पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

डीलर को व्हाट्सएप से धमकी:25 लाख का इंतजाम कर लेना, नहीं तो हल्के में लेने वाले कई ऊपर चले गए

रेवाड़ीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • सेक्टर-3 के डीलर को बदमाशों ने पहले किया फोन, फिर भेजे धमकी भरे मैसेज

शहर के सेक्टर-3 निवासी एक प्रॉपर्टी डीलर से बदमाशों ने फोन करने के साथ व्हाट्सएप मैसेज भेजकर 25 लाख रुपए की रंगदारी मांगी है। बदमाश पिछले दो दिन से डीलर को कभी फोन तो कभी व्हाट्सएप संदेश भेजकर धमका रहे हैं। मैसेज में बदमाशों ने धमकी दी है कि 25 लाख रुपए का इंतजाम कर लेना और इसे हलके में मत लेना। हलके में लेने वाले कई ऊपर जा चुके हैं। घटना के बाद परिवार दहशत में है।

शहर के सेक्टर-3 में रहने वाले प्रॉपर्टी डीलर धीरज यादव को बदमाशों ने फोन व व्हाट्सएप मैसेज भेजकर यह धमकी दी है। पुलिस को दी शिकायत में उन्होंने बताया कि उनके पास पिछले दो दिनों से लगातार फोन व संदेश के जरिए बदमाश 25 लाख रुपए की रंगदारी मांग रहे हैं। पहली बार दी गई धमकी को उन्होंने गंभीरता से नहीं लिया लेकिन सोमवार को देर रात तक जब यह सिलसिला चलता रहा तब परिवार दहशत में आ गया। तत्पश्चात मामले की जानकारी तत्काल ही पुलिस को दी गई।

25 लाख रुपए की रंगदारी मांगने का मामला सामने आते ही पुलिस अधिकारियों में भी हड़कंप मच गया। इसके बाद मामले की जानकारी उच्चाधिकारियों को दी गई। जिसके बाद मंगलवार को इस व्हाट्सएप मैसेज में दिए गए नाम और नंबर के आधार पर अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। वहीं मामले की जांच अपराध अनुसंधान शाखा को सौंपी गई है। सीआईए ने मामले को लेकर तुरंत ही गंभीरता दिखाते हुए पीड़ित को बुलाया और बयान दर्ज करने से लेकर फोन की भी जांच शुरू कर दी है। पीड़ित प्रॉपर्टी डीलर को यह दूसरी बार धमकी मिली है जिसके बाद परिवार के लोग अब पूरी तरह से दहशत में आ गए हैं।

धमकी के बाद पीड़ित के घर के बाहर पुलिस की तैनाती
शिकायत मिलने के बाद पीड़ित के परिवार को पुलिस सुरक्षा उपलब्ध करा दी गई है। उनके सेक्टर-3 स्थित आवास पर पुलिस कर्मियों की ड्यूटी लगा दी है। हालांकि पुलिस को शिकायत देने के बाद बदमाशों की तरफ से अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। फिर भी पुलिस की तरफ से मामले को गंभीरता से लिया जा रहा है।

इधर, पहले के मामलों में भी गंभीर नहीं पुलिस : शहर में लॉकडाउन खुलने के बाद रंगदारी मांगने का यह तीसरा मामला है। इससे पहले एक चिकित्सक से रंगदारी का मामला सामने आया था लेकिन उसमें सूत्रधार उनका पड़ोसी युवक निकला था। इसके बाद एक आढ़ती पर भी बदमाशों ने गोली चलाकर रंगदारी मांगी थी। इसमें मॉडल टाउन थाना पुलिस ने कौशल गैंग से जुड़े कुख्यात चांदराम को गिरफ्तार कर लिया था लेकिन अभी तक गोली चलाने वालों की गिरफ्तारी नहीं है। ऐसे में पुलिस की गंभीरता पर भी सवाल उठ रहे हैं।

पंचायत समिति सदस्य भी रह चुका है पीड़ित
धीरज यादव मूल रूप से शहर से सटे एक गांव के ही रहने वाला है और उनका परिवार शहर के सेक्टर-3 में रहता है। इससे पहले वे गांव में रहते थे। वर्ष 2009 से 2014 तक वे रेवाड़ी पंचायत समिति के सदस्य भी रहे थे लेकिन इस बार धीरज चुनाव नहीं जीत सके। चुनाव हारने के बाद उन्होंने प्रॉपर्टी डीलिंग का अपना कामकाज प्रारंभ कर दिया था और इसके बाद से अब पूरी तरह से इसी काम में लगे हुए हैं। एक बार उनको पहले भी धमकी मिली थी लेकिन उसके पीछे कोई आपसी विवाद की बात सामने आई थी। अब दी गई धमकी में उनसे 25 लाख की रंगदारी मांगी है।

प्रॉपर्टी डीलर से रंगदारी मांगने के मामले में हमने केस दर्ज करके जांच के लिए टीमों का गठन कर दिया है। टीमें अपने-अपने स्तर पर अलग-अलग काम कर रही है। प्रारंभिक जांच में यह किसी आदतन अपराधी की तरफ से दी गई धमकी प्रतीत होती है जिसका जल्द ही सुराग लगा लिया जाएगा। वहीं आढ़ती के मामले में भी हमारे पास कई अहम सुराग हाथ लगे हैं। जल्द ही इन मामलों में खुलासा कर दिया जाएगा। -नाजनीन भसीन, एसपी, रेवाड़ी।

खबरें और भी हैं...