किसान आंदोलन में आए किसान की मौत:68 साल का बुजुर्ग पटियाला से पहुंचा टिकरी बॉर्डर; बहादुरगढ़ स्टेशन पर ट्रेन से उतरते ही आया हार्टअटैक

बहादुरगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतक किसान भरपूर सिंह। - Dainik Bhaskar
मृतक किसान भरपूर सिंह।

दिल्ली के टिकरी बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन में शामिल होने आए एक किसान की बहादुरगढ़ रेलवे स्टेशन पर मौत हो गई। मौत का कारण स्पष्ट नहीं है। हार्टअटैक की आशंका जताई जा रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से कारणों का खुलासा हो सकेगा।

मिली जानकारी के अनुसार, पंजाब के पटियाला जिले के रहने वाले 68 वर्षीय भरपूर सिंह किसान एक्सप्रेस में बैठकर पंजाब से बहादुरगढ़ रेलवे स्टेशन पर पहुंचे थे। उन्हें टिकरी बॉर्डर पर पहुंचकर आंदोलन में शामिल होना था। स्टेशन पर उतरकर बाहर निकल ही रहे थे कि अचानक उनकी तबीयत बिगड़ गई। वह बेसुध होकर गिर गए।

आसपास मौजूद लोगों ने उनको संभाला और नागरिक अस्पताल ले गए, जहां चिकित्सकों ने उनको मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलते ही रेलवे पुलिस अस्पताल पहुंची। पुलिस ने शुक्रवार को शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। उसमें ही मौत के कारणों का पता चल पाएगा। भरपूर सिंह की मृत्यु पर आंदोलनकारी किसानों ने दुख जताया है।

स्टेशन पर बिगड़ी एक और किसान की तबीयत
इधर हरियाणा के जींद जिला निवासी खजाना भी टिकरी बॉर्डर पर आंदोलन में शामिल थे। शुक्रवार को वह घर जाने के लिए बहादुरगढ़ रेलवे स्टेशन पर पहुंचे थे। अभी ट्रेन का इंतजार ही कर रहे थे कि उनकी तबीयत अचानक बिगड़ गई। आसपास के लोगों ने तुरंत उन्हें बहादुरगढ़ अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से उन्हें रोहतक पीजीआई रेफर कर दिया गया है।

खबरें और भी हैं...