पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जमीन खरीदने के लिए रेट पर मंत्रणा:एम्स के लिए जमीन का मोल-भाव, माजरा के ग्रामीणों के साथ डीसी यशेन्द्र सिंह ने की बैठक

रेवाड़ीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • डीसी बोले- जल्द निर्माण के लिए सरकार प्रयासरत, ग्रामीण बोले- प्रति एकड़ 50 लाख मिले मुआवजा

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) को लेकर माजरा गांव की जमीन खरीदने के लिए रेट पर मंत्रणा जारी है। मंगलवार को इस बारे में डीसी यशेन्द्र सिंह ने जिला सचिवालय में माजरा के ग्रामीणों के साथ बैठक भी की।

डीसी ने ग्रामीणों से जमीन की कीमत पर विचार विमर्श किया। माजरा के लोगों ने कहा कि वे एम्स के लिए अपनी जमीन देने को तैयार हैं, मगर सरकार उन्हें कम से कम 50 लाख रुपए प्रति एकड़ की दर से मुआवजा दे। इस पर डीसी ने कहा कि एक बार फिर से इस पर विचार कर लें, ताकि यह प्रोजेक्ट बन जाए। लेकिन ग्रामीणों ने स्पष्ट कर दिया कि वे 50 लाख रुपए प्रति एकड़ से कम में जमीन नहीं देंगे।

जमीन खरीदकर एम्स का किया था वादा

बता दें कि मनेठी में एम्स बनाने के लिए दी गई जमीन पर केंद्र सरकार की वन सलाहकार समिति ने अरावली का हिस्सा बताते हुए आपत्ति लगा दी थी। इसके बाद सीएम मनोहर लाल ने ग्रामीणों को भरोसा दिलाया कि जो भू मालिक अपनी जमीन एम्स के लिए देने को तैयार है तो अपनी मर्जी से ई-भूमि पोर्टल पर इसकी डिटेल अपलोड करे।

सरकार यह जमीन खरीदकर एम्स का निर्माण कराएगी। मनेठी के ग्रामीण इतनी जमीन देने को राजी नहीं हुए, मगर माजरा के ग्रामीणों ने 200 एकड़ से ज्यादा जमीन पोर्टल पर अपलोड की। अब सरकार इस जमीन को खरीदने के लिए मुआवजा तय करने की प्रक्रिया में है।

1 अक्टूबर को केन्द्रीय टीम ने भी एम्स निर्माण के लिए माजरा भालखी गांव की जमीन का अवलोकन किया था। बैठक में एसडीएम रेवाड़ी रविन्द्र यादव, एसडीएम कोसली एवं डीडीपीओ कुशल कटारिया के अतिरिक्त माजरा गांव के यशु प्रधान, देशराज सरपंच, जितेन्द्र यादव, रोहताश पंच, मंजीत ठेकेदार, राजबीर, विकास, ताराचंद सहित अन्य ग्रामीण भी उपस्थित रहे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपका कोई भी काम प्लानिंग से करना तथा सकारात्मक सोच आपको नई दिशा प्रदान करेंगे। आध्यात्मिक कार्यों के प्रति भी आपका रुझान रहेगा। युवा वर्ग अपने भविष्य को लेकर गंभीर रहेंगे। दूसरों की अपेक्षा अ...

और पढ़ें