• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • Rewari
  • After The Murder Of BSc Student In Mahendragarh, The Family Is Scared, The Criminal Record Of The Master Mind Of The Murder Case, Most Of The Accused Are Still Absconding.

हरियाणा में मॉब लिचिंग…आरोपियों ने खुद वायरल किया वीडियो:इलाके में अपनी दहशत कायम करना चाहते थे; 4 दिन बाद भी 5 आरोपी फरार, मारे गए गौरव का परिवार खौफ में

रेवाड़ी/महेन्द्रगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गौरव के परिवार के सदस्यों से पूछताछ करती पुलिस। - Dainik Bhaskar
गौरव के परिवार के सदस्यों से पूछताछ करती पुलिस।

हरियाणा में मॉब लिंचिंग का शिकार हुए पिछड़ी जाति के गौरव की जान लेने वाले दबंग इलाके में अपनी दहशत कायम करना चाहते थे। इसलिए उन्होंने पहले खुद गौरव की पिटाई का वीडियो बनाया और फिर उसे वायरल भी किया। यह बात अलग है कि यही वीडियो अब आरोपियों के खिलाफ बड़ा सबूत बन चुका है। गौरव की जान लेने वालों की पहुंच का अंदाजा इससे भी लगाया जा सकता है कि हत्याकांड का मास्टरमाइंड रवि यादव और उसके बाकी साथी घटना के 4 दिन बाद भी पकड़े नहीं जा सके। पुलिस सिर्फ होटल पर काम करने वाले एक कर्मचारी को पकड़ पाई है।

उधर महेन्द्रगढ़ शहर से 8 किलोमीटर दूर बवाना गांव में रहने वाले गौरव के पिता देवेंद्र यादव अपने बेटे की पिटाई का वीडियो देखने के बाद से खौफ में हैं। आंखों में आंसू के साथ सिसकियों के बीच अपनी बात रखते देवेंद्र यादव की लाचारी और दुख को समझना बहुत मुश्किल है। 9 अक्टूबर शनिवार को 18 साल के गौरव के साथ जो हुआ, उस पर उसके पिता देवेंद्र यादव के साथ दैनिक भास्कर की डिजिटल टीम के रिपोर्टर ने बात की।

दबंगों की पिटाई के कारण जान गंवाने वाले गौरव यादव के पिता देवेन्द्र यादव।
दबंगों की पिटाई के कारण जान गंवाने वाले गौरव यादव के पिता देवेन्द्र यादव।

देवेन्द्र यादव के अनुसार, ‘शनिवार दोपहर का समय था। मैं घर पर ही था। तभी गौरव ने मेरी पत्नी और अपनी मां स्वीटी को कॉल किया मगर वह सही तरीके से बोल नहीं पा रहा था। घबराई स्वीटी ने तुरंत फोन मुझे पकड़ा दिया। गौरव की आवाज सुनते ही मुझे अनहोनी की आशंका हो गई। उसी समय गांव के एक व्यक्ति ने मालड़ा गांव के होटल पर गौरव के साथ मारपीट की खबर दी। मैं अपने पिता (गौरव के दादा) कृष्ण यादव के साथ बदहवासी की हालत में उस होटल पर पहुंचा जहां रवि यादव और उसके दोस्त बेरहमी से गौरव को पीट रहे थे।

मैंने और मेरे पिता ने रवि के आगे हाथ-पैर जोड़कर बड़ी मुश्किल से गौरव को छुड़वाया और उसे लेकर महेंद्रगढ़ के सरकारी अस्पताल पहुंचे। हालत खराब होने के कारण डॉक्टरों ने गौरव को बड़े अस्पताल में ले जाने की सलाह दी। हम गौरव को लेकर महेंद्रगढ़ अस्पताल से निकले ही थे कि उसका शरीर ठंडा पड़ गया। हम गौरव को दोबारा महेन्द्रगढ़ अस्पताल ले गए जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।’

गौरव ने दी आरोपियों के गुनाह की जानकारी
देवेन्द्र यादव के अनुसार, जब वह मालड़ा गांव के होटल से गौरव को अस्पताल ले जा रहे थे तब उसी ने बताया कि रवि यादव ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर किस तरह होटल के पीछे ले जाकर पीटा। गौरव ने बताया कि वह महेन्द्रगढ़ से बाइक पर घर आ रहा था। रास्ते में पहले से होटल पर बैठे रवि यादव और उसके दोस्तों ने उसे पकड़ लिया और बेरहमी से पीटने लगे। उसने बहुत मिन्नतें की मगर रवि ने एक नहीं सुनी।

मारे गए गौरव यादव के दादा कृष्ण यादव।
मारे गए गौरव यादव के दादा कृष्ण यादव।

मास्टरमाइंड का आपराधिक रिकॉर्ड
गौरव की हत्या में शामिल ज्यादातर आरोपी उसी की जाति से ताल्लुक रखते हैं और मालड़ा गांव के रहने वाले हैं। मास्टरमाइंड रवि यादव पर कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। रवि ने अपने गांव में होटल खोल रखा है जहां वह अवैध शराब बेचता है। देवेंद्र यादव के अनुसार, घटना से कुछ दिन पहले रवि और गौरव की फोन पर कुछ बात हुई जिसमें रवि गौरव को गालियां दे रहा था। गौरव ने यह बात मुझे बताई तो मैंने गौरव को यह कहते हुए समझा दिया कि मैं रवि के परिवार से बात करुंगा। मुझे नहीं पता था कि रवि मेरे बेटे की जान ही ले लेगा।’

हत्या का केस दर्ज किया मगर आरोपी नहीं पकड़े
गौरव के पिता देवेंद्र यादव की शिकायत पर कनीना पुलिस ने 9 अक्टूबर को ही रवि यादव और उसके 5 दोस्तों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। आरोपियों में रवि यादव के दोस्त मोहन, अजय, प्रीतम निवासी मालड़ा गांव, सुखदेव उर्फ भांजा निवासी नौताना गांव और विक्की फुकरा निवासी नांगल हरनाथ गांव शामिल है। पुलिस ने इस केस में होटल पर काम करने वाले विक्की फुकरा के अलावा बाकी किसी को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया है। गौरव के परिवार का सवाल है कि वीडियो में सबके चेहरे साफ दिखने के बावजूद आरोपियों को पकड़ा क्यों नहीं जा रहा।

मालड़ा और बवाना की दूरी 2 किलोमीटर
मालड़ा गांव में रवि यादव के जिस होटल पर गौरव को पीटा गया, उसके और गौरव के गांव बवाना की दूरी 2 किलोमीटर है। गौरव के परिवार के अनुसार, होटल की आड़ में रवि गैरकानूनी काम करता है। उसके होटल पर असामाजिक तत्वों का जमावड़ा लगा रहा है। वारदात के बाद से होटल बंद है।

आरोपियों की तलाश में लगी है तीन टीमें
कनीना थाने के इंचार्ज संतोष कुमार का दावा है कि पुलिस की 3 अलग-अलग टीमें आरोपियों की तलाश में लगी हैं। मुख्य आरोपी रवि यादव का आपराधिक रिकॉर्ड है। एक आरोपी रवि फुकरा पकड़ा जा चुका है और जल्दी ही बचे हुए आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...