पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रूठ गया मानसून:फुहारों का इंतजार, बरस रहे अंगार

राेहतक23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
छांव का जुगाड़... छाेटूराम चाैक पर सड़क किनारे छतरियों की खरीदारी करते युवा। - Dainik Bhaskar
छांव का जुगाड़... छाेटूराम चाैक पर सड़क किनारे छतरियों की खरीदारी करते युवा।

राेहतक जिले से मानसून रूठा हुआ है। यही कारण हैं कि जुलाई का महीना भी मई और जून की तरह ही तप रहा है। अभी बरसात की 35 फीसदी कमी बनी हुई है। यानि एक जून से अब 7 जुलाई तक जिले में 80.9 एमएम तक बरसात हो जानी चाहिए थी, लेकिन अबतक 52.7 एमएम ही बरसात हो पाई है।

बरसात ना होने के कारण अब रोहतक जिला प्रदेश के सूखे हुए 16 जिलों में से एक है, जोकि कमी वाले जिलों की सूची में शुमार हो गया है। अभी दाे दिन और बारिश के आसार नजर नहीं आ रहे हैं। फिर से तेज धूप व गर्मी ने आमजन सताने लगी है।

बुधवार काे अधिकतम तापमान 41.5 डिग्री दर्ज किया गया। इसमें 4 डिग्री का इजाफा बना है। वहीं न्यूनतम तापमान 28.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इसमें एक डिग्री की बढ़ोतरी दर्ज की गई। पाकिस्तान की तरफ से आ रही पश्चिमी हवाओं ने माॅनसून काे राेक रखा है।

मौसम में आगे क्या : 10 से 14 जुलाई के बीच राहत की उम्मीद

माैसम विशेषज्ञों के अनुसार 8 जुलाई तक मौसम परिवर्तनशील रहेगा। इस बीच माैसम गर्म अाैर हवा में नमी रहेगी। इसके कारण आंशिक बादल, धूल भरी हवाएं चलने और बूंदाबांदी की संभावना है। 9 जुलाई से मॉनसून टर्फ रेखा हिमाचल के उत्तर की तरफ बढ़ने से अनुकूल परिस्थितियां बनने की संभावना है।

इसलिए 9 जुलाई रात से 12 जुलाई के बीच हवाओं और गरज-चमक के साथ बारिश संभावित है। माैसम विशेषज्ञों के मुताबिक अगले दाे दिनों तक जिला में कोई खास बारिश की संभावना नहीं है। कुछ जगहाें पर 8 से 10 जुलाई के बीच छिटपुट बूंदाबांदी हाे सकती है।

खबरें और भी हैं...