गीता जयंती महोत्सव:झांकियों के साथ सजकर निकली नगर शोभायात्रा से पीतल नगरी हुई गीतामयी, कलाकारों ने मंच पर मचाया धमाल

रेवाड़ीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वार हीरो को किया सम्मानित, कलाकारों का भी सम्मान,  वक्ता बोले- वेदों और पुराणों में गीता का सार समाहित, इसे आत्मसात करें । - Dainik Bhaskar
वार हीरो को किया सम्मानित, कलाकारों का भी सम्मान,  वक्ता बोले- वेदों और पुराणों में गीता का सार समाहित, इसे आत्मसात करें ।

अंतरराष्ट्रीय गीता जयंती महोत्सव 2021 के अंतिम दिन मंगलवार को नगर शोभा यात्रा निकाली गई। मनोहारी झांकियों के साथ शहरभर में निकली शोभा यात्रा को डीसी यशेंद्र सिंह ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। यह यात्रा हिन्दू हाई स्कूल से शुरू होकर महाराणा प्रताप चौक पहुंची।

जहां पर शोभा यात्रा का जोरदार स्वागत किया गया। यात्रा ने बावल चौक से होते हुए आगे का सफर तय किया तथा महाराजा अग्रसेन चौक पहुंची। इसके बाद नगर शोभा यात्रा, भाड़ावास गेट, मोती चौक, घंटेश्वर मंदिर, गोकल गेट, झज्जर चौक, धारूहेडा चुंगी, जगन गेट, अंबेडकर चौक व शिव चौक होते हुए वापस बाल भवन महोत्सव स्थल पर पहुंची।

यात्रा का मुख्य सार्वजनिक स्थलों पर स्वागत किया गया। डीसी यशेन्द्र सिंह ने कहा कि मानव लोभ, लालच, मोह, व अहंकार जैसे विकारों से घिर रहा है, ऐसे में गीता उपदेश की जरूरत और बढ़ जाती है। वेदों का सार पुराणों में है और पुराणों का सार गीता में समाहित है।

इससे पहले प्रात:कालीन सत्र में बावल के एसडीएम संजीव कुमार ने तीसरे दिन के महोत्सव का शुभारंभ किया। दोपहर 12 बजे प्रदेशभर में भागीदार बनते हुए शिक्षा विभाग के शिक्षकों और धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों सहित गीतापुरम में उपस्थित जनसमूह ने अष्टादश श्लोकों का विधिवत उच्चारण किया। जिससे पूरे पंडाल का वातावरण भक्तिमय हो गया।

कलाकार मुकेश कुमार ने शिव तांडव स्त्रोत की शानदार प्रस्तुति देकर खूब तालियां बटोरीं। नाहड़ स्कूल की छात्राओं ने योग का शानदार प्रदर्शन किया। सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के कलाकारों ने भक्ति गीत की बेहतरीन प्रस्तुति दी।

कार्यक्रम के तीनों दिन मृदुल आश्रय संस्था रेवाड़ी द्वारा सरकारी स्कूलों, अस्पतालों और विभिन्न संस्थाओं को फूलों के पौधे वितरित किए गए। रेवाड़ी पुष्प अभियान के तहत एक करोड़ पुष्प पौधे वितरण के उद्देश्य को लेकर संस्था निरन्तर प्रयासरत है। महोत्सव में स्वच्छता की शपथ भी दिलाई गई।

शाम के समय दीपों से सजा बाल भवन

गीतापुरम के रूप में सजाया गया बाल भवन शाम को दीपों से सजा नजर आया। शिव सेना, गुरूद्वारा, ब्राह्मण सभा, श्याम सेवा समिति, प्रजापति ब्रह्मकुमारी (ओम शांति), गौ रक्षा सेवा समिति, वेद प्रचार मण्डल, व्यापार मण्डल, जीओ गीता, यदुवंशी स्कूल, सूरज स्कूल, आरपीएस स्कूल, नगर परिषद रेवाड़ी, गौ सेवा समिति, आर्य समाज, श्री श्याम सेवा मण्डल की शानदार झांकियों का प्रदर्शन किया। झांकियों को देखकर ऐसा प्रतीत हो रहा था मानो देवलोक धरती पर उतर आया हो। इस शोभा यात्रा में जिले के विभिन्न स्कूलों, गैर सरकारी संगठनों, सामाजिक एवं धार्मिक संस्थाओं के प्रतिनिधि श्रीमदभगवद्गीता के श्लोकों व मंत्रों का उच्चारण कर रहे थे।

ये रहे कार्यक्रम में मौजूद

समापन समारोह में एडीसी एवं ओवरऑल इंचार्ज आशिमा सांगवान, एसडीएम रेवाड़ी रविन्द्र यादव, एसडीएम बावल संजीव कुमार, नगराधीश रोहित कुमार, डीडीपीओ एचपी बंसल,डीईओ राजेश कुमार, डीईईओ कपिल पूनिया, डीआरओ राजेश ख्यालिया, डीआईपीआरओ दिनेश कुमार, तहसीलदार प्रदीप देशवाल, एआईपीआरओ सुरेश गुप्ता व अश्वनी, कर्नल जेडी सिंह, रवि चौहान, अजय मितल, रिपुदमन गुप्ता, डा. रामफल शास्त्री, दलीप शास्त्री, अनील कुमार, नेमीचन्द संडिल्य, सतीश मस्तान, रमेश वशिष्ठ, आरके जांगड़ा, रिटायर्ड डीईओ धर्मवीर सिंह, डिप्टी डीईओ वीरेंद्र नारा, मंडल प्रभारी दीपा भारद्वाज सहित विभिन्न सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि व प्रबुद्ध लोग मौजूद रहे।

प्रतिभागी कमिश्नर व डीसी से सम्मानित

महोत्सव के अंतिम दिन गुड़गांव मंडल आयुक्त राजीव रंजन ने डीसी यशेन्द्र सिंह के साथ विभिन्न विभागों द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन किया। राजीव रंजन ने पूर्व रिसालदार नसन्हड़ सिंह मिलिट्री क्रॉस के परिजन व जिले के वॉर हीरो को सम्मानित किया। सेवानिवृत मेजर जनरल डा. वीके सिंह का संदेश पढ़कर सुनाया। इस दौरान आयुक्त राजीव रंजन व उपायुक्त यशेन्द्र सिंह ने प्रतिभागियों को किया सम्मानित किया।

सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग हरियाणा और जिला प्रशासन ओर से गीतापुरम में पिछले तीन दिनों से चले रहे महोत्सव का मंगलवार की शाम गीता पर आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रमों व पारितोषिक वितरण के साथ समापन हो गया। प्रदीप जैल पुरिया व डा. ज्योत्सना ने कार्यक्रम में मंच संचालन की भूमिका बखूबी निभाई।

खबरें और भी हैं...