हरियाणा में बड़ा हादसा:KMP एक्सप्रेस-वे पर तेज रफ्तार ट्रक ने कार को टक्कर मारी, तीन महिलाओं समेत 8 लोगों की मौत

बहादुरगढ़एक महीने पहले
कुछ लोगों को टॉयलेट जाना था, इसलिए कार को हाईवे के किनारे रुकवाया था, तभी हादसा हो गया। टक्कर लगते ही कार पलटकर दूर जा गिरी।

दिल्ली से सटे बहादुरगढ़ में कुंडली-मानेसर-पलवल (KMP) एक्सप्रेस-वे पर शुक्रवार सुबह बड़ा हादसा हो गया। बादली के पास एक कार को ट्रक ने टक्कर मार दी। इस हादसे में 8 लोगों की मौत हुई है। इनमें 3 पुरुष, 3 महिलाएं और 2 बच्चे शामिल हैं। हादसे में एक महिला, एक बच्ची और कार चालक घायल है। मारे गए सभी लोग उत्तरप्रदेश के रहने वाले हैं। इनमें से एक को छोड़कर अन्य सभी एक ही परिवार के थे और राजस्थान के गोगामेड़ी से वापस घर जा रहे थे। हादसे में गंभीर रूप से जख्मी हुई एक महिला को रोहतक पीजीआई में भर्ती कराया गया।

उत्तरप्रदेश के फिरोजाबाद जिले के नंगला अनूप गांव के शिव कुमार, उनकी पत्नी मुन्नी देवी, बेटा मनोज, पुत्रवधु स्वीटी, बेटी खुशबू व आरती और आरती की बेटी आंशी, खुशबू का बेटा प्रियांशु व मनोज की डेढ़ साल की बेटी श्री दो दिन पहले राजस्थान के गोगामेड़ी में दर्शन करने के लिए गए थे। ये लोग अपने पड़ोसी बबलू की कार किराए पर ले गए। बबलू भी इनके साथ गया और कार यूपी के करहेटा का अमन चला रहा था। गोगामेड़ी में माथा टेकने के बाद 21 अक्टूबर की रात सभी लोग वापस यूपी के लिए रवाना हुए। शुक्रवार सुबह बादली के पास केएमपी एक्सप्रेस-वे पर सड़क किनारे साइड में एक ट्रक खड़ा था। रातभर के सफर की वजह से कुछ लोगों ने टॉयलेट वगैरह जाने की बात कही तो अमन ने अपनी कार साइड में लगाकर उस ट्रक के पीछे रोक दी। उसी समय पीछे से आ रहे एक तेज रफ्तार ट्रक ने उनकी कार को टक्कर मार दी।

टक्कर इतनी तेज थी कि इससे ट्रक भी बुरी तरह डैमेज हो गया। हालांकि, इसका ड्राइवर खतरे को भांपकर मौके से फरार हो गया।
टक्कर इतनी तेज थी कि इससे ट्रक भी बुरी तरह डैमेज हो गया। हालांकि, इसका ड्राइवर खतरे को भांपकर मौके से फरार हो गया।

दोनों ट्रकों के बीच फंस गई कार
जोरदार धमाके के साथ पीछे से ट्रक की टक्कर लगने से कार का आधा हिस्सा आगे खड़े ट्रक में जा घुसा। जो हिस्सा बचा, उसके परखच्चे पीछे टक्कर मारने वाले ट्रक ने उड़ा दिए। एक्सीडेंट के बाद हाइवे से गुजर रहे वाहनचालकों ने आरती और अमन को तो बड़ी मुश्किल से बाहर निकाल लिया मगर बाकी लोग कार में ही फंस गए। उधर एक्सीडेंट के बाद दोनों ट्रकों के ड्राइवर मौके से फरार हो गए। बाद में पुलिस की मदद से लोगों को कार से निकाला गया। गंभीर चोटों की वजह से आरती को रोहतक पीजीआई में और बच्ची को बहादुरगढ़ अस्पताल में भर्ती कराया गया। आरती का ससुराल यूपी के मैनपुरी जिले के गोदंई गांव में है और वह गोगामेड़ी जाने के लिए कुछ दिन पहले ही अपने मायके नंगला अनूप आई थी।

एक झटके में परिवार खत्म
इस एक्सीडेंट में मरने वाले आठ लोगों में से 7 एक ही परिवार के हैं। मरने वालों की पहचान शिवकुमार (60), मुन्नी देवी (55), बेटा मनोज (30), स्वीटी (25), खुशबू, प्रियांशु (8), श्री (डेढ़ साल) और बबलू के रूप में हुई। घायलों में 20 साल की आरती, आरती की 3 साल की बेटी आंशी और कार चालक अमन शामिल हैं। हादसे की सूचना मिलते ही यूपी के नंगला अनूप गांव में परिवार के रिश्तेदार बहादुरगढ़ के लिए रवाना हो गए।बादली पुलिस ने फरार ट्रक चालकों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया।

राहगीरों ने पुलिस को दी सूचना
राहगीरों ने तुरंत बचाव अभियान चलाते हुए कार से घायलों को बाहर निकाला, लेकिन उनमें से 8 की मौत हो चुकी थी। एक महिला और बच्ची की सांसें चल रही थीं, जिन्हें तुरंत बहादुरगढ़ अस्पताल ले जाया गया। हादसे की सूचना राहगीरों ने ही पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने शव अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिए।

डीसी पहुंचे दुर्घटनास्थल का जायजा लेने
झज्जर के डीसी श्याम लाल पूनिया ने बादली के एसडीएम विशाल कुमार और दूसरे अधिकारियों के साथ दुर्घटनास्थल का जायजा लिया और भविष्य में दोबारा ऐसे एक्सीडेंट न हो, इसके लिए अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए। डीसी ने झज्जर के सीएमओ को घायलों के उचित उपचार के भी निर्देश दिए।