• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • Rewari
  • 20 To 40% Seats Are Vacant In The First Year Of Graduation In The Colleges Of The Town, Now The Portal Is Open Again, New Applications Can Be Made Up To 11

एडमिशन:कस्बे के कॉलेजों में स्नातक प्रथम वर्ष में 20 से 40% सीटें रिक्त अब फिर से पोर्टल हुआ ओपन, 11 तक कर सकते हैं नए आवेदन

रेवाड़ी12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • शहर के कॉलेजों में ज्यादातर में 80 फीसदी तक सीटें हुई फुल

स्नातक प्रथम वर्ष में दाखिले की प्रक्रिया जारी है। एडमिशन के लिए दो मेरिट लिस्ट जारी होने के बाद ओपन काउंसलिंग चल रही है। मगर अब भी कस्बे में खुले कॉलेजों में 20 से 40 फीसदी तक सीटें रिक्त हैं। जबकि शहरी क्षेत्र के कॉलेजों में 80 फीसदी तक सीटें भर चुकी हैं। कम दाखिले हुए तो हायर एजुकेशन ने अब फिर से 11 अक्टूबर तक पोर्टल को ओपन कर दिया है।

अब जिन भी कॉलेजों में रिक्त सीटें हैं, वहां नए विद्यार्थी भी आवेदन कर सकते हैं। इसके बाद नए आवेदन के लिए पोर्टल बंद हो जाएगा। कॉलेजों में हर दिन जितने भी आवेदन मिल रहे हैं, उतने की ही फिलहाल कैटेगरी अनुसार काउंसलिंग की जा रही है। 13 अक्टूबर तक ही दाखिले की प्रक्रिया चलेगी। ऐसे में वंचित रहे विद्यार्थियों के पास दाखिले के लिए यह अंतिम अवसर है।

नए खुले कॉलेजों में दाखिले की स्थिति

नए खुले कॉलेजों में बावल गर्ल्स कॉलेज में बीए प्रथम वर्ष में 160 में से 135, बीकॉम में 80 में से 40 और बीएससी नॉन मेडिकल में 20 में से 12 सीटें भर चुकी हैं। कला संकाय में ज्यादा सीटें भरी गई। कॉलेजों में ऐसा भी बताया जा रहा है कि सामान्य सीटें ज्यादातर भर चुकी हैं। अब केवल रिजर्व कैटेगरी की ही सीटें बाकी है। ऐसे में 11 अक्टूबर को नए आवेदनों के लिए पोर्टल बंद हो जाएगा। इसके बाद होने वाली काउंसलिंग ओपन हो सकती है। जिसमें इनमें बची हुई सीटें भी भर सकती हैं।

उम्मीद ये... 12वीं में सभी विद्यार्थी पास हुए, इसलिए रहेगी मारामारी

इस बार कोरोना संक्रमण के कारण हरियाणा शिक्षा बोर्ड और सीबीएसई बोर्ड की ओर से विद्यार्थियों को बिना परीक्षा के ही उत्तीर्ण किया था। यानी इस बार सभी विद्यार्थी पास हो गए थे। जबकि हर बार 25 फीसदी तक विद्यार्थी फेल भी हो जाते थे। ऐसे में इस बार उम्मीद थी कि शहर के कॉलेजों के साथ कस्बों में खुले कॉलेजों में भी सीटें फुल हो जाएंगी।

इन कॉलेजों में एडमिशन के लिए मारामारी रहेगी। मगर दो मेरिट और कई दिन से चल रही ओपन काउंसलिंग में भी सीटें रिक्त रह गई। इसलिए अब फिर से पोर्टल को ओपन किया गया है। जिसके अंतर्गत नए विद्यार्थी भी आवेदन कर सकते हैं। कॉलेज मुखियाओं का कहना है कि अब नए आवेदन भी हो रहे हैं। इसलिए उम्मीद है कि 11 अक्टूबर तक काफी सीटें फुल हो सकती हैं।

टॉपर विद्यार्थी दिल्ली का भी कर रहे रुख

जिले में 12वीं बेहतर नंबरों से उत्तीर्ण करने वाले विद्यार्थियों में काफी संख्या में दिल्ली शहर का भी रूख कर रहे हैं। वहां डीयू में दाखिले के साथ ही विभिन्न कोर्स या प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे नीट, आईआईटी की भी तैयारी करने को प्राथमिकता देते हैं। ऐसे में विद्यार्थियों की संख्या बंट जाती है। जिससे ही कॉलेजों में दाखिले की मारा-मारी नहीं है।

खबरें और भी हैं...