निर्देश:वेरिफाई करने के बाद ही डाउनलोड करें एप

रेवाड़ीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
माउंट लिट्रा स्कूल में साइबर सुरक्षा की जानकारी देते एक्सपर्ट। - Dainik Bhaskar
माउंट लिट्रा स्कूल में साइबर सुरक्षा की जानकारी देते एक्सपर्ट।

साइबर पुलिस की तरफ से तरफ दिल्ली रोड स्थित माउंट लिट्राजी स्कूल में गुरुवार को साइबर चौपाल का आयोजन किया गया। इस अवसर पर साइबर थाना के एक्सपर्ट एसआई राहुल, प्रधान सिपाही कुलदीप व रोहित ने कहा कि किसी भी एप को डाउनलोड करने से पहले उसको अच्छी तरह से वेरिफाई किया जाना जरूरी है। कई एप और सॉफ्टवेयर हैकिंग का काम करते हैं इसलिए इन्हें वैध प्लेटफार्म से ही डाउनलोड करें। इसलिए एप लिंक की बजाय गूगल एवं एपल स्टोर से ही डाउनलोड करें।

डाउनलोड से पहले रेटिंग व रिव्यू देख लें। वेबसाइट का लिंक अच्छी तरह से जांच ले। डाउनलोड सोफ्टवेयर पर संदेह हो तो उसे वायरस टोटल (Viroustotal.com) पर चेक करे। इसी कड़ी में एएसआई गोविंद ने सीआर इंटरनेशनल स्कूल तिहाड़ा और तीतरपुर मसानी में अमित कुमा, नसीब सिंह और पवन कुमार ने जानकारी दी।

टीम इंचार्ज गोविंद ने कहा कि आज के समय में ई-मेल का हम सभी उपयोग करते हैं लेकिन इसके जरिए भी शातिर फ्रॉड की वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। ई-मेल स्पूफिंग ऐसी ही तकनीकी है जिसका उपयोग स्पैम और फिशिंग हमलों के लिए किया जाता है। इसलिए स्पैम और इस तरह की मेल आए तो उन पर क्लिक किसी भी सूरत में नहीं करें।

उन्होंने बताया कि शातिर विश्वास दिलाने के लिए इस तरह की ई-मेल को किसी संस्थान अथवा क्लाइंट के नाम से भेजते हैं जिससे हमें यह असल लगती है। उन्होंने कहा कि इस तरह की मेल पर क्लिक करने की स्थिति मेलवेयर अटैचमेंट खोलते ही हमारा निजी डाटा अन्य जानकारियां उनके पास चली जाएगी।

उन्होंने बताया कि वेबसाइट के लिए आए किसी संदिग्ध लिंक पर क्लिक नहीं करें। किसी आधिकारिक स्रोत से गलत वर्तनी या व्याकरण वाले ईमेल पर सतर्क रहे। संदिग्ध अटैचमेंट को नहीं खोल नहीं खोले। लॉटरी और कैश प्राइज जीतने की मेल पर विश्वास नहीं करें।

खबरें और भी हैं...