• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • The Chief Guest Of The Gita Mahotsav Without A Constitutional Post, The Administration Is Making Fun Of The Democratic Setup In The District

सरकारी कार्यक्रम:बिना संवैधानिक पद वाले गीता महोत्सव के मुख्यातिथि, प्रशासन डेमोक्रेटिक सेटअप का जिले में मजाक बना रहा

रोहतकएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कैनाल रेस्ट हाउस में प्रेस वार्ता में अपनी बात रखते विधायक बी.बी बतरा। - Dainik Bhaskar
कैनाल रेस्ट हाउस में प्रेस वार्ता में अपनी बात रखते विधायक बी.बी बतरा।

सरकारी कार्यक्रमों में खुद की उपेक्षा पर अंतत: शहर विधायक बी.बी बतरा का दर्द छलक पड़ा। उन्होंने मंगलवार को प्रेस वार्ता कर सवाल किया कि आखिर बिना संवैधानिक पद वाले व्यक्ति को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मनाए जा रहे गीता महोत्सव कार्यक्रम में मुख्य अतिथि कैसे बनाया जा सकता है। यह डेमोक्रेटिक सेटअप का अपमान है। रोहतक प्रशासन ये मजाक बना रहा है। विधायक ने कहा इस मामले की चीफ सेक्रेटरी, विधानसभा स्पीकर और विधानसभा की कमेटी से शिकायत करूंगा। उनका इशारा पूर्व सहकारिता मंत्री मनीष कुमार ग्रोवर की ओर है। वो गीता महोत्सव में मुख्यातिथि थे।

आमंत्रण पत्र में विधायक का नाम न छापकर तोड़ा प्रोटोकॉल
कैनाल रेस्ट हाउस रोड स्थित अपने आवास पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए बीबी बतरा ने कहा कि राजनीति अपनी जगह है। सत्ता आती जाती रहती है। लेकिन संवैधानिक व्यवस्था को तोड़ना सर्वथा गलत होता है। डीसी कैप्टन मनोज कुमार ने यही गलती की है। उन्होंने गीता जयंती महोत्सव के आमंत्रण पत्र पर शहर विधायक का जिक्र तक नहीं किया। बल्कि पूर्व मंत्री मनीष ग्राेवर के नाम को प्रमुखता दी है। जो कि प्रोटोकॉल के हिसाब से अनुचित है। प्रशासन को प्रोटोकॉल तोड़ने की इजाजत नहीं मिलनी चाहिए।

रेलवे एलीवेटेड ट्रैक में भी गिनाई कई खामियां
रेलवे एलीवेटेड ट्रैक से प्रभावित गांधी कैंप के दुकानदारों और मकान मालिकों का जिक्र करते हुए बीबी बतरा ने कहा कि साढ़े 3 साल बाद भी प्रभावित परिवार का पुनर्वास नहीं हो पाया है। प्रेसवार्ता में मौजूद वरिष्ठ कांग्रेसी नेता सीताराम सचदेवा व बलदेवराज मिगलानी ने भी उपेक्षा पर आक्रोश जताया। कहा कि रेलवे एलीवेटेड ट्रैक की आरई वॉल के नीचे बनाए गए रास्ते बेहद संकरे हैं। गांधी कैंप और आसपास की कॉलोनी वासियांे को फायदा नहीं मिलेगा।

खबरें और भी हैं...