काम छोड़ हड़ताल पर बैठे कर्मचारी:ऑटो कंपनी ने 30 कर्मियों को बगैर नोटिस नौकरी से निकाला; कई दौर की बैठक में भी समाधान नहीं

रेवाड़ी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बावल की कंपनी में हड़ताल पर बैठे कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
बावल की कंपनी में हड़ताल पर बैठे कर्मचारी।

हरियाणा के रेवाड़ी स्थित बावल औद्योगिक क्षेत्र की घोसी इंडिया ऑटो पार्ट्स कंपनी में कर्मचारियों ने काम छोड़ हड़ताल कर दी। 5 दिन पहले 30 स्थायी कर्मचारियों को बगैर किसी नोटिस के नौकरी से निकाले जाने के विरोध में कर्मचारी कंपनी के गेट पर बैठे हुए हैं। कई दौर की बातचीत में कोई समाधान नहीं निकल पाया है। हालांकि मंगलवार को भी कंपनी प्रबंधक के साथ कर्मचारी यूनियन की बैठक चल रही है।

मिली जानकारी के अनुसार, बावल औद्योगिक क्षेत्र के सेक्टर-3 स्थित घोसी इंडिया ऑटो पार्ट्स प्राइवेट लिमिटेड कंपनी ने 18 नवंबर को 30 स्थायी कर्मचारियों के लिए गेट बंद कर दिया था। कर्मचारी मनीष, जसवंत, हंसराज, प्रदीप, बलबीर, बलजीत आदि ने बताया कि नौकरी से हटाने के साथ ही कंपनी ने उसी दिन कर्मचारियों के खाते में कुछ पैसे भी डाले। कर्मचारियों का कहना है कि नौकरी से हटाने से पहले कंपनी ने कोई नोटिस नहीं दिया।

कंपनी के बाहर बैठे कर्मचारी।
कंपनी के बाहर बैठे कर्मचारी।

कर्मचारी यूनियन के प्रधान महेश ने बताया कि कंपनी प्रबंधकों से कर्मचारियों को नौकरी से हटाने की वजह पूछी गई तो कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया। उन्होंने कहा कि कंपनी ने कई परिवारों को सड़क पर ला दिया है। या तो कंपनी कर्मचारियों को वापस ले या फिर एक कर्मचारी को 50 लाख रुपए का मुआवजा दे। प्रधान महेश ने बताया कि कंपनी के साथ कई दौर की बातचीत हो चुकी है। आज भी महाप्रबंधक के साथ बातचीत चल रही है।

बता दें कि घोसी इंडिया के प्लांट में कुल 230 कर्मचारी हैं, जिनमें अधिकांश कर्मचारी अपने साथी कर्मचारियों को नौकरी से हटाए जाने के बाद से हड़ताल पर हैं। प्लांट का काम भी प्रभावित है। कर्मचारी गेट पर बैठे हुए हैं। कर्मचारियों ने कहा कि जब तक उन्हें कंपनी में वापस नहीं लिया जाता, तब तक वह हड़ताल जारी रखेंगे।