पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • There Was Only One Fire In The Room, Miss; Sukhwinder Kept Misleading The Police, Went To Jammu Again To UP Before Taking Weapons

अखाड़ा हत्याकांड:कमरे में सिर्फ एक फायर किया था मिस; सुखविंद्र पुलिस को करता रहा गुमराह, हथियार लेने पहले जम्मू फिर गया था यूपी

रोहतकएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रोहतक. एक साल पहले अखाड़े में अपने जन्मदिन पर केक काटता सतीश व अन्य। - Dainik Bhaskar
रोहतक. एक साल पहले अखाड़े में अपने जन्मदिन पर केक काटता सतीश व अन्य।

जाट कॉलेज अखाड़ा हत्याकांड के आरोपी सुखविंद्र पुलिस गिरफ्त में आने के बाद करीब 8 दिन तक पुलिस को उलझाए रखा। हर बार बयान बदलने की इस फितरत को लेकर पुलिस को भी सुखविंद्र का दो बार रिामंड लेना पड़ा था। इसके बाद ही उसने वारदातों के सबूतों को लेकर खुलासा किया। चार्जशीट पेश होने के बाद अब पीड़ित परिवार को न्याय की जल्द उम्मीद बनी हुई है।

सूत्रों के मुताबिक आरोपी को जब 15 फरवरी को पुलिस ने रिमांड में लेकर पूछताछ की तो उसने पहले पिस्तौल जम्मू में बसस्टैंड के पास से एक व्यक्ति से खरीदने की बात कही। करीब 8 दिन बाद आरोपी ने पुलिस के सामने खुलासा किया कि मुजफ्फरनगर के मनोज का कोई जानकार अखाड़े में प्रैक्टिस करता था।

इसी वजह से आरोपी की जान-पहचान मनोज से हुई। हथियार रखने का शौक होने की बात कहकर उसने मनोज से हथियार मंगवाया था। वहीं पुलिस जांच में सामने आया कि निशाना चूकने पर एक गोली दीवार में लगी थी।

अखाड़े में जन्मदिवस मनाता था सतीश

कोच सतीश के भाई राजबीर ने बताया कि सतीश 18 जून को हर साल अखाड़े में ही अपना जन्मदिन मनाता था। पहलवानों से ही केक कटवाता था। पिछले जन्मदिन पर तो नन्हे पहलवान सरताज ने ही सतीश के जन्मदिन पर केक काटा था।

म्यूजिक की धमक में नहीं सुनाई देगी गोली की आवाज, इसलिए चुना अखाड़ा: सूत्रों के अनुसार आरोपी सुखविंद्र ने खुलासा किया कि प्रैक्टिस के समय हॉल में म्यूजिक बजता रहता है। कुश्ती हॉल की दीवारें ऊंची होने के कारण आवाज हाल में गूंजती रहती है। इसी के चलते सभी को एक-एक करके कमरे में बुलाकर गोली से मारा था।

भाई बोला- जल्द मिले आरोपी सुखविंद्र को सजा
डीपीई मनोज मलिक के भाई प्रमोज मलिक ने कहा कि पुलिस की ओर से आरोपी सुखविंद्र के खिलाफ चार्जशीट कोर्ट में पेश कर दी गई। अब हमारी सरकार से यहीं मांग है कि मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाकर आरोपी को जल्द फांसी की सजा दिलवाई जाए।

खबरें और भी हैं...