रेवाड़ी में वैक्सीनेशन और बूस्टर डोज:41 केन्द्रों पर 593 बूस्टर डोज लगी; 28 फ्रंटलाइन वर्कर्स, 287 स्वास्थ्य कर्मचारी और 278 बुर्जर्गों को लगी डोज

रेवाड़ी6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा के रेवाड़ी जिले में सोमवार से बूस्टर डोज लगाने का दौर शुरू हो गया। पहले दिन कुल 593 बूस्टर डोज लगाई गई, जिसमें 28 फ्रंटलाइन वर्कर्स, 287 स्वास्थ्य कर्मचारी और 278 डोज उन वरिष्ठ नागरिकों को लगाई गई जिनकी उम्र 60 साल है और वह गंभीर बीमारियों से ग्रस्त हैं। रेवाड़ी जिले में वर्तमान में 6,602 स्वास्थ्य कार्यकर्ता और 7,373 फ्रंटलाइन वर्कर्स हैं, जिन्हें बूस्टर डोज दिया जाएगा।

साथ ही 60 वर्ष या इससे अधिक हृदय, मधुमेह या अन्य बीमारियों का इलाज करा रहे वरिष्ठ नागरिकों की संख्या करीब 20 हजार हैं। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, सोमवार को पूरे जिले में 41 केंद्रों पर 5 हजार 689 डोज लगाई गई हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से पहले दिन 3200 लाभार्थियों के टीकाकरण का लक्ष्य तय किया गया है। जिसमें सिर्फ 593 बूस्टर डोज लगाई हैं।

पहले दिन बूस्टर डोज लगवाते स्वास्थ्य कर्मचारी।
पहले दिन बूस्टर डोज लगवाते स्वास्थ्य कर्मचारी।

सीनियर सिटिजन परामर्श और दवा का विवरण लेकर आएं
डीआईओ डॉ. अशोक कुमार ने बताया कि जिन्हें दूसरी डोज लगे 9 महीने हो गए हों या फिर 39 हफ्ते पूरे हो गए हों, वही इस डोज के पात्र होंगें। आईडी, पहली दो डोज में पंजीकृत फोन ले जाकर कोविड-19 की बूस्टर डोज लगवा सकते हैं। इसके अलावा बूस्टर डोज के लिए नए रजिस्ट्रेशन की जरूरत नहीं। लेकिन इसके लिए अपॉइंटमेंट जरूर लेना होगा। साथ ही बीमारी डॉक्टर से लिखवाकर लानी होगी। वहीं जिन्होंने बूस्टर डोज लगवानी है, वे सीधे टीकाकरण केंद्र पर जाकर भी अपॉइंटमेंट ले सकते हैं।

गंभीर बीमारियों में मधुमेह, हृदय रोग, लिवर, किडनी और कैंसर आती हैं। इनसे पीड़ित बुजुर्गों को ही बूस्टर डोज लगाई जाएगी। जिसने पहले जो वैक्सीन लगवाई है, उसे उसकी ही बूस्टर डोज लगेगी। कोविशील्ड लगवाने पर कोविशील्ड और को-वैक्सीन लगवाने वाले को को-वैक्सीन की बूस्टर डोज दी जाएगी। टीकाकरण कराने के साथ लोग संयम बरतें, कोविड प्रोटोकॉल का पालन करें, इधर-उधर नहीं थूकें, भीड़ करने से बचेंगे तो संक्रमण से बचाव हो सकेगा। लोगों को अपने साथ मोबाइल नंबर, आधार कार्ड अनिवार्य रूप से लाना होगा।

यहां लगेगी डोज
रेवाड़ी नागरिक अस्पताल, कोसली, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खोल, गुरावड़ा, नाहड़, बावल, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र आकेड़ा, कुतुबपुर, काकोड़िया, शहर के सक्सेना अस्पताल, डहीना जाटूसाना, फतेहपुरी, धारूहेड़ा, भाड़ावास, रामपुरा, बिठवाना, करनावास, संगवाड़ी, कसोला, टांकड़ी, बासदूदा, सीहा, बोहतवास, बव्वा में कोविशील्ड और कोवैक्सीन के टीके लगाए जाएंगे। वहीं बीएमजी मॉल, सेक्टर चार रेवाड़ी के डिस्पेंसरी, गंगायचा अहीर, कालुवास, गोकलगढ़ में सिर्फ कोविशील्ड का टीका लगाया जाएगा। जबकि राजीव नगर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में सिर्फ कोवैक्सीन का टीका लगेगा।

प्रीकॉशन वैक्सीन
जिले में स्वास्थ्य कार्यकर्ता, फ्रंटलाइन वर्कर्स के रूप में आंगनवाड़ी, आशा वर्कर, पुलिस, चुनाव में ड्यूटी देने वाले उन लोगों को बूस्टर डोज दिया जाएगा, जिन्हें दूसरी डोज लगाए हुए 39 सप्ताह हो चुके हैं। 16 जनवरी 2021 से शुरू हुए टीकाकरण की शुरुआत भी इन्हीं लोगों से हुई थी।