• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • The Vice Chancellor Listened To The Problems Of Those Who Filled The Form, The Issues Faced By The Hostel Admission And Special Grace

स्टूडेंट्स की समस्याएं:फार्म भरने वालों की कुलपति ने सुनी समस्याएं, हॉस्टल दाखिले व स्पेशल ग्रेस के सामने आए मुद्दे

रोहतकएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अब सोमवार व गुरुवार को विद्यार्थियों से रूबरू होंगे वीसी (एमडीयू में स्टूडेंट्स की समस्या सुनते वीसी प्राे. राजबीर सिंह।) - Dainik Bhaskar
अब सोमवार व गुरुवार को विद्यार्थियों से रूबरू होंगे वीसी (एमडीयू में स्टूडेंट्स की समस्या सुनते वीसी प्राे. राजबीर सिंह।)
  • एमडीयू के इंटरेक्टिव सत्र में 50 स्टूडेंट्स ने विवि अफसरों के समक्ष रखी लिखित समस्या

स्टूडेंट्स की मांगाें को लेकर हुए प्रदर्शनों के बाद एमडीयू में नई पहल शुरू की गई है। स्टूडेंट्स की समस्याएं सुनने के लिए इंटरेक्टिव कार्यक्रम शुरू किया गया है। इस दाैरान 150 से ज्यादा स्टूडेंट्स समस्या बताने के लिए पहुंचे। लेकिन सोमवार को कुलपति ने उन्हीं स्टूडेंट्स की समस्याओं को सुना, जिनकी ओर से पहले ही रिड्रेसल फार्म भरकर जमा करवाए थे। इंटरेक्टिव सत्र में लगभग 50 विद्यार्थियों ने लिखित प्रारूप में अपनी समस्या विश्वविद्यालय अधिकारियों के समक्ष रखी।

इस दाैरान 90 फीसदी तक यूआईईटी व लॉ के स्टूडेंट्स ही मिले। विद्यार्थियों ने एमडीयू प्रशासन की इस प्रो-एक्टिव पहल की सराहना की। विश्वविद्यालय के छात्र कल्याण कार्यालय के तत्वावधान में यह इंटरेक्टिव कार्यक्रम स्टूडेंट एक्टिविटी सेंटर में आयोजित किया गया। एमडीयू के कुलपति प्रो. राजबीर सिंह ने कहा कि विश्वविद्यालय प्रशासन विद्यार्थियों की जायज समस्याओं के निवारण के लिए तत्परता से कार्रवाई करेगा। विद्यार्थियों के शैक्षणिक एवं समग्र व्यक्तित्व विकास के लिए जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराना प्रशासन की प्राथमिकता रहेगी।

67 वर्षीय स्टूडेंट ने मांगी स्पेशल ग्रेस
वहीं यूआईईटी के सिविल ब्रांच के 67 वर्षीय स्टूडेंट राधेश्याम ने कुलपति को बताया कि वह तीसरे सेमेस्टर के फ्लूड मैकेनिक और 5वें सेमेस्टर के सॉयल मैकेनिक में स्पेशल ग्रेस की मांग की है। उन्होंने कहा कि कोरोना के समय में भी यूथ रेडक्रॉस के जरिए काफी योगदान दिया है। ऐसे में ग्रेस देकर आगे बढ़ाया, ताकि स्टडी प्रभावित ना हो।
लॉ पंच वर्षीय की छात्राओं ने मांगी ऑफलाइन क्लास:

इसी तरह लॉ पंचवर्षीय की छात्राओं ने कहा कि जब स्कूल के बच्चे क्लास ऑफलाइन लगा सकते हैं तो उन्हें भी ऑफलाइन क्लास लगाने दी जाए। ताकि वे बेहतर तरीके से पढ़ाई कर सके। इसकी मंजूरी नहीं दी गई है।
सिंगल डोज वालों ने मांगा हॉस्टल
वहीं यूआईईटी में उत्तरप्रदेश और बिहार जैसे राज्यों से आकर पढ़ाई करने वाले स्टूडेंट्स ने कहा कि उन्हें वैक्सीन की सिंगल डोज पर हॉस्टल दिया जाए, बाद में दूसरा लगवा लेंगे। चूंकि अभी बाहर किराये पर रहना पड़ रहा है। इस पर सिंगल डोज पर हॉस्टल रूम देने की मनाही कर दी गई।

कुलपति प्रो. राजबीर सिंह ने कहा कि विद्यार्थियों की जायज समस्याओं को प्राथमिकता के साथ हल करने के लिए ये प्रशासन-विद्यार्थी कनेक्ट प्रोग्राम की पहल उन्होंने की है। इस दौरान विद्यार्थियों द्वारा उल्लेख किए गए समस्याओं व मुद्दों को प्राथमिकता से हल करने का निर्देश संबंधित अधिकारियोंं/विभागाध्यक्षों को मौके पर दिए। हर सप्ताह सोमवार व गुरुवार को कुलपति स्टूडेंट एक्टिविटी सेंटर दोपहर 12 बजे से 2 बजे तक विद्यार्थियों से रूबरू होंगे।

खबरें और भी हैं...