• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • When the farmers who came to give the memorandum were prevented from going to the small secretariat, the tractor sat on the ada road

प्रदर्शन / ज्ञापन देने आए किसानों को लघु सचिवालय में जाने से रोका तो ट्रैक्टर अड़ा रोड पर बैठे

लघु सचिवालय में न जाने देने पर सड़क के बीच में ट्रैक्टर खड़ा कर जाम लगाकर बैठे किसान। लघु सचिवालय में न जाने देने पर सड़क के बीच में ट्रैक्टर खड़ा कर जाम लगाकर बैठे किसान।
X
लघु सचिवालय में न जाने देने पर सड़क के बीच में ट्रैक्टर खड़ा कर जाम लगाकर बैठे किसान।लघु सचिवालय में न जाने देने पर सड़क के बीच में ट्रैक्टर खड़ा कर जाम लगाकर बैठे किसान।

  • फसलों के मुआवजे के लिए व तेल कीमतों में बढ़ोतरी के विरोध में किसानों का प्रदर्शन

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

रोहतक. किसानों की मांगों को हल करवाने व प्रशासन के असंवेदनशील रुख को लेकर किसान सभा मंगलवार काे सड़क पर उतर आई। किसानों ने डीसी कार्यालय पर प्रदर्शन किया। बात को अनसुना होता देख किसानों ने डीसी कार्यालय के सामने दिल्ली रोड पर ट्रैक्टर बीच सड़क में लगाकर रास्ता रोक दिया। किसानों ने यहां तक कहा कि जब सांसद दीपेंद्र हुड्‌डा को अंदर जाकर सचिवालय में ज्ञापन देने की अनुमति दी जा सकती है, तो उन्हें क्यों नहीं। करीब 10 मिनट तक किसानों ने सड़क पर जाम भी लगाया। इसके बाद एसडीएम राकेश कुमार ने किसानों की ओर से उनकी ज्ञापन लिया।

प्रदर्शन से पहले की सभा
प्रदर्शन से पहले छोटूराम धर्मशाला में सभा की गई। सभा पश्चात धर्मशाला से डीसी कार्यालय तक प्रदर्शन किया। विरोध प्रदर्शन की अध्यक्षता जिला प्रधान प्रीत सिंह और प्रेम सैमाण ने की। किसान सभा जिला सचिव सुमित व जिला उपप्रधान जोगेंद्र बनियानी ने कहा कि ओलावृष्टि बेमौसमी बारिश से धान व गेहूं की  बर्बाद फसलों का मुआवजा बांटने में प्रशासन जान-बूझकर देरी कर रहा है फसल नहीं बची ऊपर मुआवजा न मिलना।

किसानों का आरोप- गन्ने की पेमेंट भी नहीं हुई
किसान सभा उपप्रधान कैप्टन शमशेर मलिक व कोषाध्यक्ष बलवान सिंह ने कहा कि ये सरकार की जनविरोधी नीतियों का ही परिणाम है कि हर रोज डीज़ल और पेट्रोल की कीमतें बढ़ रही है। किसान सभा मुआवजा लेने, ट्यूबवेल कनेक्शन, गन्ने के भुगतान समेत सभी मांगों को पूरा करवाने की मांग की है। ज्ञापन लेने के बाद एसडीएम ने समस्याओं को हल करने का आश्वासन दिया व डीसी से बात करवाने की भी कही। इस माैके पर दो दर्जन गांव मायना, कराैंथा, पहरावर, बालंद, बनियानी, बलम, गद्दी खेड़ी, सैमाण बहुअकबरपुर आदि गांव के किसान शामिल रहे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना