पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एंबुलेंस चालकों की मनमानी:संक्रमित को 2 किमी. दूर अस्पताल ले जाने के 4 हजार, गुड़गांव के मांग रहे 15 से 20 हजार

रेवाड़ी2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रेवाड़ी पहुंचे सीएम मनोहर लाल ने एम्बुलेंस सेवाओं की भी दरें तय करने के आदेश दिए। - Dainik Bhaskar
रेवाड़ी पहुंचे सीएम मनोहर लाल ने एम्बुलेंस सेवाओं की भी दरें तय करने के आदेश दिए।
  • मजबूरी का फायदा उठा रहे एंबुलेंस संचालक, मीटिंग में एचसीएस अफसर ने कहा- हमें भी 20 हजार रुपए देने पड़े
  • एंबुलेंस किराया तय करने की जरूरत, अधिकारियों की टीम कर रही काम

कोरोना काल में बीमारों की मजबूरी का फायदा उठाकर कुछ लोग शर्मनाक तरीके से पैसे कमाने के तरीके ढूंढ़ रहे हैं। इस समय संक्रमितों का बड़ा एंबुलेंस भी लूट का जरिया बना लिया है। एंबुलेंस चालक मुंह मांगा किराया वसूल कर रहे हैं, मगर अभी तक इन पर शिकंजा नहीं कसा जा सका है। हद ये है कि शहर के अंदर ही एक से दूसरे अस्पताल में गंभीर मरीज को शिफ्ट करने के ही 4-5 हजार रुपए मांगे जा रहे हैं। खुद अफसर भी इस सौदेबाजी का शिकार हो रहे हैं।

जिले के ही एक एचसीएस अफसर ने भरी मीटिंग के दौरान एंबुलेंस चालकों की मनमानी की बात कबूली तथा गुड़गांव तक 20 हजार रुपए लेने की घटना का भी जिक्र किया। लगातार शिकायतों के बाद जिला प्रशासन ने अधिकारियों की कमेटी जरूर गठित कर दी है, मगर अभी तक किराया निर्धारित नहीं हो पाया है। अधिकारियों का दावा है कि मरीजों के परिवारों पर पड़ रहे इस अतिरिक्त भार को कम करने के लिए मंथन किया जा रहा है तथा जल्द किराया तय कर दिया जाएगा।

भास्कर पड़ताल

ऑक्सीजन के साथ 15 हजार दैनिक भास्कर टीम ने एंबुलेंस चालकों द्वारा मनमर्जी मांगे जा रहे किराये को लेकर पड़ताल की। सरकुलर रोड स्थित एक निजी अस्पताल के सामने खड़े एंबुलेंस चालक से पूछा कि मरीज को गुड़गांव तक ले जाना है। एंबुलेंस चालक ने तुरंत जवाब दिया कि 15 हजार रुपए लगेंगे। हमने कहा कि किराया ज्यादा है तो कहा कि ऑक्सीजन भी तो देंगे। बिना ऑक्सीजन के कम किराया ले लेंगे।

फोन पर किराया बताने से इंकार एक अन्य एंबुलेंस चालक से भास्कर संवाददाता ने फोन पर बात करते हुए बताया कि सिविल अस्पताल में एक गंभीर मरीज को रात के समय रेफर किया जाएगा, उसके शहर में ही किसी प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराएंगे, कितना किराया लगेगा। इस पर एंबुलेंस चालक ने फोन पर किराया ही नहीं बताया। बल्कि उदारता दिखाते हुए कहा कि मरीज की जान बचनी जरूरी है, किराये का क्या है।

इन 4 मामलों से समझिए, किस तरह चल रही मनमर्जी

केस-1; अफसर ने कहा- 20 हजार दिए

राज्य सरकार के अतिरिक्त मुख्य सचिव जिला के अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक कर रहे थे। इस दौरान एंबुलेंस चालकों द्वारा लोगों से वसूले जा रहे मनमर्जी किराये का भी मुद्दा उठा। इसमें एक एचसीएस अफसर ने कहा कि वाकई ऐसा हो रहा है। उन्होंने एक परिचित को 20 हजार रुपए में एंबुलेंस कराकर गुडगांव भिजवाया।

केस- 2; जयपुर तक किराया 30 हजार

शहर के निजी अस्पताल में अपने एक बीमार रिश्तेदार के साथ आए दिल्ली निवासी वैभव ने बताया कि ज्यादा तबीयत खराब होने पर उन्हें बेड चाहिए था, मगर दिल्ली में बात नहीं बनी। वहां से आगरा, फिर जयपुर ले गए तथा आखिर जयपुर से रेवाड़ी लाए। एंबुलेंस चालक ने उनसे जयपुर से रेवाड़ी के 30 हजार रुपए मांगे। मजबूरी में तो देने पड़ेंगे।

केस- 3; डॉक्टर ने माना 5 हजार मांगे

कोविड अस्पताल के एक डॉक्टर ने माना कि एंबुलेंस चालकों द्वारा शहर के एक से दूसरे अस्पताल में मरीज को ले जाने के 4-5 हजार रुपए लिए जा रहे हैं। उनके पास भी शिकायत पहुंची, मगर तो चालकों को कम करने के लिए भी कहा। पिछले दिनों अंबेडकर चौक के निकट स्थित अस्पताल से 1 किलोमीटर दूर स्थित उनके अस्पताल तक भी मरीज को 5 हजार रुपए देने पड़े।

केस- 4 ; शव ले जाने के वसूले 4 हजार

शहर निवासी स्पर्ण कार प्रदीप जैन की शिकायत भी प्रशासन के पास पहुंची है। उन्होंने बताया कि शुक्रवार को उनकी रिश्तेदारी में एक महिला का देहांत हो गया। शव वाहन ने डेड बॉडी को सेक्टर-3 से सेक्टर-1 स्थित श्मशान में ले जाने के लिए भी 4 हजार रुपए मांगे। दूसरी एंबुलेंस नहीं मिलने से पैसे देने पड़े। एक अन्य बीमार को 55 किलोमीटर दूर बहरोड ले जाने के लिए 18 हजार रुपए मांगे।

प्रशासन के पास शिकायत, कमेटी रेट तय करने में जुटी

​​​​​​​रेवाड़ी के साथ ही अन्य जगहों पर भी एंबुलेंस में अधिक पैसे लेने की शिकायतें शासन-प्रशासन के पास पहुंच रही हैं। इसके बाद डीसी यशेंद्र सिंह ने कोरोना महामारी के दौरान कोविड-19 मरीजों के लिए एंबुलेंस के इस्तेमाल के लिए किराया निर्धारित करने को लेकर 4 सदस्यीय कमेटी गठित की है। जिला राजस्व अधिकारी की अध्यक्षता में जिला परिवहन अधिकारी, जीएम हरियाणा रोडवेज, डॉ. राजबीर की कमेटी का गठन किया गया है।

आज तय कर देंगे किराया : डीआरओ

-राजेश ख्यालिया, डीआरओ, रेवाड़ी।

सीएम खट्‌टर के आदेश; प्रति किमी. के हिसाब से रेट तय करें

रेवाड़ी पहुंचे सीएम मनोहर लाल ने एम्बुलेंस सेवाओं की भी दरें तय करने के आदेश दिए। कहा कि एम्बुलेंस के भी प्रति किलोमीटर के हिसाब से रेट तय किए जाएं, ताकि मरीजों को निर्धारित दरों पर एम्बुलेंस सेवा उपलब्ध हो सके। कोई भी एंबुलेंस मालिक या संचालक किसी भी कोविड मरीज व परिजनों से निर्धारित किराए से अधिक किराया न वसूले। यदि कोई ऐसे करते हुए पाया जाता है तो उसके खिलाफ आपदा प्रबंधन एक्ट 2005 के नियमों के तहत आवश्यक कार्यवाही की जाए।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- दिन सामान्य ही व्यतीत होगा। कोई भी काम करने से पहले उसके बारे में गहराई से जानकारी अवश्य लें। मुश्किल समय में किसी प्रभावशाली व्यक्ति की सलाह तथा सहयोग भी मिलेगा। समाज सेवी संस्थाओं के प्रति ...

    और पढ़ें