कोरोना संक्रमण:इस बार कोरोना मरीजों में कई नए लक्षण, डरें नहीं, इलाज संभव है

रोहतक6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोना के नए लक्षणों और उसके इलाज को लेकर लोगों के मन में कई तरह के सवाल उठ रहे हैं, तो जानिए उनके जवाब

आए दिन कोरोना संक्रमण के केस बढ़ते जा रहे हैं। कोरोना संक्रमण से ग्रस्त लोगों में अलग-अलग तरह के लक्षण दिखाई दे रहे हैं। कोरोना के नए लक्षणों, उसके इलाज को लेकर लोगों के मन में कई तरह के सवाल हैं। कोरोना की इस महामारी की शुरुआत से लेकर अब तक इसमें जिस तरह के बदलाव हो रहे हैं, उन्हें समझ पाना मुश्किल हो रहा है। ऐसे में दैनिक भास्कर ने पीजीआईएमएस रोहतक के मेडिसन विभाग के सीनियर प्रोफेसर एवं यूएचएस के रजिस्ट्रार डॉ. एचके अग्रवाल से इन सवालों के जवाब जानने की कोशिश की।

नए स्ट्रेन में हल्का बुखार भी आ रहा, कोल्ड कफ वाले भी आ रहे संक्रमित

बुखार- कोरोना का यह बड़ा लक्षण हैं। इस बार हल्के बुखार में भी रिपोर्ट पॉजीटिव आ रही है।
इलाज - यदि हल्का बुखार आसानी से नहीं उतरे तो डॉक्टर से संपर्क करें और टेस्ट कराए।
खांसी व जुकाम- यह भी एक बड़ा लक्षण है। इस बार कोल्ड कफ की स्थिति में भी कुछ केस सामने आए हैं। सर्दी के मामले कम आ रहे हैं।

इलाज- भाप लें, गर्म पानी पिएं, गरारे करें। फायदा न हो तो डॉक्टर से संपर्क करें।

बुखार रहित थकान- संक्रमित लोगों में इस बार अधिक थकान की समस्या देखी जा रही है, पर पिछली बार से अलग बुखार के बिना यह थकान है।

इलाज- पैरासिटामोल दवा लें और आराम करें। एक दिन से अधिक समय तक दर्द रहने पर डॉक्टर से संपर्क करें।

मांसपेशियों में दर्द- इस लक्षण में लगातार हड्डियां दर्द करती हैं। कुछ भी करने का मन नहीं करता।
इलाज- ऐसे में दर्द निवारक दवाओं के साथ आराम थकान से मुक्ति दिला सकता है। 24 घंटे से अधिक यह लक्षण दिखें तो कोरोना टेस्ट करवाएं।

अंगुलियों में दर्द- कुछ लोगों के हाथों की उंगलियों में दर्द रह रहा है।

इलाज- उंगलियों को हल्के गर्म पानी में डालकर रखें, आराम मिलेगा। फिर भी दर्द नहीं जाए तो डॉक्टर से संपर्क करें।

सिरदर्द- इस बार सिरदर्द की समस्या भी देखने को मिल रही है। यह कोरोना महामारी का ही एक लक्षण बन गया है।
इलाज- माथे व आंखों के ऊपर लगातार तेजी से दर्द बना रहे तो तत्काल डॉक्टर से संपर्क करें और टेस्ट कराए।
त्वचा पर रैशेज- कई मामलों में स्किन में बिना एलर्जी के रैशेज पड़ रहे हैं।

इलाज- रेमडेसिवर इंजेक्शन।

डायरिया- कुछ संक्रमितों को डायरिया की समस्या आ रही है।

इलाज- डॉक्टर से सलाह लेकर तुरंत ही इलाज कराना चाहिए।

ऑक्सीजन लेवल कम है तो डॉक्टर से मिलें- डॉ. एचके अग्रवाल, मेडिसन विभाग के सीनियर प्रोफेसर, पीजीआई रोहतक

सभी आयु वर्ग के लोगों के लिए सलाह एक भी लक्षण दिखाई देने पर होम आइसोलेशन की सलाह दी जाती है। यदि सांस लेने में तकलीफ, तेज बुखार, तेज खांसी और ऑक्सीजन का लेवल कम तो तत्काल डॉक्टर से संपर्क करें। हर रोगी को ऑक्सीजन की जरूरत नहीं होती है, ऐसा करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

कोई भी लक्षण हों, टेस्ट कराएं- डॉ. संदीप गाेयल, एसोसिएट प्रोफेसर, मेडिसन विभाग

इस बार शरीर में ज्यादा कमजोरी आ रही है। कमर व कमर से नीचे के हिस्से में बहुत अधिक दर्द हो रहा है। खासतौर से जांघ, घुटने में। खुद को अलग करें और टेस्ट कराएं। पहला लक्षण दिखाई देते ही आरटी-पीसीआर करवाएं। 45 वर्ष से कम उम्र के युवाओं में इस बार संक्रमण जमकर दिखाई दे रहा है।

खबरें और भी हैं...