पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सामाजिक सरोकार:रोगियों को अस्पताल तक और अस्थियों को गंगा में विसर्जन के लिए ले जाएगी एंबुलेंस

रेवाड़ी9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सामाजिक सरोकार के तहत कोरोना संक्रमितों के लिए चलाई जा रही एंबुलेंस का शुभारंभ करते स्वामी धर्मदेव व हरको बैंक के चेयरमैन अरविंद यादव - Dainik Bhaskar
सामाजिक सरोकार के तहत कोरोना संक्रमितों के लिए चलाई जा रही एंबुलेंस का शुभारंभ करते स्वामी धर्मदेव व हरको बैंक के चेयरमैन अरविंद यादव
  • पंजाबी बिरादरी व सेवा समिति की ओर से की गई पहल

हिंदू धर्म की मान्यता को देखकर पंजाबी बिरादरी व पंचनद सेवा समिति के जिला अध्यक्ष केशव चौधरी ने यह बीड़ा उठाया की श्मशान घाट की सभी अस्थियों को एकत्रित कर उन्हें गंगा में विसर्जित किया जाए। साथ ही कोरोना काल में परेशानी झेल रहे मरीजों को भी अस्पताल तक पहुंचाने का काम किय जाए।

इस काम के लिए खासतौर से एक एंबुलेंस खरीदी गई है, जो कि अब इसी सेवा के लिए संचालित होगी। रविवार को इस एंबुलेंस का पटौदी आश्रम के महामंडलेश्वर स्वामी धर्मदेव महाराज ने रिबन काटकर शुभारंभ किया। विशेषतौर से हरको बैंक चेयरमैन अरविंद यादव मौजूद रहे तथा उन्होंने एम्बुलेंस के लिए ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर भेंट कर अपना सहयोग करते हुए पंजाबी बिरादरी के इस कार्य की प्रशंसा की।

मरीजों के लिए जारी करेंगे नंबर

सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों ने कहा कि अब तक मरीज एंबुलेंस के लिए घंटों का इंतजार करते थे। बहुत बार तो मरीजों से बहुत अधिक राशि वसूली जा रही थी। अब ऐसा नहीं होगा। यह एंबुलेंस उनकी सेवा में लगेगी तथा किसी रोगी को अस्पताल पहुंचने के लिए एंबुलेंस का घंटों इंतजार नहीं करना पड़ेगा। इसके लिए एक नंबर जारी किया जाएगा। जरूरतमंदों की मदद के लिए एंबुलेंस तुरंत पहुंचेगी।

कई लोगों की अस्थियों को विसर्जन का इंतजार

शहर की तीन श्मशान घाटों मे कोविड मृतकों का अंतिम संस्कार किया जाता है। कोरोना प्रोटोकॉल के तहत नगर परिषद के कर्मचारियों ने ही कोरोना से मौत होने वाले शख्स का अंतिम संस्कार किया था। इनमें या तो परिजन अंतिम संस्कार के समय श्मशान घाट पर नहीं पहुंच पाए या फिर अस्थियां नहीं ले जा सके हैं। केशव चौधरी ने बताया कि बहुत से लोगों की अस्थियां श्मशान घाट में ही रखी हुई हैं।

कुछ लोग अस्थियों को एकत्रित करने के बाद श्मशान घाट में ही रख कर चले गए उसके बाद काफी समय बीतने के बावजूद वापस नहीं लौटे। इसलिए इन अस्थियों को गंगा में विसर्जित करने का काम भी किया जाएगा। पंजाबी बिरादरी के प्रधान प्रेम नाथ गेरा भी सामाजिक सहयोग का आश्वासन दिया।

इस मौके पर नगर परिषद के पूर्व प्रधान हरीश अरोड़ा, अनिल अरनेजा, ओमप्रकाश, राजपाल, हनी सरपंच, दिनेश कपूर, अनिल छाबड़ा, सुरेंद्र गांधी, नंदलाल ढींगरा, देवकीनंदन, किशोर नंदवानी, विजय ढींगरा, दिलीप शास्त्री, हेमंत लूथरा, इंद्रजीत लूथरा, धीरज लूथरा, मुकेश खनेजा, अंकित मान, संगीता चौधरी, राशि चौधरी तथा अन्य लोग मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...