पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सुविधा:सिविल हॉस्पिटल को मिली राज्य की पहली स्वचालित जैव रसायन विश्लेषक मशीन, इंस्टॉल कर ट्रायल सैंपल लिए

बलजीत कुमार | रेवाड़ी10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रेवाड़ी के सिविल अस्पताल में आई ऑटोमेटिक मशीन को इंस्टॉल करते हुए। - Dainik Bhaskar
रेवाड़ी के सिविल अस्पताल में आई ऑटोमेटिक मशीन को इंस्टॉल करते हुए।
  • स्वचालित जैव रसायन विश्लेषक मशीन से इमरजेंसी के समय 30 मिनट में भी जांच रिपोर्ट दी जा सकती है
  • 15 दिन में शुरू हो जाएगी जांच प्रक्रिया

जिले की सिविल हाॅस्पिटल को राज्य में पहली पूरी तरह से स्वचलित जैव रसायन विश्लेषक(फुली ऑटोमैटिक बायोकेमिस्ट्री एनालाईजर) मशीन मिली है। अब से पहले यह मशीन राज्य में किसी भी सिविल अस्पताल में नहीं है। मशीन को नई बिल्डिंग की लैब में लगाया गया है। फिलहाल मशीन को इंस्टॉल कर ट्रायल सैंपल लेने की शुरूआत हो गई है।

अगले 15 दिन में सैंपल जांचने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। खास बात रहेगी कि इस मशीन के जरिए कम समय में जांच रिपोर्ट आने के साथ ही एक साथ सैंपल लगाने की बजाय दो-दो सैंपल भी लगाए जा सकेंगे। मशीन को 24 घंटे रनिंग में रखा जा सकता है। इसमें इमरजेंसी के समय 30 मिनट में भी जांच दी जा सकती है। जर्मन में निर्मित इस मशीन के आने से जांच में और विश्वसनीयता बढ़ेगी।

जैव रसायन विश्लेषक मशीन की खूबियां...

  • कंप्यूटराइज्ड प्रिंटेड जांच रिपोर्ट मिलेगी।
  • जांच रिपोर्ट को सीधे एचआईएस के माध्यम से किसी फिजिशियन या अन्य डॉक्टर्स की ओपीडी में लगे कंप्यूटर पर ऑनलाइन भेजी जा सकती है।
  • रेंडम तरीके से सैंपल लगाए जा सकेंगे। यानि एक साथ मशीन में सैंपल लगाने की बजाय दो या पांच सैंपल भी लगाए जा सकेंगे।
  • वैसे आमतौर पर इस मशीन में एक साथ 45 सैंपल लगाए जा सकते हैं।
  • कम समय में रिपोर्ट मिल सकती है और जांच की गुणवत्ता सेमी ऑटाेमैटिक बायोकेमिस्ट्री मशीन की बजाय ज्यादा विश्वसनीय होगी।
  • 90 से ज्यादा पैरामीटर्स लगाए जा सकते हैं।

ये सैंपल लगाए जा सकेंगे : ऑटोमैटिक बायोकेमिस्ट्री एनालाईजर में लीवर के टेस्ट लगाए जा सकेंगे। जिनमें लीवर फंक्शनल टेस्ट(एलएफटी), किडनी फंक्शनल टेस्ट(केएफटी), आरएफटी, एसजीपीटी, फास्फोरस, कैल्सियम, आयरन डेफिसिएंसी, हिमोग्लोबिन व हेपेटाइटिस की जांचें लगाई जा सकेंगी।

कोविड पैरामीटर्स के भी टेस्ट
स्वचलित मशीन में कोविड पैरामीटर्स के भी टेस्ट लगाए जा सकेंगे। जिनमें एलडीएच, डी-डाइमर्स, सीरम फेरेटिन व सीआरपी शामिल हैं।

फिलहाल सेमी ऑटोमेटिक बायोकेमिस्ट्री एनालाइजर...
अभी अस्पताल में सेमी ऑटोमेटिक बायोकेमिस्ट्री एनालाईजर है। इसमें एक साथ ही सैंपल लगाए जा सकते हैं। इस वजह से एक तो रिपोर्ट आने में भी समय लगता है और अलग-अलग सैंपल नहीं लगाए जा सकते हैं। इसमें कर्मचारी भी ज्यादा लगते हैं। इसमें समय ज्यादा लगने से सैंपल भी ज्यादा जांच नहीं हो पाते।

कम समय में बेहतर जांच: एमडी बायोकेमिस्ट्री
सिविल अस्पताल को पूरी तरह ऑटोमेटिक बायोकेमिस्ट्री मशीन मिली है। फिलहाल मशीन को इंस्टॉल कर ट्रायल सैंपल लिए जा रहे हैं। अगले 15 दिन में सैंपल जांचने की विधिवत प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। इस मशीन के मिलने से कम समय में और ज्यादा विश्वसनीय रिपोर्ट आएगी।

इसके अलावा एक साथ सैंपल लगाने की बजाय कम भी सैंपल लगाए जा सकेंगे। अगर कभी इमरजेंसी में कोई जांच करनी है तो किसी भी समय सैंपल लगाकर मात्र 30 मिनट में जांच प्राप्त की जा सकती है। टेस्टिंग की क्षमता भी बढ़ेगी। -डॉ. रितू यादव, एमडी बायोकेमिस्ट्री, सिविल हॉस्पिटल रेवाड़ी।

अस्पताल में सुविधाएं बढ़ाने को किए जा रहे पूरे प्रयास : पीएमओ
सिविल अस्पताल में आने वाले पीड़ितों को बेहतर सुविधाएं मिले, इसके लिए पूरे प्रयास किए जा रहे हैं। कोविड के दौरान कम हुई ओपीडी भी अब सामान्य तरीके से शुरू हो गई है। इसी तरह अब लैब में बायोकेमिस्ट्री की ऑटोमैटिक मशीन और मिली है। जिसे इंस्टॉल किया जा रहा है और जल्द ही इसमें टेस्टिंग शुरू हो जाएगी। जांच प्रक्रिया में और सुधार आएगा।
-डॉ. सर्वजीत थापर, पीएमओ, सिविल अस्पताल, रेवाड़ी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई लाभदायक यात्रा संपन्न हो सकती है। अत्यधिक व्यस्तता के कारण घर पर तो समय व्यतीत नहीं कर पाएंगे, परंतु अपने बहुत से महत्वपूर्ण काम निपटाने में सफल होंगे। कोई भूमि संबंधी लाभ भी होने के य...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser