देवर ने करवाई थी भाभी की हत्या:गांव के ही 3 युवकों ने 50 लाख में सुपारी लेकर किया था भाली आनंदपुर में मर्डर

रोहतक5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
महिला की हत्या मामले में गिरफ्तार आरोपी - Dainik Bhaskar
महिला की हत्या मामले में गिरफ्तार आरोपी

हरियाणा के जिला रोहतक के गांव भाली में 22 जून की रात को महिला की घर में घुसकर गोली मारकर हत्या की वारदात से पुलिस ने पर्दा उठा दिया है। हत्या में शामिल गांव के ही तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों ने पुलिस पूछताछ में बताया कि उन्होंने मृतका के देवर से 50 लाख में सुपारी लेकर हत्या की थी। रोहतक पुलिस की सीआईए-2 स्टाफ टीम ने गांव भाली आनन्दपुर निवासी महिला प्रवीन की गोली मारकर हत्या मामले में गिरफ्तार तीनों आरोपियों को अदालत में पेश करके दो दिन के पुलिस रिमांड पर लिया है।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कृष्ण कुमार लोहचब ने बताया कि दिनांक 21-22 जून की रात को गांव भाली आनन्दपुर मे प्रवीन पत्नी वेदप्रकाश की गोली मारकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच की। मृतिका के पिता पानीपत के गांव पुठर निवासी शमशेर की शिकायत पर हत्या सहित अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कृष्ण कुमार लोहचब
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कृष्ण कुमार लोहचब

देवर के कहने पर की थी हत्या
गिरफ्तार आरोपितों ने पुलिस जांच में खुलासा किया कि प्रवीन का देवर मोहित जेल में बंद है। प्रवीन व उसके देवर मोहित की आपस में रंजिश चली आ रही है। मोहित ने जेल के अन्दर से ही प्रवीन की हत्या की योजना बनाई है। उसने अपने गांव के अमित, सूरज व विकास से संपर्क किया। मोहित के कहने पर तीनों ने मिलकर हत्या की वारदात को अंजाम दिया।

50 लाख में दी थी हत्या की सुपारी
मोहित ने आरोपियों को हत्या करने के लिए 50 लाख रुपये देने की बात कही थी। पैसे हत्या के बाद देने थे। हत्या के लिए आरोपियों ने उत्तर प्रदेश से अवैध हथियार खरीदे थे। आरोपियों से वारदात में तीन अवैध हथियार व तीन कारतूस बरामद हुए है। आरोपी 21-22 जून की रात को प्रवीन के घर में घुसे तथा गोलियां मारकर हत्या कर दी।

मृतका प्रवीन का फाइल फोटो
मृतका प्रवीन का फाइल फोटो

षड्यंत्र के तहत की थी प्रवीन की हत्या
शमशेर सिंह ने पुलिस को बताया था कि उसकी लड़की प्रवीन की शादी करीब 15 साल पहले रोहतक के गांव भाली आनंदपुर निवासी वेदप्रकाश के साथ की थी। उसके दामाद वेदप्रकाश की हत्या वर्ष 2017 में कर दी गई थी। प्रवीण को दो बच्चे एक लड़का व एक लड़की है। 22 जून की रात को षड्यंत्र के तहत प्रवीन की भी गोली मारकर हत्या कर दी।

एसपी ने सीआईए-2 को सौंपी थी जांच
पुलिस अधीक्षक उदय सिंह मीना ने मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच प्रभारी सीआईए-2 स्टाफ निरीक्षक नवीन कुमार को सौंपी। जांच के दौरान घर में आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों में हत्या की वारदात को अंजाम देने वाले युवकों कैद हुए थे।

सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपियों तक पहुंची पुलिस
सीसीटीवी फुटेज के आधार पर जांच करके आरोपियों की शिनाख्त के प्रयास किए। 26 जून को सीआईए-2 स्टाफ की टीम ने उप निरीक्षक रोहताश के नेतृत्व में छापेमारी करते हुए आरोपी गांव भाली आनन्दपुर निवासी अमित उर्फ मीता पुत्र सुरेंद्र, सूरज उर्फ दांगी पुत्र रोहताश व विकास उर्फ विक्की पुत्र नरेश को गिरफ्तार कर लिया।

आरोपियों का पुराना आपराधिक मामला दर्ज
आरोपियों का पुराना आपराधिक रिकार्ड रहा है। आरोपी अमित उर्फ मीता पर मारपीट व हत्या के दो मामले दर्ज है। वहीं आरोपी सूरज उर्फ दांगी पर हत्या का एक मामला दर्ज है। आरोपी विकास उर्फ विक्की पर मारपीट व राजस्थान में एटीएम मशीन उखाड़ने का मामला दर्ज है। आरोपी गिरफ्तार होकर जेल मे बंद थे। जो करीब 5-6 महीने पहले ही जमानत पर जेल से बाहर आए है।

खबरें और भी हैं...