• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • The Government Projects Of The City's Eyesight CC Cameras Broke The Stars, Did Not Get Them Corrected Even After Many Reminders, The Corporation Will Now Get The FIR Done

एक्शन की तैयारी:शहर के निगेहबान सीसी कैमरों की सरकारी प्रोजेक्टों ने तोड़ दी तारें, कई रिमाइंडर के बाद भी ठीक नहीं कराए, निगम अब कराएगा एफआईआर

राेहतक2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सुरक्षा व्यवस्था के तहत शहर में लगाए सीसीटीवी कैमरों की खराबी मामले में निगम कमिश्नर ने एसपी को भेजा पत्र
  • शहर में 31 पाॅइंट पर खराब पड़े हैं सरकारी सीसी कैमरे

शहर में लगाए गए 31 सीसीटीवी कैमरे खराब हैं। इसके जिम्मेदार पब्लिक हेल्थ, पीडब्लूडी, जीओ, बीपीसीएल और अमरुत योजना के ठेकेदार हैं। इसके बावजूद इनकी मरम्मत नहीं करवा रहे हैं। कई बार रिमाइंडर भेजे जाने के बावजूद हालात जस के तस हैं। लिहाजा, इन सभी के खिलाफ नगर निगम की ओर से एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। इस संबंध में निगम कमिश्नर डॉ. नरहरि सिंह बांगड़ ने एसपी उदय सिंह मीणा को पत्र भेजा है।

पब्लिक हेल्थ, पीडब्लूडी, जीओ, बीपीसीएल और अमरुत योजना ठेकेदार से जुर्माना वसूलने की तैयारी

मंगलवार को नगर निगम कार्यालय में निगम कमिश्नर ने संबंधित अधिकारियों के साथ सीसीटी कैमरे प्रोजेक्ट की समीक्षा की। इस दौरान उनको बताया गया कि शहर में 250 सीसीटीवी कैमरे हैं। इसमें 14 कैमरे नहीं लगे हैं। इसमें से 5 कैमरे शीला बाईपास चौक पर निर्माणाधीन ओवरब्रिज के चलते निकालकर रखे गए हैं। बाकी 9 कैमरों को लगाने की लोकेशन अभी तक ट्रैफिक एसएचओ ने नगर निगम को नहीं दी है, जबकि 236 कैमरे ऑन साइट लगाए हैं। इसमें 174 कैमरे चालू हालात में हैं।

इन कैमरों का मेंटेनेंस दो एजेंसियों को दिया है। इनमें से एक एजेंसी 160 कैमरे को देखती है। इसमें से 112 कैमरे वर्किंग और 31 कैमरे काम नहीं करते हैं। यही वे कैमरे हैं जिन्हें पब्लिक हेल्थ, पीडब्लूडी, जीओ, बीपीसीएल और अमरुत योजना के ठेकेदार ने किसी न किसी वजह से खराब किया है। दूसरी एजेंसी 90 कैमरों का मेंटेनेंस देखती है। इसमें से 71 कैमरे वर्किंग में हैं।

नई लोकेशन में लगेंगे अभी स्टॉक में बचे 14 कैमरे: निगम कमिश्नर ने आदेश दिया कि स्टॉक में बचे 14 सीसीटीवी कैमरे ट्रैफिक एसएचओ और मेयर मनमोहन गोयल से बात करके उनके बताए गए नई लोकेशन पर लगवा दिए जाएंगे।

दो दिन में कैमरे ठीक नहीं होने पर जुर्माना: शहर में लगाए गए सीसीटीवी कैमरों का मेंटेनेंस कर रही एजेंसियों को हर हाल में 2 दिन में खराब हुए सीसीटीवी कैमरों की मरम्मत करनी होती है। यदि इससे अधिक दिन लगता है तो एजेंसी पर जुर्माना लगाया जाता है।

इन विभागों की ही जिम्मेदारी थी, नहीं ठीक हुए कैमरे: कमिश्नर
कैमरे खराब करने वाले कैमरों को ठीक कराना संबंधित विभागों की ही जिम्मेदारी है, लेकिन बार-बार कहने के बाद भी कैमरे ठीक नहीं कराए गए हैं। इनके खिलाफ अब एफआईआर दर्ज कराएंगे।- डॉ. नरहरि सिंह बांगड़, कमिश्नर, नगर निगम रोहतक।

खबरें और भी हैं...