पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • Rewari
  • Agriculture College Bawal Will Now Be Able To Do One year Diploma In Agricultural Chemicals And Fertilizers, Applications Start On 30 Seats

आवेदन शुरू:कृषि कॉलेज बावल में अब कृषि रसायन और उर्वरक में भी कर सकेंगे एक वर्षीय डिप्लोमा, निर्धारित 30 सीटों पर आवेदन शुरू

रेवाड़ीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 12वीं कक्षा के अंकों और अनुभव के आधार पर बनेगी मेरिट, चार अगस्त तक होंगे आवेदन

चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय हिसार के अंतर्गत आने वाले जिला के बावल कृषि महाविद्यालय में पहली बार कृषि रसायन एवं उर्वरक में एक वर्षीय डिप्लोमा कोर्स शुरू किया गया है। यह कोर्स युवाओं को स्वावलंबी बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। कोर्स के लिए आवेदन भी शुरू हो गए और 4 अगस्त अंतिम तिथि रखी गई है। कोर्स में कुल 30 सीटें निर्धारित की गई हैं, जिसमें से अनुसूचित जाति के उम्मीदवारों के लिए 20 प्रतिशत, पिछड़ी जाति के उम्मीदवारों के लिए 27 प्रतिशत और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए 10 प्रतिशत सीटें शामिल हैं।

आवेदन के लिए 12वीं पास होना जरूरी है और 18 से 55 वर्ष तक की आयु के अभ्यर्थी भी आवेदन कर सकते हैं। कोर्स संबंधी फीस, दाखिला प्रक्रिया व अन्य जानकारियां उम्मीदवार विश्वविद्यालय की वेबसाइट www.hau.ac.in से भी प्राप्त कर सकते हैं। बता दें कि इस तरह के रोजगारपरक कोर्स विवि के अंतर्गत पहले भी शुरू किए जा चुके हैं। अब यह कोर्स हिसार विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. केपी सिंह के मार्गदर्शन में शुरू किया है। सेमेस्टर सिस्टम होगा लागू

कृषि कॉलेज के प्राचार्य एवं कोर्स के निदेशक डॉ. नरेश कौशिक ने बताया कि दो सेमेस्टर वाले इस डिप्लोमा में दाखिला 12वीं कक्षा में प्राप्त अंकों और संबंधित क्षेत्र में अनुभव के 80:20 के अनुपात में किया जाएगा। इसके लिए कम से कम 6 महीने और अधिकतम दो वर्ष का अनुभव ही मान्य होगा।

फाॅर्म वेबसाइट से लें, आवेदन ऑफलाइन होगा 

डॉ. जेएस यादव ने बताया कि डिप्लोमा के लिए ऑफलाइन ही आवेदन करने होंगे। इसके लिए अलग-अलग कैटेगरी अनुसार प्रिंसिपल कृषि महाविद्यालय के नाम डिमांड ड्राफ्ट लगाकर कॉलेज में ही जमा कराना होगा। आवेदन फार्म वेबसाइट से डाउनलोड किया जा सकता है। इसके अलावा जरूरी कागजातों में 10वीं, 12वीं सर्टिफिकेट, मूल निवास प्रमाण पत्र, जाति प्रमाण पत्र, आयकर प्रमाण पत्र सहित संबंधित दस्तावेज लगाए जाएंगे।

तकनीकी योग्यता बढ़ाने में मिलेगी मदद : यह डिप्लोमा उन अभ्यार्थियों के लिए फायदेमंद होगा जिनको कृषि रसायन और उर्वरक संबंधी कृषि में उपयोग के लिए विस्तार कार्यकर्ता, एग्री इनपुट डीलर और अन्य तकनीकी योग्यता को बढ़ाने में सहायक होगा। इस कोर्स को करने के बाद डिप्लोमाधारक किसान समुदाय की कृषि रसायन और उर्वरक संबंधी उपयोग के लिए बेहतर ढंग से सहायता कर सकेंगे। कॉलेज के कोर्डीनेटर एवं प्रधान वैज्ञानिक डॉ. जोगिंद्र सिंह यादव ने बताया कि इस कोर्स में विद्यार्थियों को शस्य विज्ञान, मृदा विज्ञान, कीट विज्ञान और पादप विज्ञान विषयों की मौलिक शिक्षा दी जाएगी। ताकि विद्यार्थी कृषि संबंधित इंडस्ट्री में रोजगार प्राप्त कर सके।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें