साहस का सम्मान:वीरता पुरस्कार से नवाजे गए बीएसएफ कांस्टेबल मुकेश यादव का चांदनवास गांव में हुआ सम्मान

रेवाड़ीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कश्मीर में आतंकियों से सामना होने पर 4 साथियों को निकाला था सेफ

आतंकवादियों से लोहा लेते समय गोलियों की बौछार के बीच अपने साथी जवानों की जान बचाने के लिए राष्ट्रपति द्वारा वीरता पुरस्कार से नवाजे गए गांव चांदनवास निवासी बीएसएफ के कांस्टेबल मुकेश यादव के गांव में सम्मान समारोह आयोजित हुआ। इसमें नई दिशा युवा मंच के संयोजक एवं कोसली विधायक लक्ष्मण यादव के पुत्र निशांत यादव भी शामिल हुए तथा जवान के हौंसले को सलाम किया। मुकेश यादव को यह वीरता पुरस्कार देश के गृह मंत्री अमित शाह के कर कमलों द्वारा प्रदान किया गया है।

मुकेश यादव पुत्र धर्मपाल नम्बरदार बीएसएफ में कांस्टेबल पद पर तैनात है। जिनकी ड्यूटी कश्मीर में है। वहां आतंकवादियों ने डाक वाहन पर हमला करते हुए गोलियों की बौछार शुरू कर दी थी। मुकेश यादव ने अपनी जान की परवाह किए बैगर एक पल गंवाए गोलियों के बीच ही ड्राइवर सीट संभाली और डाक वाहन को आतंकी हमले के बीच ही बाहर निकालने में सफलता पाई। इसीलिए उन्हें सम्मान मिला।

कार्यक्रम में बनवारी लाल रिटायर्ड कानूनगो, श्योराज यादव, जयपाल यादव, नितेश पटवारी, शीशपाल यादव, मोहन सोनी, हरिराम, रोशनलाल, मनोज मास्टर, मंडल अध्यक्ष इंद्र राव, मंडल महामंत्री जयराज करावरा, कमल समेत अन्य ग्रामीणों ने मुकेश यादव का स्वागत किया।

खबरें और भी हैं...