पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

57 दिन बाद श्मशान में शांति:कोविड प्रोटोकॉल से शून्य संस्कार, 48 दिन बाद नए केसों में भी गिरावट, 57 संक्रमित मिले

रोहतक15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
वैश्य रोड पर स्थित श्री शिव मंदिर श्मशान घाट में शुक्रवार को शव जलाने के लिए चिताएं तो सजाई गई थी लेकिन शुक्र रहा कि कोई शव नहीं आया। मगर अभी हमें चौकन्ना रहना है। क्योंकि कोरोना अभी गया नहीं है। - Dainik Bhaskar
वैश्य रोड पर स्थित श्री शिव मंदिर श्मशान घाट में शुक्रवार को शव जलाने के लिए चिताएं तो सजाई गई थी लेकिन शुक्र रहा कि कोई शव नहीं आया। मगर अभी हमें चौकन्ना रहना है। क्योंकि कोरोना अभी गया नहीं है।

कोरोना महामारी के बीच शनिवार को जिले के लिए 57 का आंकड़ा कई मायने लेकर आया। जहां 1637 लोगों की सैंपल जांच में 57 संक्रमित मिले । वहीं 57 दिन बाद शहर के श्मशान में शांति आई। 57 दिन बाद पहली बार ऐसा मौका आया जब कोविड डेड बॉडी के लिए आरक्षित किए गए वैश्य कॉलेज रोड स्थित श्रीशिव मंदिर श्मशान घाट व जींद रोड स्थित श्मशान घाट पर कोराेना से दिवंगत हुए लोगों का एक भी शव नहीं पहुंचा।

हालांकि सरकारी रिकार्ड में शनिवार को जिले में कोरोना से 4 मौत दर्ज की गई। लेकिन हेल्थ ऑडिट में उलझा इन शवों का अंतिम संस्कार पहले हो चुका है। इसके पहले 31 मार्च से कोरोना से जान गंवाने वालों के अंतिम संस्कार का सिलसिला शुरू हुआ था। वहीं 27 अप्रैल को श्रीशिव मंदिर श्मशान भूमि पर सर्वाधिक 30 संस्कार कई पालियों में कराने पड़े थे।

177 मरीज रिकवर, 45 दिन के बाद रिकवरी रेट 93.42 % पहुंचा

कोरोना की दूसरी लहर में मई माह के 22 दिन में 300 मौतें हुई। शुक्रवार को कोरोना डेथ ग्राफ ने 500 का आंकड़ा पार कर लिया। 2020 के अप्रैल से वर्ष 2021 के अप्रैल में कोरोना से महज 202 लोगों की मौत हुई थी। वहीं राहत की बात यह है कि शुक्रवार काे जिले में 48 दिन बाद काेराेना के 57 नए केस मिले।

177 मरीज रिकवर हुए और 45 दिन बाद जिले में एक बार फिर काेराेना रिकवरी रेट 93.42 फीसदी पर पहुंच गया। जबकि कोविड पॉजिटिविटी दर लगातार दो दिन से 5.86 फीसदी है। सिविल सर्जन कार्यालय के अधिकारी ने बताया कि शनिवार को कोरोना से जिले में चार मरीजों की मौत हुई

एक्टिव केस 1172, 140 मरीज भर्ती हैं

सिविल सर्जन कार्यालय की टीम की ओर से कराई जा रही सैंपलिंग जांच में अब कोरोना केस मिलने लगे हैं। कम केस मिलने और रिकवर बढ़ने से जिले में कोरोना एक्टिव केस में मरीजों का ग्राफ घटने लगा है। जिले में अब कोविड एक्टिव केस में 1172 मरीज रह गए हैं। जबकि 140 मरीज पीजीआई, सिविल अस्पताल सहित निजी अस्पतालों में उपचाराधीन हैं और होम आइसोलेशन में 1032 मरीज रह गए हैं। जिले में अब तक 25,426 कोरोना केस मिल चुके हैं जिनमें 23,753 मरीज रिकवर हुए हैं।

कुल मौतें 501

पहले 13 माह में कोरोना से हुई 200 मौत, दूसरी लहर के 22 दिन में 300 जान गई

खबरें और भी हैं...