पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • Rewari
  • After 5 And A Half Months, The Councilors Took The Oath, Now A Meeting Will Be Held To Choose The Vice President; All 17 Councilors Took Oath

नगर पालिका धारूहेड़ा:साढ़े 5 माह बाद पार्षदों ने ली शपथ अब उप-प्रधान चुनने के लिए की जाएगी बैठक; सभी 17 पार्षदों ने शपथ ग्रहण की

रेवाड़ीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
धारूहेड़ा में आयोजित समारोह में पार्षदों ने ली शपथ। - Dainik Bhaskar
धारूहेड़ा में आयोजित समारोह में पार्षदों ने ली शपथ।
  • समारोह में सहकारिता मंत्री डॉ. बनवारी व विधायक चिरंजीव पहुंचे
  • पालिका प्रधान चुने जाने तक उप प्रधान को दी जा सकती है पावर

नगर पालिका धारूहेड़ा के पार्षदों को आखिर चुनाव जीतने के बाद साढ़े 5 महीने बाद शपथ ग्रहण का मौका मिला। अतिरिक्त उपायुक्त राहुल हुड्डा ने निर्वाचित सभी 17 नगर पार्षदों को विधि द्वारा स्थापित भारत के संविधान के प्रति कर्तव्य का निर्वहन करने की शपथ दिलवाई। समारोह में मुख्य रूप से सहकारिता मंत्री डॉ. बनवारी लाल के साथ ही रेवाड़ी विधायक चिरंजीव राव ने भी शिरकत की।

उन्होंने पार्षदों को बेहतर कार्यकाल की शुभकामनाएं दी। शपथ के साथ ही नगर पालिका धारूहेड़ा का गठन हो गया है। बता दें कि धारूहेड़ा नपा के चुनाव 27 दिसंबर 2020 को कराए गए थे। 30 दिसंबर को परिणाम जारी होने के बाद से ही प्रधान की सर्टिफिकेट विवाद में शपथ नहीं हो पाई।

कैबिनेट मंत्री डॉ. बनवारी लाल ने कहा कि शहर के विकास के लिए सभी एकजुट होकर कार्य करें, ताकि आने वाले समय में धारूहेड़ा प्रगति के पथ पर तेजी से बढ़ सके। उन्होंने कहा कि चुने हुए प्रतिनिधि को पांच साल के लिए सेवा करने का मौका मिलता है, इस दौरान यदि वे ईमानदारी के साथ विकास कार्य में रूचि रखेंगे तो जनता उन्हें पुन: अवसर प्रदान करती है।

विधायक चिरंजीव राव ने भी नवनिर्वाचित पार्षदों को कस्बा के विकास के लिए एकजुट होकर कार्य करने को कहा। उन्होंने कहा कि सहयोग की भावना से ही विकास को गति दी जा सकती है। इस मौके पर नगर पालिका धारूहेड़ा सचिव अनिल कुमार, पालिका अभियंता संजय बंसल, बिल्डिंग इंस्पेक्टर नवल किशोर, बिजेंद्र सहित अन्य स्टाफ मौजूद रहा।

प्रधान शपथ से पहले हट चुके

नगर पालिका धारूहेड़ा का गठन वर्ष 2008 में हुआ था। उसके बाद से 3 ही बार चुनाव हुए हैं। इनमें 3 प्रधान पहले रह चुके हैं तथा चौथे प्रधान का फैसला दिसंबर 2020 में हुए चुनाव में हो गया था, मगर उनकी सर्टिफिकेट विवाद में उन्हें पद से हटा दिया गया।

इस बारे में उन्होंने न्यायालय में भी याचिका दायर की हुई है। अब ये भविष्य में ही तय होगा कि प्रधान का चुनाव कब और किन परिस्थतियों में कराया जाएगा। उससे पहले अगल ही बैठक में उप प्रधान का चुनाव हो सकता है। प्रशासन जल्द ही बैठक बुला सकता है।

उप-प्रधान के लिए जमा-घटा शुरू, अभी कहीं बहुमत नहीं

हाउस का गठन हो गया, मगर अभी तक प्रधान का फैसला नहीं हुआ है। ऐसे में प्रशासक ही कामकाज चला रहे हैं। उप प्रधान का चुनाव होने के बाद उन्हें शहरी स्थानीय निकाय निदेशालय की ओर से डीडी पावर दी जा सकती है। इस स्थिति में प्रधान चुने जाने तक उप प्रधान कामकाज संभालेंगे। इसलिए उपप्रधान चुनने के लिए पार्षदों की संख्या का जमा घटा शुरू हो गया है। फिलहाल किसी एक पार्टी के पास बहुमत नजर नहीं आ रहा।

17 पार्षदों ने ली शपथ, रुकवाने के भी हुए थे प्रयास

धारूहेड़ा के 17 पार्षदों सुमित्रा देवी, सरोज बाला, राज कुमार, सत्यनारायण, अनिरुद्ध, प्रशांत यादव, राजबीर यादव, राहुल जोशी, मंजू, शीशपाल यादव, धर्मवीर, कृष्ण, पजा, मनीष सैनी, पुष्पा व मनोज कुमार ने शपथ ग्रहण की। इससे कुछ माह पहले नगर पार्षदों ने सरकार को ज्ञापन भेजा तथा मांग रखी कि उनका शपथ ग्रहण समारोह आयोजित कराया जाए। अब हाल ही में समय पर शपथ नहीं दिलाए जाने का हवाला देकर इसे रोकने के लिए भी एक शिकायत डीसी के पास पहुंची थी।

खबरें और भी हैं...