पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कार्रवाई:बिजली निगम ने 30 दिन में चोरी पकड़ने के लिए 925 जगह की चेकिंग, 2 करोड़ का जुर्माना लगाया

रेवाड़ी12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
निगम का झज्जर रोड स्थित शक्ति भवन।
  • बिजली निगम की तरफ से सितंबर माह में चलाए गए अभियान के तहत की गई जांच तो आधे घरों में बिजली चोरी होती मिली

(मनीष कुमार) यूं तो रेवाड़ी की गिनती उन जिलों में नहीं होती है जिनका नाम बिजली चोरी में सर्वोच्च है, फिर भी यहां बिजली चोरी के केसों में बढ़ोतरी हुई है। निगम की तरफ से सितंबर माह में पूरे सर्कल में चलाए गए अभियान के तहत 925 स्थानों पर जांच की गई जिसमें वैध कनेक्शन भी शामिल है उनमें से 574 स्थानों पर बिजली चोरी होती मिली है।

इस प्रकार अकेले सितंबर माह में निगम को इस चोरी से 2 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया है। यह जुर्माना जिला से हर माह जाने वाली बिलिंग राशि का दोगुना है। कोसली में सर्वाधिक चोरी पकड़ी : बिजली निगम की तरफ से चोरी पकड़ने का यह अभियान सालभर चलाया जाता है।

सर्दियों के समय बिजली चोरी बढ़ जाती है जिसको देखते हुए निगम की तरफ से सितंबर माह से विशेष अभियान प्रारंभ किया हुआ है, जिसका मकसद अधिक चोरी पकड़ना है। इसके लिए निगम की तरफ से सब डिवीजनों में टीमों को बदलकर भेजा गया जिसके बाद की गई जांच में बिजली चोरी के बड़े पैमाने पर मामले पकड़े गए।

टीम की तरफ से तीनों डिवीजनों में कुल 925 स्थानों पर बिजली से संबंधित जांच की गई तो अधिकारियों के होश उड़ गए। अधिकारियों की टीम ने इस 925 में से 574 स्थानों पर बिजली चोरी पकड़ी है। हालांकि अधिकांश मामलों में कई उपभोक्ताओं ने पोल से सीधे तार डाले हुए तो कुछ ने मीटर में गड़बड़ी की हुई थी।

इसके अलावा कुछ स्थानों पर ऐसे भी उपभोक्ता मिले जिनके पास मीटर नहीं है, फिर भी उनके यहां पूरे उपकरण चलते मिले हैं। डिवीजन की बात करें तो सितंबर में सर्वाधिक चोरियां धारूहेड़ा डिवीजन में पकड़ी गई है। यहां पर कुल 521 स्थानों पर चेकिंग की गई जिसमें 250 स्थानों पर चोरियां पकड़ी गई है।

इसके अतिरिक्त कोसली डिवीजन में 196 स्थानों पर चेकिंग की गई जिसमें 163 स्थानों पर निगम टीम ने चोरी पकड़ी है। चेकिंग व संख्या के लिहाज से कोसली डिवीजन में सर्वाधिक चोरी है। इसी तरह रेवाड़ी डिवीजन में 208 स्थानों पर चेकिंग की गई जहां पर 161 स्थानों पर चोरी पकड़ी गई है।

92 लाख रुपए धारूहेड़ा में सबसे ज्यादा जुर्माना
निगम की तरफ से चोरी के मामलों में की गई जांच के दौरान पकड़े इन मामलों में उपभोक्ताओं व सीधे चोरी करने वालों पर 2 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया है। इसमें सर्वाधिक जुर्माना राशि 92 लाख रुपए धारूहेड़ा डिवीजन में लगाई गई है।

इसके अतिरिक्त 53 लाख रुपए का जुर्माना रेवाड़ी डिवीजन में और 55 लाख रुपए का जुर्माना कोसली डिवीजन में लगाया गया है। इसमें निगम की तरफ से अभी तक लगभग 90 लाख रुपए जुर्माना वसूला गया है। साथ ही 358 मामलों में एफआईआर भी कराई गई है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपनी दिनचर्या को संतुलित तथा व्यवस्थित बनाकर रखें, जिससे अधिकतर काम समय पर पूरे होते जाएंगे। विद्यार्थियों तथा युवाओं को इंटरव्यू व करियर संबंधी परीक्षा में सफलता की पूरी संभावना है। इसलिए...

और पढ़ें