पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पुलिस की कार्रवाई:अलवर रूट के रेलवे सिग्नल की बैटरियां चोरी कर खेत में छिपाईं, अगले दिन लेने पहुंचे तो पकड़े गए

रेवाड़ी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रेवाड़ी। आरपीएफ द्वारा सिग्नल से बैटरी सहित अन्य उपकरण चोरी करने के गिरफ्तार आरोपी। - Dainik Bhaskar
रेवाड़ी। आरपीएफ द्वारा सिग्नल से बैटरी सहित अन्य उपकरण चोरी करने के गिरफ्तार आरोपी।
  • आरपीएफ ने पश्चिम बंगाल के दो आरोपियों को किया गिरफ्तार, 27 दिसंबर को भी चुराए थे उपकरण

रेवाड़ी-अलवर ट्रैक स्थित अनाज मंडी यार्ड से चोर करनावास स्टेशन तक के सिग्नल की 9 बैटरी व चार्जर चोरी कर ले गए। आरोपियों ने पुलिस से बचने के लिए चोरी किए गए उपकरणों को अपनी झुग्गियों में ले जाने की बजाय पास के ही खेतों में छिपा दिया।

अगले दिन बारिश शुरू होने के बाद आरोपी सामान लेने पहुंचे तो मुस्तैद आरपीएफ कर्मियों ने उन्हें पकड़ लिया, जिसके बाद चोरी के इस मामले का 24 घंटे में ही खुलासा हो गया। आरपीएफ ने मामला दर्ज करके उपकरण चोरी करने के आरोप में यार्ड के पास झुग्गियों में रहने वाले पश्चिम बंगाल निवासी दो आरोपियों को गिरफ्तार करके आरोपियों से चोरी किए गए उपकरण भी बरामद कर लिए। उधर सिग्नल उपकरण चोरी होने के बाद ट्रेनों के संचालन पर भी असर पड़ा।

उत्तर-पश्चिम रेलवे मंडल जयपुर के मुख्य जनसंपर्क लेफ्टीनेंट शशि किरण ने बताया कि 3 जनवरी की रात को लगभग डेढ़ बजे नई अनाज मंडी यार्ड से करनावास स्टेशन तक के सिग्नलों की बैटरी व चोक चोरी हो गए। उस समय दौलतपुर चौक-चंडीगढ़-जयपुर इंटरसिटी एक्सप्रेस शहर के स्टेशन से रवाना हुई थी। जब ट्रेन नई अनाज मंडी यार्ड में पहुंची तो किसी भी तरह के सिग्नल के संकेत नहीं मिले।

चूंकि उसी समय अधिक कोहरा भी था ऐसे ट्रेन को रोक लिया गया। तत्पश्चात इसकी जानकारी स्टेशन पर दी गई, जिसके बाद आरपीएफ इंस्पेक्टर लक्ष्मण गौड़ कर्मियों के साथ मौके पर पहुंचे। जांच करने पर पता चला कि सिग्नलों की बैटरियां, चौक सहित अन्य उपकरण चोरी हो गए हैं। इसके बाद ट्रेनों को मैनुअल तौर पर रवाना किया।

चोर यार्ड सहित करनावास स्टेशन तक लगे सिग्नलों से बैटरी चुरा ले गए हैं। इसके बाद रात को ही सर्चिंग अभियान चलाया गया लेकिन चोरों का कोई पता नहीं चल पाया। अगले दिन पहुंचे रेलवे के इंजीनियरों ने यहां पर नए उपकरण लगाकर इन्हें सुचारू किया। उधर चोरों की तलाशी में जुटी आरपीएफ रात को कोई सफलता नहीं मिली। अगली सुबह आरपीएफ को सूचना मिली कि चोरी हुई बैटरियां व अन्य उपकरण एक सरसों के खेत में रखे हुए हैं।

सादी वर्दी में जवान कर रहे थे निगरानी

आरोपी बड़े ही शातिर थे और उन्होंने सिग्नलों से बैटरी सहित अन्य उपकरण चोरी करने के बाद उसी समय ले जाने की बजाय ट्रैक से कूछ दूर स्थित सरसों के खेतों में छिपा दिया। इसके बाद अगली सुबह आरपीएफ को सूचना मिल गई कि बैटरी व अन्य उपकरण खेतों में छिपाए हुए हैं।

पुलिस अधिकारियों ने आरोपियों को पकड़ने के लिए जाल बिछाया और वहां पर सादा वर्दी में जवान लगा दिए जो कि गुप्त तरीके से सामान की निगरानी कर रहे थे। दोपहर के समय बारिश शुरू होने के बाद झुग्गियों में रहने वाला आरोपी जब बैटरियों को लेने पहुंचा तो आरपीएफ कर्मियों ने उसे दबोच लिया।

आरोपी पश्चिम बंगाल के रहने वाले, पहले भी की चोरी
आरपीएफ ने दोनों आरोपियों को हिरासत में लेने के बाद पूछताछ शुरू की तो आरोपियों ने चोरी की वारदात को अंजाम देने स्वीकार कर लिया। आरपीएफ इंस्पेक्टर राजकुमार गौड़ ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों ने अपना नाम रिजावुल एवं शेखराजेश बताया। दोनों आरोपी पश्चिम बंगाल के रहने वाले हैं और फिलहाल काफी समय से अनाज मंडी यार्ड में बनी झुग्गियों में रह रहे हैं।

27 दिसंबर को भी की थी चोरी, पूछताछ जारी
मुख्य जनसंपर्क अधिकारी ने बताया कि आरोपियों ने प्रारंभिक पूछताछ में 27 दिसंबर को भी इसी ट्रैक से बैटरी व चोक चोरी करने की वारदात स्वीकार की है। इनसे में इसके संबंध में आरोपियों से घटना के बारे में अभी पूछताछ की जा रही है। आरोपियों ने जो उपकरण पहले चोरी किए गए वे उपकरण बेच दिए गए हैं।

ट्रेनों के संचालन पर भी रहा असर, मैनुअल निकाला
सिग्नल उपकरण चोरी होने के बाद ट्रेनों का संचालन भी प्रभावित रहा। सिग्नल चोरी होने की स्थिति में चंडीगढ़-जयपुर, पूजा एक्सप्रेस, रानीखेत एक्सप्रेस को यहां से बेहद कम रफ्तार से निकाला गया। इस वजह से यहां से जाने वाली और आने वाली ट्रेनें भी कुछ समय विलंब से गंतव्य पर पहुंची।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी विशिष्ट कार्य को पूरा करने में आपकी मेहनत आज कामयाब होगी। समय में सकारात्मक परिवर्तन आ रहा है। घर और समाज में भी आपके योगदान व काम की सराहना होगी। नेगेटिव- किसी नजदीकी संबंधी की वजह स...

    और पढ़ें