पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • Rewari
  • 114 Divyang Children Will Learn The Methods Of Making Incense, Incense Sticks And Rose Water, So That They Become Self reliant By Their Own Skills.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

प्रतिभा की कार्यशाला:114 दिव्यांग बच्चे सीखेंगे धूप, अगरबत्ती और गुलाब जल बनाने की विधियां, ताकि खुद के हुनर से बनें आत्मनिर्भर

रेवाड़ीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • समग्र शिक्षा अभियान की वर्कशॉप में 6 जिलों के बच्चों को दिया जाएगा प्रशिक्षण

दिव्यांग बच्चे भी समाज की मुख्य धारा में जुड़े, इसके लिए तरह-तरह के प्रोजेक्ट चलाए जा रहे हैं। इसी को लेकर हरियाणा समग्र शिक्षा परियोजना परिषद की ओर से अब दिव्यांग बच्चों को आत्म निर्भर बनाने के लिए उनको खराब सामान से विभिन्न वस्तुओं के बनाने की ट्रेनिंग दी जाएगी। परिषद ने उत्तरप्रदेश के कन्नोज के एक संगठन के साथ मिलकर यह योजना तैयार की है।

जिसमें रेवाड़ी जिले में 6 जिलों के कक्षा 9 से 12वीं में पढ़ने वाले दिव्यांग बच्चों को कार्यशाला लगाकर प्रशिक्षित किया जाएगा। 10 दिन की यह कार्यशाला 19 फरवरी से शुरू होकर 28 फरवरी तक चलेगी। इसके लिए परिषद की ओर से 6 लाख 63 हजार रुपए का बजट भी जारी किया गया है। साथ ही जिला समग्र शिक्षा अभियान के कॉर्डिनेटर को भी व्यवस्था के लिए पत्र जारी कर दिया है।

इन जिलों के बच्चे आएंगे
बावल रोड स्थित वृंदा स्थल पर आयोजित होने वाली इस कार्यशाला में रेवाड़ी जिले से कक्षा 9 से 12वीं में 17, फरीदाबाद से 21, गुरुग्राम से 26, पलवल से 15, नूंह से 17 व महेंद्रगढ़ से 18 बच्चे भाग लेंगे। इनके साथ हर जिले से एक-एक स्पेशल ट्रेनर भी आएंगे। एपीसी वीरेंद्र सिंह ने बताया कि इसमें बच्चों के दो ग्रुप बनाए जाएंगे। दोनों ही ग्रुप को एक ही कैंपस में यह कार्यशाला लगाकर प्रशिक्षण दिया जाएगा। इस बार कोरोना गाइडलाइन का भी विशेष ध्यान रखा जाएगा।

स्पेशल ट्रेनर बताएंगे बेकार वस्तुओं से सामान बनाने के तरीके और उपयोग
डीपीसी राजेंद्र सिंह ने बताया कि इस कार्यशाला में स्पेशल ट्रेनर दिव्यांग बच्चों को प्रायाेगिक तरीके से धूपबत्ती, अगरबत्ती, हवन सामग्री, गुलाब जल से लेकर चेहरे पर लगाने वाली फेस पैक भी बनाने की विधियां बताएंगे। कार्यशाला के लिए जगह चयनित कर ली गई है, जहां दूसरे जिले से आने वाले बच्चों को ठहराया भी जा सके। इस कार्यशाला लगाने के पीछे विभाग का उद्देश्य है कि दिव्यांग बच्चे खुद के पैरों पर खड़ा हो सके और दूसरे पर निर्भर नहीं रहे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आर्थिक दृष्टि से आज का दिन आपके लिए कोई उपलब्धि ला रहा है, उन्हें सफल बनाने के लिए आपको दृढ़ निश्चयी होकर काम करना है। कुछ ज्ञानवर्धक तथा रोचक साहित्य के पठन-पाठन में भी समय व्यतीत होगा। ने...

    और पढ़ें