आज होगी शहर के वन-वे ट्रैफिक की समीक्षा:सरकुलर रोड हुआ जाम फ्री पर बाजारों से निकले वाले दुपहिया वाहनों से जाम, व्यापारियों ने कहा- छोटे वाहनों को मिले छूट

रेवाड़ी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शहर की धारूहेड़ा चुंगी से गुजरता ट्रैफिक। - Dainik Bhaskar
शहर की धारूहेड़ा चुंगी से गुजरता ट्रैफिक।
  • पुलिस प्रशासन ने 7 दिन के लिए लागू किया था वन-वे ट्रैफिक

शहर की लाइफ लाइन सरकुलर रोड को जाम जाम फ्री बनाने का आइडिया पुलिस प्रशासन का कामयाब रहा है। अधिकतर लोगों ने पुलिस के इस बदलाव का समर्थन किया है तो व्यापारियों ने इससे बिक्री पर असर पड़ना बताते हुए दुपहिया वाहनों के लिए विकल्प तलाशने का सुझाव दिया है। 1 दिसंबर से लागू किए गए इस वन-वे का एक सप्ताह के लिए लागू किया गया था जिसकी समय सीमा मंगलवार को समाप्त हो जाएगी। इस आधार पर पुलिस प्रशासन लोगों के फीडबैक के आधार पर इसको लेकर निर्णय लेगा।

सरकुलर रोड पर शहर के साथ यहां से होकर गुजरने वाले वाहनों के ट्रैफिक का सर्वाधिक दवाब है। फिलहाल शहर के आउटर रिंग रोड तैयार नहीं होने की वजह से दूसरे शहरों से आने वाले वाहनों के लिए शहर के अंदर से होकर गुजरने के अलावा कोई विकल्प नहीं है। ऐसे में सरकुलर रोड पर पिकअवर में घंटों जाम के हालात बने रहते थे।

खासतौर से अब शादी-विवाह के सीजन में तो इस 6 किलोमीटर के इस सड़क मार्ग को ही क्रॉस करने में लंबा समय लग जाता था। इसको देखते हुए ट्रैफिक पुलिस की तरफ से 1 दिसंबर से प्रायोगिक तौर पर सरकुलर रोड को वन-वे घोषित करते हुए आने-जाने वाले वाहनों के लिए रूट तय किया था। इस निर्णय के तहत वाहनों को घड़ी की सुई दिशा में ही चलाया जा रहा है जिससे काफी हद तक पुलिस का यह प्रयोग कामयाब भी रहा है। इसके बाद पिकअवर और वैवाहिक सीजन होने के पश्चात भी सरकुलर रोड जाम फ्री है।

बाजारों से होकर निकलने के अलावा कोई विकल्प नहीं

पुलिस की इस व्यवस्था के बाद शहर में दुपहिया वाहन चालकों के लिए बाजारों से होकर निकलने के अलावा कोई विकल्प नहीं है। ऐसे में उन्हें अधिक समय भी लगाना पड़ रहा है और इससे बाजारों व गलियों में जाम लगना शुरू हो गया है। यानी किसी दुपहिया वाहन चालक को अंबेडकर चौक से धारूहेड़ा चुंगी जाना है तो उसको नाईवाली चौक से होकर गुजरना पड़ेगा। यह थोड़ा अव्यवहारिक है। शहर के बाजारों और गलियों में इसके बाद ट्रैफिक जाम होने लगा है जिससे दुकानदारों की मुश्किल बढ़ गई है। हालांकि इसको लेकर दुकानदार पुलिस से विकल्प तलाशने की मांग कर रहे हैं।

रोडवेज यूनियन ने भी दिया सुझाव, बदलाव जरूरी

रोडवेज यूनियन की तरफ से भी सभी बसों को राजेश पायलट चौक से होकर आने की अनुमति में बदलाव की मांग की है। यूनियन ने एसपी को पत्र भेजकर पटौदी, झज्जर से आने वाली बसों को झज्जर चौक व धारूहेड़ा चुंगी से आने की छूट देने की मांग की है। इसी तरह दुपहिया वाहनों के लिए अग्रसेन चौक को निर्धारित करने सहित अन्य बदलाव की मांग की है।

बाजार में जाम से कामकाज पर असर, विकल्प तलाशे

सरकुलर रोड को जाम फ्री बनाया जाना जरूरी है लेकिन इसके लिए जरूरी है कि भारी वाहनों के साथ बेहताशा संख्या में चल रहे ऑटो पर अंकुश लगे। इनके लिए वन-वे व्यवस्था की जाए और दुपहिया वाहनों को छोटे प्वाइंट बनाकर छूट दे दी जाए। इससे बाजार में जाम भी कम लगेगा और कामकाज भी प्रभावित नहीं होगा।-परमाल छाबड़ी, प्रधान अपना बाजार, सरकुलर रोड

पुलिस की अच्छी पहल, कुछ सुधार कर लागू रखे वन-वे ^रेवाड़ी में अक्सर यह होता है कि कोई नई व्यवस्था से एक बार में ही लोग असहज हो उठते हैं। पुलिस प्रशासन की यह व्यवस्था निश्चित रूप से सराहनीय है जिसको लागू रखना चाहिए। अस्थायी बेरिकेडिंग की बजाय प्रॉपर तरीके से संकेतक लगाए जाएं जिससे इसका बेहतर तरीके से पालन होगा। आम लोगों को भी चाहिए कि पुलिस की इस व्यवस्था में सहयोग करें ना कि इसमें कोई निकाले। -रमेश सचदेवा, व्यापारी।

लोगों का फीडबैक काफी हद तक सुखद, जल्द लेंगे निर्णय ^सरकुलर रोड पर वन-वे ट्रैफिक व्यवस्था पर पुलिस की तरफ से भी लोगों से फीडबैक लिया गया है जिसमें काफी हद तक लोगों ने इसे सराहा है। हालांकि व्यापारियों ने समस्या भी बताई है। हमारा प्रयास बेहतर व्यवस्था करने का है और इसमें लोगों का सहयोग भी बेहद जरूरी है इसलिए इसमें बारे में उच्चाधिकारियों से बातचीत करके आगामी निर्णय लिया जाएगा। -इंस्पेक्टर रामानंद, ट्रैफिक एसएचओ।

खबरें और भी हैं...