पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ठगी का जाल:प्लॉट में मोबाइल टावर लगाने का झांसा देकर खातों में जमा करा लिए 7.50 लाख रुपए

रेवाड़ी16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोसली निवासी पावर प्लांट में काम करने वाले व्यक्ति से की ठगी

खाली प्लॉट में टॉवर लगवाने का झांसा देकर शातिरों ने कोसली निवासी एक व्यक्ति से खातों में 7.50 लाख रुपए जमा करा लिए। पूरी राशि जमा कराने के बाद शातिरों ने कहा कि उनकी गाड़ी सामान लेकर फरुखनगर टोल पर आ गई और ले जाओ।

पीड़ित जब वहां पर पहुंचा तो कोई नहीं मिला और उसके बाद कॉल की तो सभी मोबाइल नंबर बंद मिले। इसके बाद पीड़ित को अपने साथ ठगी का अहसास हुआ है। शिकायत मिलने के बाद साइबर थाना पुलिस को शिकायत दी गई जिस पर पुलिस ने केस दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।

पुलिस को दी शिकायत में रविंद्र कुमार ने बताया कि वह झाड़ली पॉवर प्लॉट में नौकरी करता है। उनके पास जून माह में फोन पर एक मैसेज आया था, जिसमें अपने खाली प्लॉट में मोबाइल टॉवर लगवाने और एडवांस दिए जाने की बात कही गई थी। इसके बाद किसी पूजा शर्मा नाम की युवती का फोन आया जिसमें उन्होंने कहा कि उनके गांव में उन्हें जिओ कंपनी का टावर लगाना है।

चूंकि गांव में अभी कुछ समय पहले कंपनी ने इंटरनेट की केबल डालने का काम किया था जिससे पीड़ित ने उनकी बातों पर विश्वास कर लिया। इसके बाद रविंद्र कुमार के सहमत होने पर शातिरों ने पहली बार में अपने खाते में 60 हजार रुपए डलवा लिए।

इसके दो दिन बाद फिर फोन आया कि आपके यहां टॉवर लगाने के लिए गाड़ी रवाना कर दी गई है और रास्ते में गाड़ी खराब हो गई इसलिए 1.12 लाख रुपए खाते में जमा करा दो। इस पर पीड़ित ने विश्वास करते हुए यह राशि ट्रांसफर कर दी।

तत्पश्चात दो दिन बाद फिर फोन आया कि गाड़ी को आरटीओ ने पकड़ लिया है इसलिए पैसे देने होंगे। इसके बाद 8 हजार रुपए जमा करा लिए। अगले दिन फिर टॉवर की एनओसी के नाम पर 1.50 लाख रुपए जमा करा लिए।

इस प्रकार शातिरों ने 7.50 लाख रुपए जमा करा लिए और 20 जून को कहा कि गाड़ी फर्रुखनगर के टोल पर पहुंच गई आप आकर इन्हें गांव ले जाओ। पीड़ित जब वहां पर पहुंचा तो वहां पर कोई नहीं मिला। इसके बाद उन नंबरों पर फोन किया तो सभी नंबर बंद मिले।

खबरें और भी हैं...