• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • Two Cases Of Hooliganism In Palwal Car Occupants Fired At Father And Son, Ransacked The House Of A Widowed Woman.

पलवल में गुंडागर्दी के 2 मामले:कार चढ़ाकर पांव कुचलने से टोका तो बाप-बेटे पर चलाई गोली; विधवा के घर तोड़फोड़

पलवल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा के पलवल में सरेआम गुंडागर्दी के दो मामले सामने आए हैं। एक में कार का पहिया पैदल जा रहे व्यक्ति के पांव पर चढ़ गया। कार चालक को टोका गया तो कार में सवार युवकों ने बाप-बेटे पर गोलियां चला दी। चार-पांच फायर किए गए, लेकिन वे किसी तरह गोलियों से बच गए। दूसरी तरफ कुछ लोगों ने एक विधवा महिला के घर में घुस कर हथियार के बल पर तोड़फोड़ की और परिजनों को जान से मारने की धमकी दी। पुलिस ने दोनों मामलों में केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

केस-1: पीछा कर रुकवाई कार

पलवल के चांदहट थाना प्रभारी रमेशचंद ने बताया कि चांदहट गांव निवासी हंशु ने बताया कि वह और उसके पिता प्रेम सागर बाइक पर सरकारी स्कूल की तरफ जा रहे थे। इसी दौरान कुटी मंदिर के पास पहुंचे तो उसका भाई पैदल-पैदल घर की तरफ जा रहा था। इसी दौरान एक वेन्यू कार आई और उसका उसका पहिया भाई के पैर पर जा चढ़ा। उन्होंने बाइक पर कार का पीछा कर उसे रूकवाया। उन्होंने चालक को टोका कि इतनी तेज गाड़ी क्यों चला रहे हो, देखकर चलाया करो।

कार से उतर चलाई गोलियां

इसको लेकर उनकी कार चालक से तनातनी हो गई। इसी बीच आई-20 कार से 6-7 युवक नीचे उतरे। इनमें उनके गांव के प्रवीण और सुनील ने अपने हाथों में देशी पिस्टल ले रखी थी। आरोप है कि युवकों ने उन्हें जान से मारने की नियत से पिस्तौल से 4-5 फायर किए। उन्होंने बाइक की आड ली, जिससे वे गोली लगने से बच गए। गोली चलने की आवाज सुनकर मौके पर मोहित, गौरव व अन्य लोग आ गए। जिनके आने पर आरोपी जान से मारने की धमकी देकर फरार हो गए।

इन पर केस दर्ज

पुलिस जांच अधिकारी ओमप्रकाश ने बताया कि हंशु की शिकायत पर पुलिस ने प्नवीण, सुनील और उनके 5 अन्य साथियों के खिलाफ हत्या के प्रयास सहित विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया है। पुलिस मामले को लेकर छानबीन कर रही है। फिलहाल आरोपियों को गिरफ्तारी हो सकी है।

केस-2: विधवा के घर में तोड़फोड़

दूसरे मामले में चांदहट थाना प्रभारी रमेशचंद ने बताया कि चांदहट गांव निवासी समंत्रा ने शिकायत में कहा है कि 10 जून को देर शाम वह अपने घर पर कार्य कर रही थी। उसी दौरान गांव के ही विजयपाल, प्रेम सागर, नैनसुख व ईशु सहित 15-20 अन्य लड़के हाथों में देशी कट्टा, कुल्हाड़ी, लाठी-डंडा लेकर घर में घुस आए। उक्त लोगों ने घर के अंदर आते ही उसके सामान को तोडना शुरू कर दिया।

समंत्रा ने बताया कि आरोपियों के भय से अपने कमरे के दरवाजे बंद किए तो उन्होंने दरवाजे भी तोड़ दिए और घर के बाहर लगा बिजली का मीटर व घर का अन्य सामान भी तोड़ दिया। पुलिस जांच अधिकारी विनोद ने बताया कि पीड़िता की शिकायत पर उक्त लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर तलाश शुरू कर दी है। जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।