पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • The Band Hopes To Solve The 2 Biggest Problems Of The City, The Committee Will Find A Joint Solution To The Water sewerage Plight

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

राहत:शहर की 2 सबसे बड़ी समस्याओं के समाधान की बंधी उम्मीद, पानी-सीवरेज की बदहाली का जॉइंट हल ढूंढेगी कमेटी

रोहतक12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
राेहतक.जिला विकास भवन में बैठक के दाैरान डॉ. राकेश गुप्ता काे काॅलाेनियाें में सीवर और पानी की समस्या के बारे में बताते विधायक बी.बी बतरा और भाजपा पार्षद प्रतिनिधि सूरजमल किलोई। - Dainik Bhaskar
राेहतक.जिला विकास भवन में बैठक के दाैरान डॉ. राकेश गुप्ता काे काॅलाेनियाें में सीवर और पानी की समस्या के बारे में बताते विधायक बी.बी बतरा और भाजपा पार्षद प्रतिनिधि सूरजमल किलोई।
  • पब्लिक हेल्थ के एसई व निगम आयुक्त कमेटी में शामिल, एक हफ्ते में देंगे रिपोर्ट
  • अब इसलिए जागे- बतरा-खटक संग भाजपा पार्षदों ने भी अधिकारियों को घेरा

शहर में एक साल से प्रशासन के गले की फांस बने पेयजल और सीवरेज लीकेज मुद्दे के अब सुलझने की ओर पहला कदम बढ़ा है। समस्याओं के लिए सीधे जिम्मेदार नगर निगम और पब्लिक हेल्थ विभाग पूरे शहर में कहीं भी पूरी तरह से इस समस्या को हल नहीं कर पाए हैं। फिलहाल अब एक उम्मीद नजर आई है।

अब नगर निगम और पब्लिक हेल्थ की जॉइंट कमेटी इस दिशा में कदम उठाने के लिए रूट प्लान तय करेगी। एक सप्ताह में ये कमेटी मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी परियोजना के निदेशक को अपनी रिपोर्ट देगी। दरअसल समस्याओं के समाधान के लिए दोनों विभाग की जॉइंट कमेटी का फार्मूला जिला लोक परिवेदना समिति की मीटिंग में सामने आया।

बुधवार को मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी परियोजना निदेशक डॉ. राकेश गुप्ता के सामने दोनों मामले कई शिकायतों के जरिए जोर शोर से उठे। खास ये रहा कि सिर्फ कांग्रेस विधायक भारत भूषण बतरा, कलानौर विधायक शकुंतला खटक ने ही इन मुद्दों को नहीं उठाया, बल्कि भाजपा पार्षदों सुरेश किराड़, पूर्व पार्षद सूरजमल किलोई ने भी मुददे को उठाकर अधिकारियों की जमकर खिंचाई की।

जिला विकास भवन के डीआरडीए हाल में विधायक बतरा ने तो कहा कि उनकी ओर से इस मुद्दे को विधानसभा में भी कई बार उठाया और हर बार इसमें पब्लिक हेल्थ नगर निगम पर एक दूसरे पर मामला डाल देते हैं। दोनों विभागों के बीच में सामंजस्य ही नहीं है।

इस पर परियोजना निदेशक डॉ. राकेश गुप्ता ने मामले की गंभीरता को देखते हुए तत्काल एसई पब्लिक हेल्थ और नगर निगम के आयुक्त की कमेटी गठित कर एक सप्ताह में रिपोर्ट देने का कहा है। साथ ही एसई व निगमायुक्त को कहा कि अम्रूत का बचा हुआ काम भी 31 तक पूरा करवाकर सुचारू व्यवस्था बनाई जाए। अब अगली बैठक 17 मार्च को होगी और इस मुद्दे पर अधिकारियों से जवाबदेही की जाएगी।

भाजपा पार्षदों के भी तेवर थे तल्ख, तब बनाई कमेटी

विपक्षी विधायकों की ओर से मुद्दा उठाने पर भाजपा पार्षद भी खुद को रोक नहीं पाए और अधिकारियों को जमकर घेरा। पार्षद प्रतिनिधि सूरजमल किलाेई बोले एकता कॉलाेनी, राजीव नगर, अंबेडकर कॉलोनी में भी गंदा पानी आ रहा है। इसके अलावा सीवरेज मेनहोल भरे हुए हैं। अधिकारियों को जब भी कहते हैं तो अम्रूत योजना का हवाला दे देते हैं।

अब नगर निगम और पब्लिक हेल्थ दोनों मौके पर है। इनसे पूछा जाए कब समस्या हल होगी। तभी पार्षद सुरेश किराड़ बोल पड़े कि हमारे वार्ड 6 में भी सीवरेज के ढक्कन तक नहीं लगे। अधिकारियों से डॉ. गुप्ता ने जवाब मांगा तो बोले कि एक सप्ताह में समस्या का हल कर देंगे।

वहीं डॉ. गुप्ता ने एसई पब्लिक हेल्थ और निगमायुक्त दोनों को कमेटी गठित कर इन समस्याओं का मिलकर समाधान करने की हिदायत दी। अगली बैठक में फिर सुनवाई करेंगे। वहीं डीसी कैप्टन मनोज कुमार ने कहा कि उनकी ओर से 19 फरवरी को इन्हीं समस्याओं के लिए बैठक बुलाई है।

20 से 40 मिनट सप्लाई उसमें भी गंदा पानी दे रहे

हालांकि बैठक के दौरान आजादगढ़ निवासियों की समस्या की सुनवाई कर ली गई थी, लेकिन बतरा ने तत्काल संज्ञान लिया और दोबारा इस पर चर्चा के लिए डॉ. गुप्ता को कहा। साथ ही विधायक बतरा ने कहा कि यह सिर्फ उत्तम नगर प विशाल नगर का मामला नहीं है। पूरे शहर में ही सीवरेज व्यवस्था ठप है। गलियों में गंदा पानी भरा है।

पेयजल का संकट होना अलग बात है, लेकिन गंदा पानी मिले यह गलत है। शहरवासियों को जलसंकट के दौरान बमुश्किल 20 से 40 मिनट ही पानी मिल रहा है, वह भी गंदा। वहीं विधायक खटक ने कहा कि आउटर एरिया में तो जलनिकासी व पेयजल संकट गहराया हुआ है। स्थाई समाधान किया जाना चाहिए।

ठेकेदार के खिलाफ एफआईआर के आदेश

डॉ. राकेश गुप्ता ने लाढ़ौत रोड स्थित शास्त्री नगर निवासी शशि कुमार की पानी की पाइप लाइन के कार्यों में अनियमितता बरतने संबंधित शिकायत की सुनवाई के दौरान कहा कि संबंधित ठेकेदार पर एफआईआर दर्ज करवाई जाए। उन्होंने जिला परिषद के सीईओ सतीश यादव की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय समिति गठित करने के निर्देश दिए। एचएसवीपी की जांच में इस ठेकेदार को विकास कार्यों में अनियमितता बरतने का दोषी पाया गया है और उसे ब्लैकलिस्ट करते हुए शेष राशि का भुगतान रोक दिया गया है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से उत्साह में वृद्धि होगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी विजय हासिल...

    और पढ़ें