रोहतक की टिटौली चौकी पर ग्रामीणों का प्रदर्शन:दिल्ली क्राइम ब्रांच की कस्टडी में व्यक्ति की मौत पर भड़के, कार्रवाई की मांग

रोहतक7 दिन पहले

दिल्ली क्राइम ब्रांच की कस्टडी में हरियाणा के रोहतक के गांव सिसरोली निवासी संदीप की मौत हो गई। परिवार वालों ने टॉर्चर करने और बिगड़ती सेहत की अनदेखी का आरोप लगाए हैं। रविवार को दिल्ली क्राइम ब्रांच पर कार्रवाई करने की मांग को लेकर ग्रामीण टिटौली चौकी पहुंचे। जहां पुलिस ने संतोषजनक जवाब नहीं दिया तो ग्रामीणों ने पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

गांव सिसरोली निवासी सुखवेंद्र ने बताया कि उनके यहां 16 सितंबर को दिल्ली के रोहिणी सेक्टर से क्राइम ब्रांच की टीम सिविल ड्रेस में आई थी। क्राइम ब्रांच की टीम ने उसके भाई संदीप के साथ खींचतान और धक्का-मुक्की की। जिस पर उन्होंने कहा कि संदीप हार्ट का मरीज है और कागजात भी दिखाए। साथ ही मौजूद ग्रामीणों ने आश्वासन दिया कि वे सोमवार को खुद संदीप को लेकर पहुंच जाएंगे और पेश कर देंगे।

मृतक संदीप की फाइल फोटो
मृतक संदीप की फाइल फोटो

क्राइम ब्रांच की टीम ने किसी की एक नहीं सुनी और जबरन पिस्तौल के बल पर गाड़ी में डालकर ले गए। जब 17 सितंबर को रोहिणी में गए तो वहां बातचीत तो कम हो पाई, लेकिन उसके भाई संदीप ने कहा कि उसे मानसिक रूप से परेशान किया जा रहा। वहां भी इलाज के लिए कहा, लेकिन उनकी एक नहीं सुनी। संदीप की मां से बात करवाने के लिए कहा तो बात ही नहीं करने दी। इसके बाद 30 हजारी कोर्ट में भेज दिया, लेकिन वहां पर भी क्राइम ब्रांच का कोई भी कर्मचारी नहीं पहुंचा।

इसके बाद उन्होंने पूछताछ की तो एक अधिवक्ता के माध्यम से जानकारी मिली कि संदीप की तबियत अधिक खराब हो गई। जिसके कारण संदीप को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। वहां पुलिस वाला कोई नहीं मिला और संदीप की मौत हो चुकी थी। इसके बाद भी जो पुलिसकर्मी संदीप को लेकर आए थे, उनसे संपर्क किया तो कोई जवाब नहीं मिला।

ग्रामीण अपनी बात रखते हुए
ग्रामीण अपनी बात रखते हुए

अचानक उठाकर ले गई पुलिस

सुखवेंद्र ने बताया कि उन्होंने जब क्राइम ब्रांच की टीम से गिरफ्तारी का कारण पूछा तो पहले कुछ भी नहीं बताया। हालांकि बाद में जानकारी जुटाने पर पता लगा कि कोई 2001 में अवैध शराब का मामला दर्ज हुआ था। वकील ने जमानत के बाद मामला निपटने की बात कही, लेकिन इसके बाद संदीप को भगौड़ा घोषित कर दिया। अब तक ना तो कोई सम्मन आया और ना ही कोई पुलिस वाला भी नहीं आया, लेकिन अब अचानक संदीप को उठाकर ले गए।

क्राइम ब्रांच ने किया टॉर्चर

सुखवेंद्र ने कहा कि संदीप पहले ही हार्ट का मरीज था। इसलिए उसको चलने में भी दिक्कत थी और क्राइम ब्रांच ने कई मंजिल तक उसे ऊपर चढ़ाया और नीचे उतारा। जिसके कारण भी उसके स्वास्थ्य बिगड़ा। क्राइम ब्रांच द्वारा उसे बुरी तरह से टॉर्चर किया गया। जिसके कारण संदीप की मौत हुई है।

टिटौली पुलिस चौकी के सामने ग्रामीणों ने की नारेबाजी

गांव सिसरोली के ग्रामीण रविवार को पुलिस चौकी टिटौली में पहुंचे। जहां पर दिल्ली क्राइम ब्रांच की टीम पर मामला दर्ज करके उचित कार्रवाई की मांग की। पुलिस द्वारा संतोषजनक जवाब नहीं देने पर ग्रामीणों ने पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। ग्रामीणों ने कहा कि जब दिल्ली क्राइम ब्रांच की टीम संदीप को उठाकर ले गई तो टिटौली चौकी की पुलिस भी साथ थी और अब कार्रवाई से पीछे हट रही है।

मजिस्ट्रेट के समक्ष हुए बयान, कल होगा पोस्टमार्टम

संदीप के परिजन जयपाल ने बताया कि जब वे अस्पताल पहुंचे तो कोई भी पुलिसकर्मी नहीं मिला। शाम को पुलिस ने उनसे संपर्क किया। उन्होंने इस मामले में न्याय व उचित जांच के लिए स्थानीय पुलिस से संपर्क किया तो भी कोई कार्रवाई नहीं हुई। हालांकि बाद में मजिस्ट्रेट के समक्ष परिजनों के बयान दर्ज किए गए हैं। सोमवार को बोर्ड द्वारा पोस्टमार्टम करवाया जाएगा।

खबरें और भी हैं...