पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हत्थे चढ़ा सीरियल स्नेचर:पत्नी छोड़ गई थी, गुस्सा निकालने को स्कूटी वाली को रोकता; लूटने से पहले खूब पीटता

रोहतक14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • सुपवा की हॉस्टल अटेंडेंट से स्कूटी छीनने का आरोपी 1 घंटे बाद सीआईए ने धरा

आउटर एरिया की सुनसान सड़क पर स्कूटी सवार महिलाओं से वारदात की कहानी सुलझ गई है। स्कूटी सवार महिलाओं को ही टारगेट बनाने की सनक पाले इस स्नेचर की गिरफ्तारी हो गई है। आरोपी गोहाना के गांव धनाना का 28 वर्षीय सौरभ है। बीए तक पढ़ा सौरभ पिछले 5 माह में स्कूटी सवार महिलाओं से मारपीट कर लूट की 3 वारदात कर चुका था। शादीशुदा सौरभ ने खुलासा किया है कि उसे केवल महिलाओं के साथ ही लूटपाट की सनक थी।व

जह को लेकर उसने बताया कि करीब 6 माह पहले उसकी पत्नी उससे नाराज होकर अपने मायके चली गई थी। इसके बाद से वो पत्नी का गुस्सा दूसरी महिलाओं पर उतारने के लिए लूटपाट करने लगा। पुलिस ने उस पर 20 हजार रुपए का इनाम भी घोषित कर रखा था। सौरभ की गिरफ्तारी भी सोमवार को स्नेचिंग की एक वारदात को अंजाम देने के बाद हुई है। वारदात सोमवार दोपहर ढाई बजे के करीब सुपवा यूनिवर्सिटी के गेट के पास हुई। यूनिवर्सिटी की गर्ल्स हॉस्टल की अटेंडेंट सीमा के साथ यूनिवर्सिटी गेट से थोड़ा आगे ही वारदात हुई। स्नेचर सीमा से मारपीट कर उसकी स्कूटी छीन ले गया। सीमा ने फोन पर पुलिस को सूचना दी तो नाकाबंदी के बाद सीआईए-2 की टीम ने उसे सुंदरपुर गांव के पास खेतों से पकड़ लिया।

8 एकड़ का जमींदार, पत्नी से बदला लेने को करने लगा लूटपाट

सौरभ के पिता की मौत हो चुकी है। उनकी मौत के बाद सौरभ के हिस्से परिवार की आठ एकड़ जमीन आ गई। शादी को भी कुछ ही साल हुए हैं। लेकिन पत्नी से उसकी नहीं बनी। करीब 6 माह पहले अनबन होने पर उसकी पत्नी अपने मायके चली गई। पुलिस पूछताछ में सौरभ ने कबूला की इसके बाद वो महिलाओं से नफरत करने लगा। उन्हें लूटता लेकिन मारपीट कर अपनी भड़ास जरूर निकालता। उसने कुछ माह में ही ऐसी 5 वारदात कर डाली। वहीं स्कूटी सवार महिलाएं ही उसका टारगेट इसलिए भी होती क्योंकि वो अपना पर्स स्कूटी की डिग्गी में रखती। पर्स में नकदी के साथ जेवर भी जरूर मिलता। लूट के बाद नकदी जेवर अपने पास रख सौरभ स्कूटी को किसी सुनसान जगह छोड़ देता।

सीआईए टीम को देख स्कूटी छोड़ खेतों में भागा

डीएसपी सज्जन कुमार व सीआईए-2 प्रभारी नरेश राठी ने बताया कि आरोपी स्कूटी लेकर शहर से नहीं निकल पाया था। जींद रोड पर सीआईए टीम को देख वो स्कूटी को छोड़ खेतों में भाग खड़ा हुआ था। टीम ने उसे पकड़ लिया। उसे आज कोर्ट में पेश करेंगे।

बस में आता था

आरोपी सौरभ से पूछताछ में सामने आया है कि उसने अभी तक शहर में जितनी भी वारदात की है उसमें वो बस से ही शहर में आता था। फिर ऑटो पकड़ किसी सेक्टर में जाता और पैदल आउटर रोड पर चला जाता।

ये वारदात कबूली

  • 15 फरवरी 2020 को आईटीआई रोड गउशाला के पास से लड़की से स्कूटी छीनी
  • 22 जनवरी 2021 को सेक्टर-5 में महिला से स्कूटी छीनी
  • 9 जून 2021 को आईटीआई के पास गोशाला फ्लाईओवर से महिला से स्कूटी व चेन छीनी

सेक्टर में 2 माह से खाली पड़ी चेक पोस्ट

सुपवा के मेन गेट के पास ही पुलिस की चेक पोस्ट है। लेकिन 2 माह से यहां पर पुलिस तैनात नहीं है। सेक्टर-6 की आरडब्लूए के प्रधान रमेश खासा का कहना है कि पुलिस ने 2 माह पहले यहां से नाकाबंदी हटाई थी। दोबारा पुलिस तैनात होनी चाहिए।

मैंने सोचा गलती से सड़क पर आ गया, टलना चाहा तो उसने स्कूटी पर लात मार दी

-जैसा कि सुपवा में अटेंडेंट सीमा ने बताया
मैं सोमवार को दोपहर करीब ढाई बजे यूनिवर्सिटी से अपने गांव टिटौली जाने के लिए स्कूटी पर निकली थी। अचानक सड़क पर सामने एक युवक आ गया। मैंने सोचा डिवाइडर पार करते स्कूटी नहीं दिखी इसलिए ऐसे आया है। मैंने उसे बचाने के लिए स्कूटी साइड से निकालनी चाही तो उसने स्कूटी पर लात मार दी। बैलेंस बिगड़ा तो मैं नीचे गिर गई। उठने की कोशिश की तो लात-घुंसे मारने शुरू कर दी। मैं बेदम सी हो गई। तभी वो स्कूटी उठाकर भागने लगा। मेरा फोन साइड में गिर गया था। मैंने पति को व डायल 112 पर सूचना दी।

खबरें और भी हैं...