विरोध प्रदर्शन:प्रधानमंत्री की सुरक्षा में हुई चूक पर भाजपाइयों ने कांग्रेस को घेरा

रेवाड़ी22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सहकारिता मंत्री बोले- पंजाब के सीएम चन्नी​​​​​​​ को पद पर बने रहने का अधिकार नहीं

सहकारिता मंत्री डॉ. बनवारी लाल ने पंजाब में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सुरक्षा में की गई चूक की कड़े शब्दों में निंदा की है। उन्होंने कहा कि यह एक शर्मनाक कृत्य है कि पंजाब के कल्याण के लिए हजारों करोड़ की विकास परियोजनाओं का शुभारंभ करने वहां पहुंच रहे पीएम नरेन्द्र मोदी के काफिले को रोका गया।

पीएम की सुरक्षा में हुई इस चूक में कांग्रेस के षड्यंत्र की बू आ रही है, पंजाब की जनता कांग्रेस को कभी माफ नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी को पद पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री का रूट गोपनीय होता है, लेकिन उसको डिस्कलोज किया गया यह पंजाब सरकार और पुलिस का फेलियर है।

वहां लागू हो राष्ट्रपति शासन : विधायक लक्ष्मण

पंजाब में रैली को संबोधित कर वहां की जनता को करोड़ों रुपये की सौगात देने जा रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में भारी चूक की कोसली विधायक लक्ष्मण सिंह यादव ने घोर निंदा की है। उन्होंने मांग की कि देश के मुखिया की सुरक्षा में लापरवाही बरतने वाली पंजाब सरकार को बर्खास्त कर तुरंत प्रभाव से राष्ट्रपति शासन लागू कर देना चाहिए।

कोसली विधायक ने कहा कि नरेंद्र मोदी देश ही नहीं बल्कि पूरे विश्व के एक बड़े ताकतवर नेता एवं व्यक्तित्व है। उनकी सुरक्षा को लेकर हुए खेल में पंजाब की सरकार पूरी तरह शामिल है। जिसके चलते यह घटना घटित हुई है। पंजाब सरकार भी नहीं चाह रही थी कि प्रधानमंत्री पंजाब में आकर रैली करें।

यह बड़ी राजनीतिक साजिश : वंदना पोपली

भाजपा की प्रदेश प्रवक्ता वंदना पोपली ने बयान जारी कर कहा कि प्रधानमंत्री मंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में भी घोर कोताही बरतकर पंजाब सरकार ने यह साफ कर दिया कि वह सत्ता हासिल करने के लालच में अपने आंखों पर पट्टी बांधकर राष्ट्र विरोधी ताकतों के साथ मिलकर देश के खिलाफ बड़ी साजिश रच रही है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जीवन को खतरे में डालना कांग्रेस की पंजाब चुनाव को लेकर बड़ी राजनीतिक साजिश है। इससे कांग्रेस की असलियत लोगों के सामने आ गई है। भाजपा नेत्री ने कहा कि राष्ट्रपति और राज्यपाल को इस मामले का कड़ा संज्ञान लेते हुए पंजाब सरकार और मुख्यमंत्री चन्नी से इसकी जवाब तलबी करनी चाहिए।

इधर, कैप्टन पंजाब सरकार के बचाव में आए

पूर्व मंत्री कैप्टन अजय सिंह यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में कोई चूक नहीं हुई, बल्कि फिरोजपुर की फ्लॉप रैली की वजह से प्रधानमंत्री को वापस जाना पड़ा। पंजाब सरकार के पास जो कार्यक्रम भेजा गया था उसके अनुसार प्रधानमंत्री को बठिंडा से फिरोजपुर बाई एयर जाना था, लेकिन बाद में बिना किसी को सूचना दिए बठिंडा से फिरोजपुर वे बाई रोड चले गए, उसके बाद सारा दोष कांग्रेस पार्टी पर मंड रहे हैं। जबकि केंद्र सरकार के नए नियम के मुताबिक पाकिस्तान बॉर्डर से 50 किलोमीटर तक सिक्योरिटी बीएसएफ के अंडर आती है, इसके लिए देश के गृहमंत्री अमित शाह जवाब दें कि यह सुरक्षा में चूक कैसे हुई।

खबरें और भी हैं...