सुखद समाधान:पीडब्लयूडी से नप को हैंडओवर हुईं 505 लाइटें, सरकुलर रोड की लाइटें अभी खराब, दुरुस्ती के बाद ही होगी नप के हवाले

रेवाड़ीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पीडब्लयूडी और नगर परिषद के बीच पिछले कई माह से लाइटों के मुद्दे पर चल रही खींचतान का सुखद समाधान हो गया है। पीडब्लयूडी की तरफ से शहर के विभिन्न सड़क मार्गों पर आने वाली 505 लाइटों को पूरी तरह से दुरुस्त कराकर नगर परिषद को हैंडओवर कर दिया है। सोमवार को नगर परिषद अधिकारियों ने कमेटी के साथ किए ज्वाइंट सर्वे में इन 505 लाइटों को टेकओवर कर लिया है।

सरकुलर रोड पर खराब मिली लाइटें

शहर के प्रमुख सड़क मार्गों पर पीडब्लयूडी की तरफ से लगाई इन लाइटों को हैंडओवर किए जाने के मुद्दे पर नगर परिषद और विभाग में आपस में सांमजस्य नहीं बैठ रहा था। पीडब्लयूडी अधिकारियों का तर्क था कि लाइटें दुरुस्त हैं जबकि नप का तर्क था कि अधिकतर लाइटें खराब है। इस वजह से अधिकतर रूटों पर लाइटें होने के बावजूद भी यह जल नहीं रही थी।

ऐसे में रात को इन सड़कों पर अंधेरा छाया रहता था। लाइटों का यह मुद्दा जब केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह के पास पहुंचा तो उन्होंने मामले में प्रशासन को समाधान निकालने का निर्देश दिया। इस पर प्रशासन हरकत में आया और उपायुक्त यशेंद्र सिंह ने अधिकारियों की एक कमेटी का गठन किया था। कमेटी की तरफ से इस पर तत्काल काम शुरू करते हुए लाइटों को चेक किया तो काफी संख्या में लाइटें डैमेज मिली तो कहीं पर टेक्नीकिल कमियां मिली है। तत्पश्चात पीडब्ल्यूडी की तरफ से कमेटी की तरफ से सर्वे बाद दी गई रिपोर्ट के आधार पर तमाम सड़क मार्गों पर लाइटों की मरम्मत का काम शुरू करा दिया।

पीडब्लयूडी की तरफ से सभी लाइटों को दुरुस्त करने का दावा करते हुए इनकी सूची नप अधिकारियों को सौंपकर इन्हें टेकओवर करने का अनुरोध किया था। इसके बाद सोमवार को कमेटी के साथ दोनों विभागों के अधिकारियों ने ज्वाइंट सर्वे किया और 505 लाइटों को दुरुस्त बताते हुए नप को टेकओवर किए जाने के निर्देश दिए। इसके बाद नप की तरफ से इन लाइटों को टेकओवर कर लिया है। हालांकि इस दौरान सरकुलर रोड की सभी लाइटें सही नहीं मिली है। इस पर नप अधिकारियों ने सरकुलर रोड को लाइटों को टेकओवर नहीं किया है।

177 लाइटों की चेकिंग शेष, अधिकतर सरकुलर रोड की

नगर परिषद को सरकुलर रोड के साथ बावल रोड, गढ़ी बोलनी रोड, नारनौल-महेंद्रगढ़ रोड, बेरली रोड एवं धारूहेड़ा रोड सहित अन्य नप एरिया में आने वाली कुल 682 लाइटों को टेकओवर किया जाना था। इनमें सोमवार को 505 लाइटें हैंडओवर कर दी गई है। अब शेष 177 लाइटों में अधिकतर सरकुलर रोड के अलावा अन्य नप एरिया की है जिनको भी चेक करने के बाद हैंडओवर कर दिया जाएगा।

गढ़ी बोलनी रोड की नहीं बनी सहमति, पायलट चौक तक का नप का एरिया

सर्वे के दौरान गढ़ी बोलनी रोड की कसौला चौक तक की लाइटों को लेकर भी बातचीत हुई लेकिन नप अधिकारियों ने साफ कहा कि नगर परिषद का एरिया राजेश पायलट चौक तक का ही है। ऐसे में इससे आगे की लाइटों को टेकओवर नहीं किया जाएगा। ऐसे में अब पायलट चौक से कसौला चौक की लाइटों का जिम्मा पीडब्लयूडी के पास ही रहेगा।

पीडब्लयूडी ने इसके लिए डेढ़ साल से एस्टीमेट भेजा हुआ है जो कि अभी तक मंजूर ही नहीं हुआ है। नप के एमई अजय सिक्का का कहना कि इस मामले में हमने पहले ही क्लीयर कर दिया था। उन्होंने बताया कि लाइटों की चेकिंग का सर्वे नियमित किया जा रहा है।

दुरुस्त हो चुकी लाइटें कर ली गई हैं टेकओवर, बाकी जल्द : ईओ

कमेटी के साथ हमारे अधिकारियों ने ज्वाइंट सर्वे किया था जिसके बाद सरकुलर रोड को छोड़कर शेष रूटों की लाइटें दुरुस्त मिली है। इन लाइटों को हमने टेकओवर कर लिया है और सरकुलर रोड की भी सही हो जाने के बाद उन्हें भी टेकओवर कर लिया जाएगा। -अभयसिंह यादव, ईओ, नगर परिषद, रेवाड़ी।

खबरें और भी हैं...