पेयजल शॉर्टेज:अल्टरनेट-डे के बाद आज से सप्लाई के समय में भी 10 मिनट की कटाैती की

रेवाड़ी3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • नहर में पानी एक सप्ताह की देरी से आएगा, पहले मकर सक्रांति पर उम्मीद थी

इस बार जवाहरलाल नेहरू नहर में 30 दिन में पानी पहुंचेगा। ऐसे में शहर में पानी का संकट और गहरा सकता है। जनस्वास्थ्य विभाग की ओर से 18 दिन से अल्टरनेट-डे सप्लाई छोड़ी जा रही है, लेकिन अब पानी सप्लाई के समय में भी कटौती की जाएगी। अब सप्लाई समय में 5 से 10 मिनट की कमी की जाएगी। यह राशनिंग नहरी पानी के शेड्यूल में बदलाव होने पर किया गया है।

पीएचईडी के कनिष्ठ अभियंता अजय यादव ने बताया कि 22 दिसंबर को जवाहरलाल नेहरू नहर में पानी चलना बंद हो गया था। नहरी पानी में देरी के चलते ही शहर में एक दिन छोड़कर एक दिन पानी की सप्लाई देनी शुरू की गई थी। बता दें कि शहर में नहरी पानी पर आधारित पेयजल परियोजना है, जिसके लिए कालाका में 5 और लिसाना जलघर में दो वाटर टैंक बनाए हुए हैं। इन टैंकों से पानी शहर में बनाए गए बूस्टिंग स्टेशनों के माध्यम से कॉलोनियों में पहुंचता है।

सर्दी में भी गर्मी की तरह पानी की किल्लत

जिले में गर्मी के दिनों में तो पानी की किल्लत रहती ही है, लेकिन सर्दी में भी पानी की समस्या गहराई हुई है। नहरी पानी के शेड्यूल में बदलाव होने से यह समस्या गहराने लगी है। इस बार भी कई दिनों से पानी की दिक्कत चल रही है। जिले में 22 दिसंबर को नहर में पानी चलना बंद हाे गया था। पहले शेड्यूल अनुसार 14 जनवरी को नहर में पानी आना था, लेकिन अब 19 जनवरी को सोनीपत की खुबड़ू माइनर से पानी छोड़ा जा सकता है। दो दिन में वहां से रेवाड़ी जेएलएन नहर में पानी पहुंचेगा।

खबरें और भी हैं...