पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • The Land Of 67 Shops Is Still In The Name Of The State Government, The Corporation Will Not Be Able To Register Till It Is Transferred

मुख्यमंत्री स्वामित्व योजना:67 दुकानों की जमीन अब भी प्रदेश सरकार के नाम, ट्रांसफर होने तक निगम नहीं करा पाएगा रजिस्ट्री

रोहतक9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अंबेडकर चाैक स्थित नगर निगम कार्यालय में अधिकारियों की बैठक लेते ज्वाइंट कमिश्नर सुरेश कुमार। - Dainik Bhaskar
अंबेडकर चाैक स्थित नगर निगम कार्यालय में अधिकारियों की बैठक लेते ज्वाइंट कमिश्नर सुरेश कुमार।
  • शिवाजी कॉलोनी व सुभाष रोड मार्केट की दुकानों के हक पर फंसा पेंच
  • अब क्या- निगम इन दुकानों की मलकियत अपने नाम कराने के लिए डीसी को लिखेगा पत्र

मुख्यमंत्री स्वामित्व योजना के तहत दो बाजारों में नगर निगम की करीब 67 दुकानों का मालिकाना हक संबंधित दुकानदारों को देने में पेंच फंस गया है। जिन दुकानों की रजिस्ट्री काे लेकर पेंच फंसा है उनमें शिवाजी कॉलोनी मार्केट और सुभाष रोड मार्केट शामिल हैं। इन दोनों मार्केट की जिन दुकानों की रजिस्ट्री को लेकर पेंच फंसा है उनमें इन दुकानों का मालिकाना हक बेशक निगम के पास है। लेकिन कागजों में इसकी जमीन प्रदेश सरकार के नाम है। ऐसे में दुकानों की रजिस्ट्री करवाने में अड़चन आएगी।

लिहाजा अब नगर निगम इन दुकानों की मिल्कियत अपने नाम कराने के लिए डीसी को पत्र भेजेगा। इस बाबत मंगलवार काे अंबेडकर चाैक स्थित नगर निगम कार्यालय में दिन में 11 बजे बैैठक हुई। बैठक की अध्यक्षता कर रहे ज्वाइंट कमिश्नर सुरेश कुमार ने निगम की भू शाखा सहित सभी अधिकारियों के साथ बातचीत और दस्तावेजों की पड़ताल की। ज्वाइंट कमिश्नर ने बताया कि दस्तावेजों की पड़ताल में खामियां मिलने पर कार्रवाई की जाएगी। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी।

22 वर्ष से संचालन नगर निगम कर रहा, रिकार्ड में अब पता चला चंकबंदी अभिलेखों में जमीन सरकार के नाम
शिवाजी कॉलोनी मार्केट में शिवाजी काॅलाेनी मार्केट की 45 दुकानों और सुभाष रोड मार्केट में सिविल अस्पताल के सामने सड़क पर स्थित लगभग 22 दुकानें हैं, जिनका संचालन 22 वर्षों से नगर निगम की एलओ ब्रांच की ओर से किया जा रहा है। लेकिन मुख्यमंत्री स्वामित्व योजना के दौरान पड़ताल में यह जानकारी निकलकर आई कि यह जमीन अभी भी चंकबंदी अभिलेखों में प्रदेश सरकार के नाम दर्ज है। ऐसे में शीर्ष अधिकारियों से बातचीत कर डीसी कैप्टन मनोज कुमार को इस बारे में पत्र भेजने का निर्णय लिया गया है। ताकि जमीन की मिल्कियत नगर निगम के नाम स्थानांतरित की जा सके। मुख्यमंत्री स्वामित्व योजना में दुकानों का मालिकाना हक पाने में इन दोनों बाजारों के दुकानदारों को और समय लगेगा। क्योंकि निगम की ओर से डीसी को इस मामले में पत्र भेजने और डीसी द्वारा मिल्कियत संबंधी आदेश देने तक एक प्रक्रिया से होकर मामले को गुजरना है।

दुकानों की रजिस्ट्री की 70% तैयारी पूरी
नगर निगम एरिया में निगम की 547 दुकानें हैं, जिनका मालिकाना हक संबंधित दुकानदारों को दिया जाना है। अधिकारियों का दावा है कि इस बाबत शिवाजी कॉलोनी मार्केट व सुभाष रोड मार्केट में सिविल अस्पताल के सामने की दुकानों के अलावा बाकी दुकानों की लगभग 70 फीसदी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। जल्द काम पूरा करने के लिए संबंधित कर्मचारियों को जिम्मेदारी है।

खबरें और भी हैं...