था, लेकिन अब दोबारा पहले जैसी स्थिति बन गई है। इस कारण परेशानी बढ़ गई है।

एनओसी के लिए अप्लीकेशन दी, वापस लाैटाया: सेक्टर-6 की रेजीडेंट वेलफेयर एसोसिएशन के प्रधान एडवोकेट ऋषि देशवाल ने बताया कि बलजीत सिवाच, राकेश हुड्‌डा, उदय सिंह और ऋषि पंडित को रजिस्ट्री के बाबत नगर निगम से एनओसी लेनी है। इस बारे में उन्होंने निगम अधिकारी के यहां अप्लीकेशन भी दी है, लेकिन उनको बार बार वापस लौटाया जा रहा है।

कागज कार्यालय में जमा कराएं: नगर निगम के जेडटीओ जगदीश चंद्र शर्मा ने बताया कि ये सेक्टर नगर निगम के पास नहीं हैं। लिहाजा जो प्लाट धारक अपना अलॉटमेंट लेटर लेकर निगम कार्यालय आते हैं, उनका डॉक्यूमेंट पोर्टल पर अपलोड कर दिया जाता है। लेकिन जिनके कागज नहीं है अथवा उनके प्लाट को लेकर किसी तरह का विवाद है, उसको अप्रूव्ड कैसे किया जा सकता है।

वैसे यहां के प्लाटधारक अंबेडकर चौक स्थित नगर निगम कार्यालय में काउंटर नंबर-4 पर अपने प्लाट से जुड़े सभी दस्तावेज जमा करवा दें। कागजों की पड़ताल करके उचित कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...