कार्रवाई:धारूहेड़ा में अवैध रूप से विकसित की जा रही 4 एकड़ की दो कॉलोनियों में तोड़फोड़

रेवाड़ी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अलावलपुर और नंदरामपुरबास रोड पर विकसित की जा रही थी अवैध कॉलोनी
  • 25 डीपीसी के साथ चारदीवारी तोड़ी

जिला नगर योजनाकार विभाग की तरफ से मंगलवार को धारूहेड़ा में दो स्थानों पर की गई कार्रवाई में 4 एकड़ क्षेत्र में विकसित अवैध कॉलोनियों को ध्वस्त कर दिया गया। विभाग की इस कार्रवाई के दौरान भारी पुलिस बल तैनात रहा जिसकी वजह से लोग विरोध नहीं कर पाए। विभाग की इस कार्रवाई से अवैध कॉलोनाइजरों में हड़कंप मच गया।

जिला नगर योजनाकार धर्मबीर खत्री ने बताया कि शहरी और कंट्रोल एरिया में बगैर अनुमति के विकसित की जा रही इन अवैध कॉलोनियों के संबंध में विभाग को लगातार शिकायत मिल रही थी। तत्पश्चात इन अवैध कॉलोनाइजरों को नोटिस भी जारी किया गया लेकिन इनकी तरफ से कोई काम नहीं रोका गया।

तत्पश्चात मंगलवार को धारूहेड़ा के अलावलपुर में 3 एकड़ क्षेत्र और नंदरामपुरबास रोड पर 1 एकड़ में विकसित की जा रही कॉलोनियों में तोड़फोड़ की गई। डीटीपी ने बताया कि अलावलपुर में 22 डीपीसी के साथ चार चारदीवारी के साथ निर्माणाधीन भवनों को तोड़ दिया गया। वहीं धारूहेड़ा में नंदरामपुरबास रोड पर 1 एकड़ में विकसित की जा रही कॉलोनी की 3 डीपीसी को तोड़ा गया है। जिला प्रशासन की तरफ से नायब तहसीलदार अरुणा चौहान को बतौर ड्यूटी मजिस्ट्रेट लगाया गया था।

बगैर अनुमति नहीं करें कोई निर्माण व कॉलोनी विकसित

डीटीपी ने बताया कि शहरी और कंट्रोल एरिया में किसी भी तरह के निर्माण के लिए विभागीय अनुमति जरूरी है। उन्होंने बताया कि अवैध कॉलोनाइजर लोगों को अपनी खाली भूमि पर प्लॉट बेच देते हैं जो कि सही नहीं है। इसलिए प्लॉट खरीदने से पहले कार्यालय से जानकारी अवश्य लें।

खबरें और भी हैं...